कुवैत अग्निकांड : वतन लाए गए कुवैत के अग्निकांड में मारे गए 45 भारतीयों के शव

Kuwait Fire Incident : कोच्चि एयरपोर्ट पर कुवैत से जैसे ही 45 भारतीयों के शव लेकर वायुसेना का विशेष विमान लैंड हुआ, हर आंख नम हो गई. मरने वालों के परिजन सुबह से ही एयपोर्ट पर मौजूद थे. केरल सरकार के मंत्री, आला अधिकारी और भारी संख्या में पुलिस बल भी एयरपोर्ट पर मौजूद था. भारतीय वायुसेना के सी-130 जे परिवहन विमान से 31 भारतीयों के पार्थिव शरीर को कोच्चि में उतारा गया।

यहां से शवों को उनके गृह नगर के लिए रवाना कर दिया गया. आग की घटना में मारे गए मारे गए 31 मृतकों में से केरल के 23, तमिलनाडु के 7 और कर्नाटक का एक व्यक्ति शामिल है। इस घटना में मारे गए उत्तर भारत के कामगारों के शवों को लेकर विमान शाम तक दिल्ली पहुंचेगा।

यह भी पढ़े :- ओवरटेक करते समय मिनी कंटेनर से टकराई लॉरी, छह की मौत, कई घायल

बता दे कि बुधवार को मंगाफ शहर में एक छह मंजिला इमारत में भीषण आग (Kuwait Fire Incident) लग गई थी, जिसमें 48 लोग मारे गए थे. 176 भारतीय श्रमिकों में से 45 की मौत हुई थी और 33 अस्पताल में भर्ती हैं. मृतकों में केरल के 23, तमिलनाडु के सात, उत्तर प्रदेश के तीन, ओडिशा के दो और बिहार, पंजाब, कर्नाटक, महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल, झारखंड और हरियाणा के एक-एक व्यक्ति शामिल है. कीर्ति सिंह वर्धन गुरुवार को कुवैत पहुंचे थे. उन्होंने उन पांच अस्पतालों का भी दौरा कि,या जहां घायल भारतीय श्रमिकों का इलाज किया जा रहा था.

दूतावास ने अस्पताल अधिकारियों के हवाले से कहा कि उनके स्वास्थ्य के आधार पर उन्हें छुट्टी दी जाएगी. बीते दिन ही विदेश राज्य मंत्री ने कल कहा कि भीषण आग में शव इतनी बुरी तरह जल गए कि उनकी पहचान नहीं हो पा रही थी और पीड़ितों की पहचान की पुष्टि करने के लिए उनका डीएनए परीक्षण किया गया था.

केरल सरकार ने किया मदद का एलान
केरल सरकार ने परिजनों को 5-5 लाख रुपये की मदद की घोषणा की है। इस बीच, भारत के विदेश राज्यमंत्री कीर्तिवर्धन सिंह कुवैत पहुंच गए हैं। वहां उन्होंने घायलों से मुलाकात की है। सिंह स्थानीय अधिकारियों के साथ मिलकर शवों को भारत लाने के प्रयास में जुटे हैं। वहीं, कुवैत प्रशासन ने शवों की पहचान स्थापित करने के बाद वादा किया कि वह हादसे की त्वरित जांच करेगा और शवों को वापस भेजने में पूरी मदद करेगा। पता चला है कि इमारत में 196 श्रमिक रखे गए थे। एक दिन पहले यह संख्या 160 बताई गई थी। (Kuwait Fire Incident)

Back to top button