Numerology Series-11 : अंक ज्योतिष में जन्म तारीख का क्या हैं महत्व, जन्म तारीख 1 का जानें भविष्यफल

Whatsaap Strip

Numerology Series-11 : जन्म तारीख (दिनांक), जन्म तिथि, आपके व्यक्तित्व, और भाग्य पर प्रभाव डालता है. आपकी जन्म तारीख (दिनांक) अकेला भी आपको शक्ति प्रदान करता है. आपकी जन्म दिनांक का प्रभाव, दैनिक जीवन को आजीवन प्रभावित करता है, आपके व्यक्तित्व को निर्धारित या  निश्चित करता है. इस प्रभाव के परिणाम मुल्यांकन से आप अपने आप को और दूसरों को अच्छी तरह से समझ सकते हैं. (Numerology Series-11)

आप, अपना ही नहीं किसी का भी मूलभूत व्यक्तित्व समझ कर, आप उससे अपने अनुकूल काम ले सकते हैं. आपका जन्म किसी भी वर्ष के, किसी भी मास की, जिस दिनांक को हुआ हो, उस दिनांक विशेष का प्रभाव आपके चरित्र, व्यक्तित्व, स्वभाव के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. आपका भाग्य अंक और जन्म दिनांक के प्रभाव के बीच अंतर है. (Numerology Series-11)

यह भी पढ़ें : Importance of Number Nine: जन्म दिनांक से जानिए अंक की विशेषता, पढ़ें अंक 9 का क्या हैं महत्व

जन्म तारीख का भविष्यफल पर प्रभाव 

  1. आपका भाग्यंक आपका महत्वपूर्ण और अविनाशी व्यक्तित्व दर्शाता है, जब कि आपकी जन्म दिनांक दुनिया के लोग आपको किस प्रकार से देखते हैं, या समझते हैं यह बताता है. आपका जन्म, किसी भी वर्ष या मास में हुआ हो, फिर भी आपकी जन्म दिनांक का प्रभाव आपके व्यक्तित्व पर आए बिना नहीं रहेगा.
  2. विश्व विख्यात अंक ज्योतिष कीरो के अनुसार चरित्र /व्यक्तित्व ही भाग्य है. मनुष्य का चरित्र/व्यक्तित्व और स्वभाव उसके भाग्य का निर्माण करता है, और वह उसके दिनांक पर अशत: आधार रखता है, आपकी जन्म दिनांक का प्रभाव आपके जीवन पथ को बड़े प्रमाण में प्रचलित करते हैं. और सच्चा व्यवसाय पसंद करने में आपके बहुत ही सहायक होते हैं. इसका प्रभाव आपके संपूर्ण जीवन में होता है. यह विशेष प्रभाव तो आपके जीवन के 28 में और 55 वें वर्ष के बीच में होता है.
  3. विशेष सावधानी :- अपने या दूसरे अन्य किसी भी व्यक्ति के बारे में अंतिम अभिमत, विचार, निर्णय निश्चित करने से पहले, उनकी जन्म दिनांक, भाग्य अंक, महीने के अंक, सूर्य सक्रांति फल और नामांक के बारे में भी जान लेना आवश्यक है. 
  • (अ) :- केवल जन्म दिनांक आधार पर  ही अंतिम  निर्णय नहीं लेना चाहिए. आपको ज्ञात है कि वर्ष में 12 महीने होते हैं, अर्थात यह गगन मंडल 12 भागों में विभक्त कर सूर्य की विभिन्न स्थितियों के अनुरूप ही 12 राशियां भी निश्चित की गई है.  यदि आपको यह ज्ञात हो कि आप का जन्म किस तारीख और किस काल में हुआ, तो आपकी जन्म राशि निकाल ली जाएगी, और उसके घंटे – मिनट की सहायता से राशि का बोध हो सकता है.
  • (ब) :- यदि आपको अपना जन्म समय याद नहीं, तो आपकी राशि आपके नाम के प्रथम अक्षर से भी निकाली जा सकती है. नाम के अनुरूप किसी भी समय का महत्व तथा शुभ अशुभ ज्ञात कर सकते हैं.
  • (स) :-  सूर्य आधार -किस महीने की किस तारीख से किस तारीख तक कौन सी राशि होती है? यदि किसी व्यक्ति का जन्म प्रदत्त विशेष अवधि में हुआ है तो उस व्यक्ति पर, अवधि से सम्बंधित राशि का प्रभाव अवश्य पड़ेगा. प्रकृति, जीवन शैली, गुण कर्म एवं स्वभाव उसी राशि के अनुरूप होगा. उदाहरणार्थ पाश्चात्य मत के अनुसार यदि किसी पुरुष या स्त्री का जन्म, 21 मार्च से 20 अप्रैल के बीच में किसी भी तारीख को हुआ हो तो उसकी राशि मेष कहलाएगी, अंग्रेजी में एरीज (aries) कहते हैं.

