Bastar Fighter Bharti: बस्तर फाइटर भर्ती प्रक्रिया, संभाग के 2100 युवा बने आरक्षक

Whatsaap Strip

Bastar Fighter Bharti: मुख्यमंत्री बघेल के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा बस्तर संभा के वनांचल क्षेत्रों में शांति, सुरक्षा एवं विकास कार्यों में स्थानीय युवक-युवतियों को रोजगार के अवसर समेत क्षेत्र में सकारात्मक योगदान सुनिश्चित करने के उद्देश्य से बस्तर फाइटर्स नामक विशेष बल के गठन के लिए नवीन पदों के सृजन की स्वीकृति प्रदान की गई थी। इन स्वीकृत नवीन पदों में बस्तर, दंतेवाड़ा, कांकेर, बीजापुर, नारायणपुर, सुकमा और कोंडागांव जिले में बस्तर फाइटर आरक्षक के 300-300 कुल 2100 पद स्वीकृत किए गए थे। संबंधित प्रक्रिया पूरी करने के बाद 2100 बस्तर्स फाइटर्स की चनय सूची और प्रतीक्षा सूची जारी कर दी गई है। (Bastar Fighter Bharti)

यह भी पढ़ें:- Bharti Shramjeevi Patrakar Sangh: पत्रकारों के स्वास्थ्य बीमा के लिए जल्द होगी पहल: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

बस्तर फाइटर्स आरक्षक भर्ती प्रक्रिया के लिए बस्तर संभाग के युवाओं में जबरदस्त उत्साह देखने को मिला था। इसके अंतर्गत माह मई-जून में शारीरिक दक्षता परीक्षा (100 अंकों) में योग्य पाए गए 5405 उम्मीद्वारों के लिए बस्तर संभाग के कांकेर, कोंडागांव, नारायणपुर, बस्तर, दन्तेवाड़ा, बीजापुर और सुकमा जिला मुख्यालय में 17 जुलाई 2022 को 50 अंकों की लिखित परीक्षा संपन्न की गई। इस लिखित परीक्षा में संभाग के कुल 5330 उम्मीदवार शामिल हुए थे। (Bastar Fighter Bharti)

बस्तर फाइटर आरक्षक पद के लिए शारीरिक दक्षता परीक्षा और लिखित परीक्षा में प्राप्तांको (मेरिट क्रमानुसार) के आधार पर बस्तर संभाग में कुल 3969 उम्मीदवारों का 01 अगस्त से 10 अगस्त 2022 तक संबंधित सभी जिला मुख्यालय में 20 अंको का साक्षात्कार लिया गया। समस्त प्रक्रिया पूर्ण कर बस्तर फाइटर आरक्षक पद के लिए 15 अगस्त 2022 को उम्मीदवारों की चयन और प्रतीक्षा सूची जारी कर दी गई है। (Bastar Fighter Bharti)

सदस्यों को स्थानीय बोली की नहीं थी जानकारी 

बता दें कि अंदरूनी वनांचल क्षेत्र में रूबरू होने के दौरान बल सदस्यों को स्थानीय बोली की जानकारी नहीं होने से कई प्रकार की व्यावहारिक कठिनाई और चुनौतियों का सामना करना पड़ता था। बस्तर फाइटर आरक्षक भर्ती में जिले के स्थानीय भर्ती होने के साथ-साथ क्षेत्र की बोली के जानकार अभ्यर्थियों के चयन होने पर भाषा की चुनौती को दूर करने के साथ-साथ स्थानीय जनता और पुलिस के संबंध को और भी मजबूती मिलेगी।

Related Articles