Trending

राशिफल 6 अक्टूबर 2021 : क्या कहती हैं आपकी राशि, कैसा रहेगा आपका बुधवार का दिन, जानें अपना राशिफल

Whatsaap Strip

आज का राशिफल एवं सुखी जीवन के अपाय : 06अक्टूबर 2021, दिन-बुधवार। तिथि-पितृ मोक्ष अमावस्या। तिथि। नक्षत्र हस्त। चन्द्र राशी कन्या। कार्य सिद्ध सफल योग – 23:23 तक। वर्षा योग – बल योग। मूल – नहीं। व्यतिपात – नहि। राशिफल – सर्व सफलता पूर्ण दिन – वृश्चिक धनु  राशि। सुख बाधक दिन – सिंह,तुला, मिथुन। बुध तुला में अक्टूबर तक।

आज का राशिफल (06अक्टूबर 2021)

मेष राशि (Aries) – चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, अ.

ज्ञान, प्रतियोगिता, नयी योजना या सृजन शील कार्य  के क्षेत्र में, अपेक्षित सफलताएं मिलना कठिन है। प्रयास के परिणाम भविष्य में ही प्राप्त होंगे। संतान एवं आय के संदर्भ में स्थिति सामान्य रहेगी, या निर्णायक भी हो सकती है। सामाजिक एवं राजनीतिक वर्ग के लिए उपयोगी है। नई योजनाओं पर विचार किया जा सकता है ।प्रयासों में कमी नहीं आने दे। भविष्य में उपयोगी परिणाम मिलेंगे। मित्र वर्ग से सहयोग अति सामान्य रहेगा।

वृष राशि (Taurus) – , , , , वा, वी, वू, वे, वो.

आर्थिक एवं पारिवारिक स्थिति कमजोर रहेगी या आकस्मिक खर्च की योजना बनेगी। कार्य समय पर पूर्ण नहीं होने से मन में असंतोष रहेगा। मातृ पक्ष या संपत्ति संबंधी परेशानियां उपस्थित हो सकती है। वाहन आदि पर व्यय के योग हैं। यात्रा के योग बन सकते हैं। अपने व्यवहार पर नियंत्रण रखता उचित होगा।

मिथुन राशि (Gemini) – का, की, कू, , , , के, को, ह.

प्रत्येक क्षेत्र में सफलता की अच्छी संभावनाएं हैं। छोटे भाई बहनों अथवा कनिष्ठ वर्ग से पूर्ण सहयोग मिलेगा। स्वास्थ्य उत्तम रहेगा। भाग्य आपको साथ देता प्रतीत नहीं होगा ।नई योजना बन सकती है ।कार्यालय एवं व्यापार में लाभ होगा। जनसंपर्क से संबंधित कार्य में अपेक्षित सफलता है। महत्वपूर्ण एवम् नए दायित्व नही लेना चाहिए।

कर्क राशि (Cancer) – ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो.

जहां तक संभव हो यात्रा स्थगित रखें। सावधानी के साथ ही वाहन चालन तथा यात्रा आदि संपन्न करें। पारिवारिक सदस्यों के द्वारा अनपेक्षित बाधा उत्पन्न हो सकती है ।बचत में कमी होगी। आकस्मिक खर्च के कारण बचत प्रभावित होगी। रोजगार में सामान्य स्थिति रहेगी ।आशा के अनुरूप कार्यों की प्रगति से मन संतुष्ट रहेगा। मित्र वर्ग से सभी प्रकार के सहयोग की आशा रखना व्यर्थ है।

सिंह राशि (Leo) – मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे.

महत्वपूर्ण कार्यों के लिए उपयुक्त दिन है। नए विचार प्रवेश करेंगे। कुछ प्रकरणों में आपके पक्ष में निर्णय होंगे। मनोबल अच्छा रहेगा। प्रसन्नता बढेगी। सुखद समाचार प्राप्त होंगे। दांपत्य सुख उत्तम है। परिवार के सदस्य एवं  मित्र सहयोग करेंगे। धार्मिक कार्यों के लिए उत्तम दिन है।

कन्या राशि (Virgo) – टो, , पी, पू, , , , पे, पो.

ग्रहों की स्थिति आपके मानसिक सुख में वृद्धि करने के लिए तत्पर है। स्वास्थ्य के प्रति ध्यान देना आवश्यक है। खर्च बढ़ेंगे। विनियोजन के लिए उपयुक्त दिन नहीं है। शारीरिक सुख आराम की संभावना योग उत्तम है ।आपके विचार से परिवार या मित्र वर्ग सहमत नहीं होगा। यात्रा के लिए उपयुक्त दिन नहीं है।

 तुला राशि (Libra) – रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते.

