बलौदाबाजार में RSS का पथ संचलन, बड़ी संख्या में युवा हुए शामिल

Whatsaap Strip

Balodabazar RSS Path Sanchlan: राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ जिला बलौदाबाजार द्वारा शताब्दी शंखनाद पथ संचलन का आयोजन किया गया। विदित हैं की राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की स्थापना 1925 में डाक्टर हेडगेवार ने की थी आज वह संगठन अपने शताब्दी वर्ष की ओर बढ़ रहा हैं। संघ ने अपने शताब्दी वर्ष को कार्य विस्तार के रूप में मनाने का संकल्प लिया हैं संघ के केंद्र, प्रांत के निर्देश अनुसार संघ कार्य को प्रत्येक गांव तक विस्तार देने की योजना से बलौदा बाजार जिले के 996 गांवो का प्रतिनिधित्व हो ऐसी योजना के साथ राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ जिला बलौदा बाजार द्वारा जिला केन्द्र बलौदा बाजार में शताब्दी शंखनाद पथ संचलन का आयोजन किया गया ।

यह भी पढ़ें:- मनेंद्रगढ़ CMO समेत 3 नगर पालिका अधिकारी को नोटिस जारी, इस वजह से हुई कार्रवाई 

संचलन नगर के दो स्थान आत्मानंद विद्यालय अम्बेडकर चौक एवं शर्कस मैदान सुदर्शन होटल के पीछे अम्बेडकर चौक से प्रारंभ हुआ।जिसका संगम अम्बेडकर चौक मैदान में हुआ संचलन आगे चलकर मावली माता मुख्य द्वारा से पुनः दो भागों में विभक्त हो गया जहां एक संचलन ठाकुर देव चौक पुराना बस स्टैंड होते हुए बंशराज तिवारी चौक पहुंचा तो दुसरा संचलन सदर बाजार, सराफा बाजार होते हुए बंशराज तिवारी चौक पहुंचा जहां पुनः संचलन का संगम हुआ और इस संगम के साथ संचलन मुख्य मार्ग में अनुशासन और क्रमबद्धता के साथ घोष पथक एवं परम पवित्र भगवा ध्वज के साथ आगे बढते हुए बस स्टैंड गार्डन चौक पार कर कलेक्ट्रेड मार्ग से पुनः दो भागों में विभक्त होकर समापन कार्यक्रम स्थल स्पोटर्स स्टेडियम मैदान पहुंचा। (Balodabazar RSS Path Sanchlan)

जिले से आये हजारों स्वयंसेवकों का स्वागत विभिन्न धार्मिक, आध्यात्मिक, सामाजिक एवं व्यवसायी संगठनो, विद्यालय परिवारों द्वारा पुष्ट वर्षा, मार्ग में बड़ी बड़ी रंगोली, नृत्य दल आदी के माध्यम से किया गया।संचलन के उपरांत स्पोटर्स काम्प्लेक्स मैदान में समापन कार्यक्रम का आयोजन किया गया समापन कार्यक्रम में मंच पर विभाग संघ चालक भास्कर किन्हेकर, जिला संघ चालक खोडश राम कश्यप कार्यक्रम के मुख्य वक्ता संघ के अखिल भारतीय शारीरिक शिक्षण प्रमुख श्री सुनील कुलकर्णी मुख्य अतिथि श्री राम स्वरूपदास महात्यागी रामाश्रय आश्रम श्री हरिहर क्षेत्र केदार मदकुद्वीप एवं विशिष्ट अतिथि श्री पंचराम कौशिक अखिल भारतीय रामनामी महासभा उपस्थित रहे। (Balodabazar RSS Path Sanchlan)

वहीं विशेष आमंत्रित अतिथि के रूप में कुंजल सिंह दिवान जी वंशज बलिदानी वीर नारायण सिंह उपस्थित रहे। समापन कार्यक्रम में सर्व प्रथम ध्वजारोहण एवं प्रार्थना किया गया इसके उपरांत सामुहिक गीत एवं ब्रम्हनांद के उपरांत सह जिला कार्यवाह शालीन साहू ने कार्यक्रम कि प्रस्तावना रखी। जिला कार्यवाह सोमनाथ राकेश ने मंचस्थ अतिथियों का परिचय दिया। कार्यक्रम में आभार प्रदर्शन रघुनंदन ने किया जिसमें उन्होंने जिले से आये हजारों कार्यकर्ताओं हेतु भोजन व्यवस्था सहित कार्यक्रम को सफल बनाने में जिनका भी प्रत्यक्ष,, अप्रत्यक्ष सहयोग प्राप्त ऐसे सभी धार्मिक, सामाजिक, अध्यात्मिक, व्यवसायी संगठनों, विद्यालय परिवारों आदि का ह्रदय से धन्यवाद करते हुए भविष्य में भी स्नेही सहयोग का आग्रह किया।(Balodabazar RSS Path Sanchlan)

समापन कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए श्री पंचराम कौशिक ने अपनी विशिष्ट शैली में राम नाम की महिमा का प्रतिपादन किया श्री राम स्वरूपदास महात्यागी ने जिले के विभिन्न तीर्थ स्थानों पर प्रकाश डालते हुए शिवनाथ तट पर स्थित मांडुक्य ऋषि की तपोभूमि श्री हरिहर क्षेत्र केदार मदकुद्वीप के मह्त्व पर प्रकाश डाला। कार्यक्रम के मुख्य वक्ता श्री सुनील कुलकर्णी ने कहा की सामाज द्वारा किए गये पुष्प वर्षा को स्वयंसेवक को फुल नहीं शुल मानना चाहिए क्योंकि सामाज ने पुष्प वर्षा कर हमें एक कर्तव्य के निर्वहन की जिम्मेदारी सौपी हैं वह है राष्ट्र की रक्षा का जिसका मार्ग कंटको से युक्त हैं। (Balodabazar RSS Path Sanchlan)

उन्होंने संघ कार्य के इतिहास पर प्रकाश डालते हुए बताया की कैसे संघ सामाज में हिन्दू संगठन के दुरूह माने जाने वाले कार्य को प्रारंभ कर उपेक्षा, दमन की श्रृंखला पार कर आज सामाज द्वारा स्वीकृत कार्य बना हैं किंतु संघ सामाज स्वीकृत होकर नहीं रहना चाहता संघ सामाज में स्वयं को विलय कर एक संगठित, सामर्थ्यशाली, अनुशासित हिन्दू सामाज निर्माण के लिए कटिबद्ध हैं। संघ पिछले लगभग एक शताब्दी से इसी कार्य में लगा हैं उसका आधार हैं व्यक्ति निर्माण नर को नारायण बनाने का संस्कार संघ अपनी शाखाओं के माध्यम से दे रहा हैं।

उन्होंने विरोधी, शुभचिंतक, सहानुभूति रखने वाले ऐसे सभी बन्धुओं से आग्रह किया की आईये संघ में आकर संघ को जानिए उससे जुडिऐ यदि कार्य अच्छा सच्चा लगे तो हम सभी की तरह इसमें लग जाईये। कार्यक्रम का समापन ध्वज अवतरण के साथ हुए गगन में लहराता पुज्य भगवा ध्वज को साक्षी मान कर जिले भर से आये हजारों स्वयंसेवक संघ के कार्य को शताब्दी वर्ष के पुर्व जिले के ग्राम – ग्राम, बस्ती – बस्ती तक पहुंचने के शुभ संकल्प के साथ अपने अपने कर्तव्य पथ पर बढ गये। (Balodabazar RSS Path Sanchlan)