Trending

गुरुवार 11 नवम्बर 2021 : सुखी जीवन के लिए करें यह उपाय, क्या कहती हैं आपकी राशि, जानें अपना राशिफल

Whatsaap Strip

आज गुरुवार 11 नवम्बर 2021 का राशिफल एवं उपाय : दान, मन्त्र, वर्जित भोजन (उपाय, मन्त्र  हिन्दू एवं जैन धर्म) राशिफल 11 नवम्बर  2021, कार्तिक शुक्ल पक्ष, वैदिक मास-उर्जा, हेमंत ऋतु, दक्षिणायन सूर्य। दिन- गुरुवार। तिथि- सप्तमी। चन्द्र राशी – मकर। व्रत/ पर्व- शक्सप्त्मी, पूषा सप्तमी, कल्पादि तिथि-पितृ तर्पण, गोप अष्टमी। कार्य सिद्ध सफल योग – 15:41 तक। पंचक-है, भद्रा – 06:42-18:13 तक।

यह भी पढ़ें : गोपा अष्टमी गुरुवार 11 नवम्बर 2021 : गौ पालकों का पर्व, गौ-शाला का महोत्सव दिवस, पढ़े यह पौराणिक कथा

आज का राशिफल  11 नवम्बर 2021

मेष राशि (Aries) – चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, अ.

आज का दिन अथवा आज श्रेष्ठ स्थितियां बनना प्रारंभ हो जाएंगी। आपके सोच में समस्त कार्य पूर्ण होंगे। विशेष ध्यान रखने योग्य बात है कि, आज किसी को भी कोई परामर्श कंसल्टेंसी ज्ञान या सुझाव न दे। यात्रा जहां तक संभव हो एवं नई पहल स्थगित रखें। नए कार्य या निर्णय लेना उचित नहीं होगा। दैनिक कार्यों में या पूर्व से हाथ में लिए हुए कार्यों में पूर्ण सफलता के योग हैं। प्रत्येक क्षेत्र में आपकी स्थिति आपके अनुकूल एवं प्रसन्नता दायक सिद्ध होगी। राजनीतिक दृष्टि से उत्तम है। लंबित कार्य पूर्ण होंगे। नए समाचार या प्रिय आत्मीय से मिलने से सुखद स्थितियाँ आनंदित करेंगी।

वृष राशि (Taurus) – ई, उ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो.

कार्यों में सफलता के लिए विशेष प्रयास करना पड़ेगा। धन में कमी होगी। बचत प्रभावित होगी। अनपेक्षित व्यय बढ़ने की संभावना है।परिवार के सदस्यों से यथेष्ट सहयोग मिलने की संभावना कम है। रोजगार व्यापार एवं राजनीतिक क्षेत्र में सफलता के योग हैं ।भाग्य एवं संतान सुख बाधा विघ्न,बाधा ,कष्ट,स्वागत करने को आतुर हें। अपनी भावनाओ पर नियंत्रण रखिए, आपके प्रयासो को सफलता के पंख लगने ही वाले हैं।

मिथुन राशि (Gemini) – का, की, कू, घ, ड, छ, के, को, ह.

वाद विवाद से बचने का प्रयास करें। अधिक से अधिक बोलचाल से परहेज करें। किसी भी तरह से भाग्य आपका साथ देता प्रतीत नहीं होगा। किसी भी प्रकार की जोखिम नहीं लेना चाहिए। शारीरिक एवं मानसिक दोनों प्रकार के कष्टों के योग हैं। अति आवश्यक कार्य में ही ध्यान लगाएं। किसी रिश्तेदार मित्र से कोई विशेष सहयोग की अपेक्षा रखना दुखदाई सिद्ध हो सकता है। वाद विवाद की स्थिति से बचने का प्रयास करे।

कर्क राशि (Cancer) – ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो.

नए अनुबंध हो सकते हैं। प्रिय परिचितों से मिलन हो सकता है। सुख वैभव ऐश्वर्य की अच्छी स्थितियां रहेंगी। रोजगार में आपके अनुकूल कार्य होंगे। उच्च अधिकारी आपकी प्रशंसा करेंगे। दांपत्य सुख है। प्रेम संबंधों में प्रगाढ़ता बढ़ेगी। आशा के अनुरूप कार्यों की प्रगति से मन प्रसन्न रहेगा। अन्य दिनों की अपेक्षा आज कार्य की व्यस्तता कम होगी। जनप्रतिनिधियों के लिए विशेष सफलता का दिन शुभ हो सकता है। नए कार्य यात्रा के उद्देश्य पूर्ण नहीं होंगे। वाद विवाद से बचे।

सिंह राशि (Leo) – मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे.