प्रयासों के परिणाम अच्छे मिलना कठिन है। आशा के अनुरूप कार्य संपन्न नहीं होंगे। नए कार्य के लिए उपयुक्त दिन नहीं है। उच्च अधिकारी वर्ग से अपेक्षित सहयोग नहीं मिलेगा। आर्थिक सामाजिक एवं राजनीतिक तीनों दृष्टि से दिन उत्तम व्यतीत होगा। व्यापार एवं निर्णय के क्षेत्र में सफलता अपेक्षा से कम रहेगी। महत्वपूर्ण कार्य या यात्रा तथानिर्णायक हस्ताक्षर आदि करने के लिए शीघ्रता ना करें।

वृश्चिक राशि (Scorpio) – तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू.

प्रयासों के परिणाम अच्छे मिलना कठिन है। आशा के अनुरूप कार्य संपन्न नहीं होंगे। नए कार्य के लिए उपयुक्त दिन नहीं है। उच्च अधिकारी वर्ग से अपेक्षित सहयोग नहीं मिलेगा। आर्थिक सामाजिक एवं राजनीतिक तीनों दृष्टि से दिन उत्तम व्यतीत होगा। व्यापार एवं निर्णय के क्षेत्र में सफलता अपेक्षा से कम रहेगी। महत्वपूर्ण कार्य या यात्रा तथानिर्णायक हस्ताक्षर आदि करने के लिए शीघ्रता ना करें।

धनु राशि (Sagittarius) – ये, यो, , भी, भू, , , , भे.

प्रयासों के परिणाम अच्छे मिलना कठिन है। आशा के अनुरूप कार्य संपन्न नहीं होंगे ।नए कार्य के लिए उपयुक्त दिन नहीं है। उच्च अधिकारी वर्ग से अपेक्षित सहयोग नहीं मिलेगा। आर्थिक सामाजिक एवं राजनीतिक तीनों दृष्टि से दिन उत्तम व्यतीत होगा। व्यापार एवं निर्णय के क्षेत्र में सफलता अपेक्षा से कम रहेगी। महत्वपूर्ण कार्य या यात्रा तथानिर्णायक हस्ताक्षर आदि करने के लिए शीघ्रता ना करें मानसिक  भ्रम या  अंतर्द्वंद रहेगा। धर्म कार्यों के लिए उचित  दिन है। आय वृद्धि या विनियोजन की योजना बनेगी। संतान पक्ष से मतभेद समाप्ति की संभावना है। विद्या एवं ज्ञान के क्षेत्र में रुचि उत्पन्न होगी। विशेष- नए कार्य काशुभारंभ मनोनुकूल मिलना कठिन। 

मकर राशि (Capricorn) – भो, जा, जी, खी, खू, खे, खो, , गी.

प्रशासनिक वर्ग  या उच्च पदस्थ वर्ग के लिए दिन विशेष उत्तम नहीं है। किसी भी प्रकार नये कार्य या ज़िम्मेदारी से बचना उपयोगी सिद्ध होगा। यात्रा का परामर्श नहीं दिया जा सकता है। अतिआवश्यक कार्य में ही रुचि लेना चाहिए|अन्यथा परेशानियां मानसिक कष्ट या अहम बाधक सिद्ध होंगी।किसी से भी किसी भी प्रकार का मनोवांछित सहयोग मिलना कठिनहै। आर्थिक स्थिति कमजोर रहेगी।व्यापारिक लाभ अपेक्षा से कम या बचत विहीन या हानि की संभावनाहै।

कुंभ राशि (Aquarius)– गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, द.

लंबित कार्यों में प्रगति नहीं होने से अप्रसन्नता होगी। विरोधी वर्ग परेशानी उत्पन्नकरतारहेगा। कार्यों की प्रगति की अतिअल्प संभावनाएं हैं। रोजगार एवं व्यापार में प्रतिकूल परिणाम होगा। स्वास्थ्य में कमी हो सकती है।   मनोबल बनाए रखें। प्रत्येक स्थिति पर से  आपका नियंत्रण विस्थापित होगा। आज के दिन किए गए कार्य भविष्य उपयोगी सिद्ध होंगे। राजनेता एवं जनप्रतिनिधि वर्ग के लिए सुख विहीन  दिन है। दांपत्य सुख उत्तम रहेगा। विशेष- नए कार्य काशुभारंभ मनोनुकूल मिलना कठिन।

मीन राशि (Pisces) – दी, दू, , , , दे, दो, चा, ची.

