छत्तीसगढ़ में जुआ- सट्टा को लेकर सरकार सख्त, CM ने DGP को दिए कड़े नियम बनाने के निर्देश

Whatsaap Strip

Chhattisgarh Sarkar Sakht: छत्तीसगढ़ में जुआ और सट्टे जैसी सामाजिक बुराई को खत्म करने के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पुलिस महानिदेशक अशोक जुनेजा को कड़े कदम उठाने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने प्रदेश में जुआ-सट्टा के विविध स्वरूपों और प्लेटफार्मों पर प्रभावी रोक लगाने कड़े कदम उठाने के लिए आवश्यक प्रावधानों और प्रक्रियाओं का प्रारूप बनाने के निर्देश दिए हैं, जिसके आधार पर जुआ सट्टा की रोकथाम के लिए कड़े कानून बनाए जा सकेंगे।

यह भी पढ़ें:- तुंहर सरकार तुंहर द्वार: घर बैठे ही लोगों को मिला 13 लाख स्मार्ट कार्ड

छत्तीसगढ़ सरकार जुआ और सट्टे की सामाजिक बुराई को लेकर पहले ही बहुत सख़्त है, इस पर कठोर नियंत्रण के लिए स्पष्ट निर्देश भी दिए गए हैं। राज्य की पुलिस जुआ और सट्टा को रोकने की दिशा में लगातार कार्रवाई कर रही है। कार्रवाई से बचने के लिए जुआ सट्टा के अवैध कारोबार में शामिल लोगों द्वारा तकनीक का सहारा लेकर कई प्रकार से ऑनलाइन जुआ सट्टा कारोबार संचालित किया जाने लगा है। ऑनलाइन चलने वाला यह कारोबार लगातार बढ़ता जा रहा है। (Chhattisgarh Sarkar Sakht)

ऑनलाइन संचालित हो रहे जुआ और सट्टा के खिलाफ कोई विधिक प्रावधान और स्पष्ट कार्रवाई की प्रकिया न होने से इन पर प्रभावी रूप से रोक नहीं लगाई जा पा रही है। इस दिशा में कड़ी कार्रवाई हो सके इसलिए जुआ और सट्टा पर प्रभावी रोक लगाने के लिए मुख्यमंत्री बघेल ने आवश्यक विधिक प्रावधानों और प्रक्रियाओं का प्रारूप जल्द तैयार करने के निर्देश दिए हैं। (Chhattisgarh Sarkar Sakht)

शहरों-गांवों में ऑनलाइन सट‌्टा कारोबार

बता दें कि पुलिस की जांच में सामने आया है कि छत्तीसगढ़ के शहरों-गांवों में ऑनलाइन सट‌्टा कारोबार का रैकेट पांव पसार रहा है। जुआ सट्टा के ऑनलाइन कारोबार पर लगाम लगाने के लिए जल्द ही कड़े नियम बनाए जाएंगे। इस निर्णय से प्रदेश में जुआ सट्टा के बढ़ते कारोबार पर अंकुश लगेगा। बीते बुधवार को दुर्ग पुलिस ने भिलाई के नेहरू नगर से सौरभ जायसवाल और खुर्सीपार से कृष्णा जायसवाल को गिरफ्तार किया। उनके पास से 70 हजार रुपए नगद और करोड़ों रुपए का ऑनलाइन सट्टा में पैसे की लेन-देन का दस्तावेज आदि पकड़ा। इस नेटवर्क के तार रायपुर में भी हैं। (Chhattisgarh Sarkar Sakht)

ऑनलाइन सट्टे की लगातार बढ़ रही वारदात

वहीं पुलिस अधिकारियों ने बताया कि रायपुर के डीडी नगर इलाके में पकड़े गए 23 लोगों के मोबाइल को साइबर सेल में जांच के लिए भेजा गया है। उनके वॉट्सऐप चैट की जांच की जा रही है। इस सट्टे का पूरा नेटवर्क ऑनलाइन चलता है। बुकी और उसके साथी कभी सीधे कॉल नहीं करते। उनकी बात इंटरनेट कॉल पर ही होती है। इससे 10 महीने पहले भी दुर्ग में 4 करोड़ रुपए का सट्‌टा-पट्‌टी पकड़ाया था। उस दौरान पुलिस एक बंधक युवक को छुडा़ने के लिए गई थी। पुलिस ने उस दौरान तालपुरी इलाके में छापेमारी की, लेकिन वहां उन्हें करोड़ों का सट्टा और उसके खाईवाल हाथ लग गए। पुलिस ने इस मामले में 12 लोगों को गिरफ्तार किया था। बता दें कि छत्तीसगढ़ के अलग-अलग जिलों में जुआ सट्टा की खबरें लगातार सामने आ रही है। (Chhattisgarh Sarkar Sakht)

Related Articles