किसी भी प्रकार के नए कार्य, निर्णय, यात्रा, अनुबंध, कोई जोखिम या मार्केटिंग, वाद विवाद या नए कार्यों की पहल जहां तक संभव हो स्थगित रखें। पूर्व में हाथ में लिए गए कार्य सफल होंगे। दैनिक कार्यों में कोई बाधा नहीं आएगी। अल्प भाषी बनकर रहना लाभदायक सिद्ध होगा। सामान्य रूप से दिन सफल सिद्ध हो सकता है। राजनीतिक दृष्टि से उत्तम दिन है। जनप्रतिनिधियों की सफलता सामान्य रहेगी। सामाजिक वर्ग के कार्यकर्ताओं को कठिनाई होगी। व्यापार में लाभ होगा। दिन सामान्य व्यतीत होगा कोई। उल्लेखनीय सफलता या कष्ट की स्थिति नहीं बनेगी। परिवार के कनिष्ठ वर्ग अथवा नौकर आदि से अपेक्षित सहयोग में कमी हो सकती है। कार्य की अधिकता रहेगी। परचित से मिलना होगा। मित्रों से संपर्क उपयोगी सिद्ध हो सकता है। व्यापार में सामान्य लाभ होगा। रोजगार में अच्छी स्थिति रहेगी। राजनेताओं के लिए उत्तम दिन नहीं है। सामाजिक कार्यकर्ताओं को अपने कार्य के परिणाम से निराशा प्राप्त होगी।

कन्या राशि (Virgo) – टो, प, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो.

सामान्य रूप से कल की तुलना में दिन उत्तम व्यतीत होगा, परंतु महत्वपूर्ण दिन नहीं कहा जा सकेगा। प्रयासों के परिणाम विलंब से ही सही परंतु आपके पक्ष में आएंगे। आर्थिक संकट या खर्च के योग प्रबल बन सकते हैं। वाद विवाद को टालना उचित होगा। नए कार्य हाथ में नहीं लें। वरिष्ठ एवं कनिष्ठ वर्ग से अपेक्षित सहयोग की संभावना कम है। जनप्रतिनिधियों के लिए दिन प्रतिकूल शारीरिक मानसिक दृष्टि से रहेगा।

तुला राशि (Libra) – रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते.

खर्च पर अंकुश रखें। वाद विवाद से बचने का प्रयास करें। यात्रा में असुविधा हो सकती है। रोजगार एवं व्यापार में कार्य के अधिकता रहेगी परंतु परिणाम आज नहीं मिलेंगे। सुख बाधा हो सकती हैं। अपेक्षित सहयोग में कमी रहेगी। कल से आज का दिन थोड़ा सफल रहेगा।

वृश्चिक राशि (Scorpio) – तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू.

आपके मन के अनुकूल कार्य की प्रगति होगी। नौकर या कनिष्ठ वर्ग तथाभाइयों से पूर्ण सहयोग मिलेगा। विरोधियों पर विजय प्राप्त होगी। निर्णय आपके पक्ष आएंगे। प्रयास सफल होंगे ।किसी भी नए कार्य को करने के लिए उचित समय है ।समय का भरपूर सदुपयोग करना चाहिए। भविष्य  उपयोगी सिद्ध होगा। व्यापार में अच्छी स्थिति रहेगी। खर्चों पर नियंत्रण रहेगा। प्रसन्नता पूर्ण वातावरण का लाभ लेंगे।

धनु राशि (Sagittarius) – ये, यो, भ, भी, भू, ध, फ, ढ, भे.

आर्थिक दृष्टि से दिन उपयोगी सिद्ध नहीं होगा। खर्च की योजना बनेगी। पारिवारिक सुख में कमी होगी। रिश्तेदार या अतिथियों के कारण भी सुख बाधा पहुंच सकती है। परिवार के सदस्यों से वांछित सहयोग में कमी होगी। कार्य की अधिकता से सुख बाधा रहेगी। व्यापार में अच्छी स्थिति रहेगी परंतु उसका लाभ आज नहीं मिलेगा। व्यापार उत्तम रहेगा ।राजनीतिक दृष्टि से उत्तम दिन है। जनप्रतिनिधियों को विशेष सफलता मिलेगी।

मकर राशि (Capricorn) – भो, जा, जी, खी, खू, खे, खो, ग, गी.

आपके मन के अनुकूल कार्य की प्रगति होगी। नौकर या कनिष्ठ वर्ग तथा भाइयों से पूर्ण सहयोग मिलेगा। विरोधियों पर विजय प्राप्त होगी। निर्णय आपके पक्ष आएंगे। प्रयास सफल होंगे ।किसी भी नए कार्य को करने के लिए उचित समय है। समय का भरपूर सदुपयोग करना चाहिए। भविष्य  उपयोगी सिद्ध होगा। व्यापार में अच्छी स्थिति रहेगी। खर्चों पर नियंत्रण रहेगा। प्रसन्नता पूर्ण वातावरण का लाभ लेंगे।

कुंभ राशि (Aquarius)– गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, द.