सफलता की संभावनाएं हैं। आर्थिक एवं सामाजिक पक्ष मजबूत होगा। मित्रों से सहयोग मिलेगा। प्रेम संबंधों में वृद्धि होगी। दांपत्य सुख उत्तम रहेगा। शारीरिक थकान या उदर से संबंधित रोग संभव है। महत्वपूर्ण कार्यों में रुचि ले। उत्तरदायित्व बढ़ सकते हैं। आर्थिक स्थिति मजबूत रहेगी।नाना या मामा से सहयोग मिलेगा। आपके द्वारा लिए गए निर्णय प्रशंसनीय होंगे।

तिथि को सुखद बनाने के उपाय :

तुलसी तोडना, बाल नाख़ून काटना, बेल पत्र तोडना व्यंजन उत्पाद का प्रयोग नहीं करे। तिल का तेल, लाल रंग (चुकंदर,लाल पत्ते की भाजी,कोई भी लाल रंग की सब्जी ) व काँसे के बर्तन में भोजन करना निषिद्ध है।

ॐ पितृगणाय विद्महे जगत धारिणी धीमहि तन्नो पितृो प्रचोदयात्। ॐ कुलदेवतायै नम| 2. ॐ कुलदैव्यै नम:3. ॐ नागदेवतायै नम:4. ॐ पितृ देवतायै नम:

वृष, कन्या, मीन राशी वाले बाधा नाश के लिए उपाय अवश्य करें।

सफलता के लिए नक्षत्र कृत अरिष्ट नाशक मंत्र

हस्त नक्षत्र 

भगवान सूर्य गंध-पुष्पादि से पूजित होने पर सभी प्रकार की धन-संपत्तियां प्रदान करते हैं।

“ऊँ घृणि सूर्याय नम:।।” तेल दान करना चाहिए |

दिन के अशुभ प्रभाव हटाये : बुधवार –अनिष्ट नाशक एवं सफलता के उपाय- कुंडली में,दशा –अन्तर्दशा में होने पर,अशुभ भाव में होने पर   दोष के  अनिष्ट नाश हेतु अथवा बुध ग्रह की प्रसन्नता/कृपा के लिए उपाय – हरा धनिया या  ,कच्चा दूध पीकर निकले |किसी भी मन्त्र के अंत में अवश्य कहे- सर्व सिद्धिम,सफलताम च सर्व वान्छाम पूरय पूरय में नम:/स्वाहा।

सौभाग्य वृद्धिके लिए

  1. स्नान जल मे नदी या तीर्थ जल,चावल,मोती  शहद,जायफल ,पिपरामुल ,नदी या तीर्थ जल;मिलाकर स्नान करे।
  2. बाधा मुक्ति के लिए दान- मूंग ,हरा वस्त्र, हरीचूड़ी,पालक ,फल कपूर|दान -कन्या,व्यापारीकिन्नरको दे।
  3. दिन दोष आपत्ति निराककरण के लिए घर से प्रस्थान पूर्व क्या खाएं : मूंग ,तिल,धनिया ,दूध मे से कोई पदार्थ || जिनका बुध अनुकूल हो वे दही Curd अवश्य ले सकते हैं |

तनाव, परेशानी रोकने एवं सफलता के लिए मंत्र-बुध ग्रह का गायत्री मंत्र- ओम सौम्यरूपाय विद्महे बाणेशाय धीमहि तन्नो बुध प्रचोदयात् ।|आपो ज्योति रस अमृतम |परो रजसे साव दोम।

जैन धर्म मंत्र-

श्री विमलनाथ या श्री मल्लिनाथ भगवान का स्मरण करे : ॐ ह्रीं णमो उवज्झायाणं। ॐ ह्रीं बुधग्रह अरिष्टनिवारक-श्री मल्लिनाथजिनेन्द्राय नम: सर्वशांतिं कुरुकुरु स्वाहा। मम (.अपना नाम.) दुष्टग्रहरोगकष्टनिवारणं सर्वशांतिं कुरू कुरू हूँ फट् स्वाहा।

बुध –बुधवार अशुभ ग्रह से सुरक्षा का मंत्र – ब्रह्माण्डपुराणोक्त उत्पात रूपो जगतां चन्द्रपुत्रो महाद्युति:। सूर्य प्रिय करो विद्वान् पीडां हरतु मे बुध:।।

जगत् में उत्पात करने वाले महान द्युति से संपन्न सूर्य का प्रिय करने वालेविद्वान तथा चन्द्रमा के पुत्र बुध मेरी पीड़ा का निवारण करें। (ब्रह्माण्डपुराण)

Related Articles