14 माह और नौ आतंकी हमले, 18 सैन्यकर्मी बलिदान…दस नागरिकों की हत्या, मारा न गया एक भी आतंकी

आतंकियों का जंगल से जिन्न की तरह निकलना। चंद मिनटों में हमला करना और फिर गायब हो जाना। पिछले एक वर्ष से आतंकी ऐसा ही कर रहे हैं। लेकिन एक बार भी इन तक सुरक्षाबल नहीं पहुंच पाए। पुंछ के भाटादूड़ियां में पांच जवानों का बलिदान, राजोरी के कंडी में पांच जवानों पर आईईडी हमला, पुंछ के डेरा गली में पांच जवान हमले में बलिदान, राजोरी के शाहदरा शरीफ में सैन्यकर्मी के भाई की हत्या, उधमपुर के बसंतगढ़ में वीडीजी सदस्य की हत्या, पुंछ के सुरनकोट में वायुसेना पर हमले में एक जवान बलिदान, रियासी, कठुआ के हीरानगर में एक जवान बलिदान और डोडा में पुलिस नाके पर हमला। सभी हमलों में एक बात समान है, आतंकी जंगल से निकलकर आए, 10 से 15 मिनट फायरिंग कर फरार हो गए। एक बात यह भी समान है कि हमले के बाद एक बार भी दहशतगर्द पकड़ में नहीं आए। पिछले 14 महीनों में नौ हमले हुए और इसमें 18 सैन्यकर्मी बलिदान हुए। दस आम नागरिकों की हत्या कर दी गई, लेकिन आतंकी एक भी नहीं मारा गया। इन आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई सिर्फ सर्च ऑपरेशन तक आकर ही खत्म हो जाती है। तमाम खुफिया और सुरक्षा एजेंसियों का तंत्र आतंकियों तक पहुंचने में लगा हुआ है, लेकिन कामयाबी नहीं मिली। तमाम कोशिशों के बावजूद आतंकियों के सुरक्षित संचार नेटवर्क को सुरक्षा एजेंसियां ध्वस्त नहीं कर पाईं। औसतन हर दूसरे महीने आतंकियों ने हमला किया। राजोरी-पुंछ के जंगलों में सक्रिय आतंकी रियासी तक पहुंच गए हैं, लेकिन इन तक सुरक्षाबल नहीं पहुंच पाए। कुल मिलाकर देखा जाए तो इन आतंकियों का सक्रिय होना और हमलों को अंजाम देना खुफिया व सुरक्षा तंत्र के लिए बड़ी चूक है। पूर्व डीजीपी एसपी वैद भी कहते हैं कि यह खुफिया तंत्र के स्तर पर चूक है। जब तक आतंकियों तक पहुंचकर उनको नहीं मारेंगे, वे ऐसा की करते रहेंगे। उनका ऐसा ही प्रभाव रहेगा। लिहाजा पूरी ताकत झोंककर इनको खत्म करना होगा।

14 माह में कब-कब हुए आतंकी हमले
पहला हमला : 20 अप्रैल 2023, पुंछ भाटादुड़ियां, पांच जवान शहीद
दूसरा हमला : पांच मई 2023, राजोरी के कंडी में आईईडी हमला, 5 जवान शहीद
तीसरा हमला : 21 दिसंबर 2023, पुंछ डेरा की गली, पांच जवान शहीद
चौथा हमला : 22 अप्रैल 2024, राजोरी शाहदरा शरीफ में सैन्यकर्मी के भाई की हत्या
पांचवां हमला : 28 अप्रैल 2024, बसंतगढ़ में वीडीजी सदस्य शहीद
छठा हमला : 4 मई 2024, सुरनकोट वायुसेना काफिले पर हमला, एक जवान शहीद और छह घायल
सातवां हमला : 9 जून 2024, रियासी में श्रद्धालुओं की बस पर हमला, 9 की मौत
आठवां हमला: 11 जून 2024 हीरानगर के सैडा सोहल में हमला, एक जवान शहीद
नौवां हमला: 11 जून 2024 डोडा के छत्रगलां में आतंकी हमला

Back to top button