जहरीली शराब पीने से अब तक 39 लोगों की मौत, मृतकों में एक ही गांव के 24 लोग

Tamilnadu Liquor Case: तमिलनाडु के कल्लाकुरिची जिले में जहरीली शराब पीने से अब तक 39 लोगों की मौत हो गई है, जिसमें से 24 लोग एक ही गांव करुणापुरम के रहने वाले थे, जिनका एक साथ अंतिम संस्कार किया गया। अवैध शराब बनाने वाले तीन आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है, जिन्हें 15 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। जिला अदालत के न्यायाधीश श्रीराम ने तीन आरोपियों यानी गोविंदराज, दामादोरन और विजया को 5 जुलाई तक न्यायिक हिरासत में भेजा है। वहीं तमिलनाडु भाजपा अध्यक्ष के. अन्नामलाई ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को पत्र लिखकर तमिलनाडु के कल्लाकुरिची में अवैध शराब से हुई मौतों की CBI जांच का आदेश देने का अनुरोध किया है।

यह भी पढ़ें:- International Yoga Day 2024 : आओ करें योग-तन-मन को रखें निरोग, बदलते जीवनशैली में स्वास्थ्य को स्वस्थ रखने का उत्तम उपाय योग

इधर, तमिलनाडु के MDMK सांसद दुरई वाइको ने कल्लाकुरिची सरकारी मेडिकल कॉलेज में जहरीली शराब पीने से बीमार हुए लोगों से मुलाकात की। इससे पहले तमिलनाडु भाजपा प्रमुख के. अन्नामलाई ने पीड़ितों से मुलाकात की थी। बता दें कि 100 से ज्यादा पीड़ितों का इलाज कल्लाकुरिची सरकारी मेडिकल कॉलेज और दूसरे अस्पतालों में जारी है। सभी पीड़ितों को सांस लेने में दिक्क्त, कम दिखाई देने के साथ ही शरीर में तेज दर्द की शिकायत है। जांच के बात पता चला कि शराब में जानलेवा मेथनॉल पाया गया था।वहीं AIADMK महासचिव और तमिलनाडु विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष एडप्पादी के पलानीस्वामी ने कहा कि मुख्यमंत्री एम.के. स्टालिन को इस्तीफा दे देना चाहिए। (Tamilnadu Liquor Case)

घटना को लेकर मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने दुख जताया है। साथ ही बीमार लोगों की स्वस्थ होने की कामना की। मुख्यमंत्री ने अवैध शराब को बनने से रोकने में असफल अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की बात कही है। उन्होंने कहा कि इस तरह के अवैध शराब बनने की जानकारी अगर जनता को मिलती है तो वह तत्काल सूचित करें। उनकी सूचना पर तुरंत कार्रवाई की जाएगी। राज्यपाल ने भी शोक जताया है और कहा कि इस तरह की घटनाएं अपने आप में चिंता का विषय हैं। समय-समय पर राज्य में ऐसे मामले सामने आते रहते हैं। इनसे यह पता चलता है कि राज्य में अवैध शराब की खपत को कम नहीं किया जा पाया है। यह बहुत बड़ी कमी है और चिंता का विषय भी। (Tamilnadu Liquor Case)

Back to top button