छत्तीसगढ़ में बिजली उपभोक्ताओं को लगा झटका- 3 साल के बाद बढ़ी दरें, जाने कितना करना होगा भुगतान

Whatsaap Strip

न्यूज डेस्क।

छत्तीसगढ़ के बिजली उपभोक्ताओं को अगस्त में बड़ा झटका लगा है। दरअसल 3 साल बाद छत्तीसगढ़ में बिजली की कीमत बढ़ी है। विद्युत नियामक आयोग ने नये टैरिफ का ऐलान किया है। मिली जानकारी के अनुसार औसत 48 पैसे प्रति युनिट बिजली की कीमत बढ़ी है। हालांकि इसमें लोगों को एक माह की मोहलत मिली है, टैरिफ 1 अगस्त से लागू हो जायेगा।

चेयरमैन हेमंत वर्मा के मुताबिक 2021-22 के लिए औसत दर 6.41 होगी, जबकि पिछले साल यह दर 5.93 थी। सभी वर्गों में थोड़ी दरों में वृद्धि की गयी है, जो औसत 6 प्रतिशत है। उद्योगों को 30 घंटे की जगह पर 36 घंटे बिजली दी जायेगी। वहीं ग्रामीण और अलग-अलग प्राधिकरण में संचालित हॉस्पिटल और नर्सिंग होम में उर्जा प्रभार में छूट को 5 से 7 प्रतिशत किया गया है।

बिजली नियामक आयोग ने कहा है कि घरेलू उपभोक्ताओं से फिक्सड चार्ज लिया जायेगा। साथ ही अब 5000 रुपये से ज्यादा बिजली बिल का भुगतान ऑनलाइन किया जायेगा।

गैर सब्सिडी वाले कृषि पंप को उर्जा प्रभार में 10 प्रतिशत की छूट को 20 प्रतिशत किया गया है। चेयरमैन हेमंत शर्मा के मुताबिक राजस्व में लगातार कमी आ रही थी। इस वजह से बिजली की दरों में बदलाव किया जाना अनिवार्य था। विभाग की मानें तो यह बढ़त पिछले साल ही की जानी थी।

Related Articles