दिन सामान्य व्यतीत होगा। किसी भी प्रकार की कोई उल्लेखनिय बात नहीं है। शुभ अशुभ घटना की कोई संभावना नहीं है। मार्केटिंग शॉपिंग में रुचि बढ़ेगी। खर्च के योग प्रबल हैं। यात्रा की संभावनाएं भी हैं। दिन व्यस्तता पूर्ण रहेगा। समय पर भोजन आदि की स्थिति में बाधा पहुंच सकती है। कुल मिलाकर उपलब्धि की दृष्टि से दिन व्यर्थ है। वाद विवाद से बचने का प्रयास करें। अपने अहम एवं क्रोध पर नियंत्रण रखना उचित होगा अन्यथा स्थिति अनपेक्षित बन सकती है।

मीन राशि (Pisces) – दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची.

जनप्रतिनिधि राजनेता एवं जनसंपर्क या सेवा कार्य सेजुड़े वर्ग के लिए बहुत अच्छा दिन है। व्यापार में नए अनुबंध या नए लाभ के अवसर बनेंगे। दैनिक जीवन में आराम सफलता या अकर्मण्यता की स्थिति बनी रहेगी। आज का काम कल पर डालने का मन होगा। ज्योतिष की दृष्टि से यह परामर्श दिया जा सकता है कि, जो भी कार्य लंबित हो उनकी दिशा में प्रयास करिए। सफलता देने के लिए ग्रह तत्पर हैं। समय का भरपूर उपयोग करना भविष्य की दृष्टि से उपयोगी सिद्ध होगा।

यह भी पढ़ें : जानिए क्यों मनाया जाता है आंवला नवमी, क्या है इस व्रत की पूजाविधि और कथा, यहां जानें विस्तार से

सौभाग्य वृद्धि व नक्षत्र के दोष की शांति के लिए उपाय

  •  वैदिक मंत्र श्रवण : ॐ विष्णोरराटमसि विष्णो श्नपत्रेस्थो विष्णो स्युरसिविष्णोधुर्वोसि वैष्णवमसि विष्नवेत्वा। ॐ विष्णवे नम:।
  •  पौराणिक मंत्र : शांताकारं चतुर्हस्तं श्रोणा नक्षत्रवल्लभम्l विष्णु कमलपत्राक्षं ध्यायेद् गरुड वाहन्l
  •  नक्षत्र देवता मंत्र :– ॐ विष्णवे नमःl
  •  नक्षत्र मंत्र ; ॐ श्रवणाय नमःl
  •  तिथि उपाय : ताड़ का फल एवं आवला,कटहल व्यंजन उत्पाद का प्रयोग नहीं करे। पुआ भोजन में शामिल करे।
  •  कार्य के पूर्व : चित्रभानु नामवाले भगवान सूर्यनारायण का पूजन करना चाहिएये सबके स्वामी एवं रक्षक हैं। ॐ चित्रभानवे नम।“ऊँ घृणि सूर्याय नम:।”-मिथुन,कर्क राशी वाले बाधा नाश के लिए उपाय अवश्य करे।
  •  दिन उपाय : सौभाग्य सफलता वृद्धिके लिए ग्रह गुरु के दोष शांति के लिए चमेली पुष्प, सफेद के अभाव मे पीली सरसों, गूलर, मुलेठी, मिला कर स्नान करे।
  •  दान : पीला अनाज, चना, शकर पीले पुष्प, हल्दी, केसर। पीला वस्त्र पीला फल पपीता केला आदि दान करे।
  •  दान किसको दे : गुरु, ज्ञानी पुरुष, ब्राह्मण या ज्ञान, शिक्षा कर्म करने वाले को या शिक्षण संस्था,शिक्षक, विष्णु, कृष्ण, राम मंदिर मे दान करना चाहिए।
  •  घर से प्रस्थान पूर्व क्या खाएं : दही curd, जीरा।
  •  गायत्री मन्त्र : ओम अंगिरसाय विद्महे दिव्यदेवताय धीमहि तन्नो जीवः प्रचोदयात ।। आपो ज्योति रस अमृतम। परो रजसे साव दोम। ॐ ह्रीं णमो आयरियाणं।
  •  जैन धर्म मन्त्र : ॐ ह्रीं गुरु ग्रहारिष्ट निवारकश्री महावीर जिनेन्द्राय नम सर्वशांतिं कुरु कुरु स्वाहा। मम (अपना नाम) दुष्ट ग्रह रोग कष्ट निवारणं सर्वशांतिं कुरू कुरू हूँ फट् स्वाहा। देवमन्त्री विशालाक्ष: सदा लोकहिते रत:। अनेक शिष्य सम्पूर्ण: पीडां हरतु मे गुरु: । सर्वदा लोक कल्याण में निरत हने वालेदेवताओं के मंत्री विशाल नेत्रों वाले तथा अनेक शिष्यों से युक्त बृहस्पति मेरी पीड़ा को दूर करें ।। ब्रह्माण्डपुराण

(गुरुवार 11 नवम्बर 2021 का राशिफल एवं उपाय)

Related Articles