पहली या 1 तारीख को जन्म वाले का भविष्यफल

  1. व्यक्ति बुद्धिशाली, दृढ़ मनोबल वाले, संकल्प शक्ति वाले, नेतृत्व शक्ति वाले, महत्वाकांक्षी, साहसिक, सर्जन, शक्तिशाली, संशोधन के शौकीन, स्वतंत्र स्वभाव के, मौलिक कार्य को आरंभ करने वाले, नियंत्रण, नियमन या अंकुश के प्रति तीव्र अनिच्छा रखने वाले होते हैं. (Have a strong reluctance to control, regulate or curb.) उन्हें दूसरे का अनुकरण करना या उनकी आज्ञा का पालन करना पसंद नहीं होता.
  2. वे स्वेच्छाचारी और हठीले होते हैं, और झुकना नहीं चाहते हैं, इसलिए उनके अनेक विरोधी और दुश्मन बनते हैं,   उनकी वाणी कठोर और कड़ी होती है. परंतु में दिल के साफ होते हैं.
  3. मित्रों और संबंधियों को उनके इस स्वभाव को समझने का प्रयत्न करना चाहिए. यह भावनाओं और आवेगो का प्रदर्शन नहीं करते हैं. फिर भी वह दूसरों की ओर से प्रेम लगाव और सहानुभूति की आशा रखते हैं.
  4. वे मानसिक तनाव और भाव अनुभव करते हैं, इसलिए इन्हें कभी-कभी ब्लड प्रेशर, पथरी, या पाचन की समस्या होती है। संक्रामक रोग से ग्रस्त शीघ्र ग्रस्त होते हैं। 
  5. परामर्श :-  जीवन में सफलता प्राप्त करने के लिए उन्हें द्वेष, हठीले, दुराग्रही और दूसरों पर आधिपत्य जमाने के स्वभाव को छोड़कर, दूसरों के साथ सहयोग से काम करना चाहिए. 
  6. संगठन शक्ति और व्यवस्था शक्ति प्रबल होती है. यह समाज के संपर्क में रहकर किए जाने वाले काम धंधों में सफलता प्राप्त करते हैं. 
  7. आय के क्षेत्र :- वह शिक्षक, अध्यापक, संशोधक, सेल्समैन, इंजीनियर, जहाज चालक, विश्लेषक, सामाजिक, धार्मिक, और राजकीय नेता, और संस्था के अधिकारी के रूप में सफल होते हैं.
  8. प्रकृति :- अग्नि तत्व, आध्यत्मिक। 
  9. शुभ दिन :-  रविवार, सोमवार, मंगलवार, (बृहस्पति वार- बाधा के साथ सफलता).
  10. भाग्यशाली रंग :- गुलाबी, बेंगनी, हल्का पीला और सुनहरा.
  11. अशुभ माह :- फरवरी, अप्रैल, जून, नवम्बर। 
  12. अशुभ समय :- जुलाई। 
  13. अशुभ दिशा :- S-W, S-E.
  14. अशुभ वर्ष :- 9, 13, 31, 32, 36, 40, 49, 60.
  15. प्रगति वर्ष :- 22 – 29,
  16. प्रगति :- परिवर्तन उत्तम – अगस्त- सितम्बर- अक्टूबर। 
  17. शुभ नम्बर :- घर, Apartment, कार, सिटी, मोबाइल, – 1, 3, 5 या 7.
  18. शुभ सम्पर्क के नाम :- अ, स, म, (A, S)
  19. साझेदारी शुभ :- स, ब, ल, व, र. प.
  20. सुख, प्रगति बाधक :- प, द, ज, न, य.
  21. शुभ नाम अक्षर :- पारिवारिक, जीवन साथी के लिए :- चु-चो, *म, *ट, ग-गी, दि-दी, सों, ओ, व-वू, कु, घ, ह-ही, पी-पू, तो, *न.
  22. अशुभ दाम्पत्य साथी/ दीर्घ कालिक मित्रता :- इ, उ, बो, बा, तो, लो, ली, तो, य-यो, भ-भी, डी, दी, रु, रो, वे, बो, ह-हो, च-ची,
    विशेष – प, पो, प्र, पृ, गे, गो, ग्र, गृ, डी, द, ल, अ, *भ, ध, फ, ढ

(*= सभी मात्राएँ *भ=भ, भा, भी, भि, भू, भु, भे, भो, भौ, भ्र, भं,)

(अंक ज्योतिष Numerology Series-11)