राकेश गुप्ता ने पत्नी के साथ खाया जहर, तीन साल के बच्चे को छोड़ गए अकेला

अंबिकापुर

बलरामपुर -रामानुजगंज जिले के रामचंद्रपुर विकासखंड के ग्राम पंचायत डिंडो के युवा दंपती ने जहर सेवन कर आत्महत्या कर ली। घटना से पूरे गांव में शोक है। युवा दंपती के द्वारा अचानक इस प्रकार का कदम क्यो उठाया गया इसका पता अब तक नहीं चल सका है।

जानकारी के अनुसार डिंडो के राकेश गुप्ता उम्र 28 वर्ष का विवाह चार वर्ष पूर्व ग्राम मेंढारी की अंजू गुप्ता से हुआ था। राकेश भाजपा युवा मोर्चा में मंडल सनावल का पदाधिकारी भी थे। वह अंबिकापुर के निजी चिकित्सालय में भी कार्य करता थे। मंगलवार के ढाई बजे के करीब अंबिकापुर से गांव में अपनी पत्नी एवं तीन साल के बच्चे के साथ आया था। घर के नजदीक ही राकेश के भाई का दुकान था।

राकेश की अपने भाई से बात भी हुई वह बच्चे का एलआइसी की किश्त जमा करने की बात कही। बच्चे को भाई के साथ छोड़कर पति-पत्नी कमरे में चले गए जहां तेज आवाज में टीवी चालू करके जहर का सेवन कर लिया जिससे दोनों की स्थिति बिगड़ गई। बताया जा रहा है कि अंजू की मौके पर ही मौत हो गई वहीं राकेश को वाड्रफनगर हॉस्पिटल ले जाने के दौरान उसकी मौत हो गई। घटना से पूरे गांव में शोक है। अब तक उनके द्वारा यह कदम क्यों उठाया गया इसका पता नहीं चल सका है।

दरवाजा तोड़कर निकाला गया दंपति को
राकेश के पिता उत्तर प्रदेश गए थे जहां से वह चार बजे के करीब आए। जब एक घंटा के बाद भी दरवाजा नहीं खुला एवं कमरे से कुछ आवाज आने लगी तो वह कमरे के पास गए जब दरवाजा पिटा, नहीं खुला तो दरवाजा तोड़कर अंदर की स्थिति देखकर सब हक्के-बक्के रह गए।

युवाओं के बीच लोकप्रिय था राकेश
मिलनसार, हंसमुख राकेश भाजपा युवा मोर्चा में मंडल पदाधिकारी था एवं भाजपा युवा मोर्चा में वह हमेशा सक्रिय रहता था। उनकी लोकप्रियता युवाओं के बीच अच्छी खासी थी।

Back to top button