विशेषज्ञ डॉक्टर्स की कमी दूर करने बनेगी कमेटी, मेडिकल कॉलेज के डीन समेत कई अधिकारी होंगे शामिल

Committee For Specialist Doctors: विधानसभा अध्यक्ष डॉ. रमन सिंह ने विधानसभा सचिवालय में स्वास्थ्य मंत्री श्याम बिहारी जायसवाल, डिप्टी CM विजय शर्मा की उपस्थिति में प्रदेश की स्वास्थ्य व्यवस्था और मेडिकल कॉलेजों की सुविधाओं को लेकर चर्चा की। इस दौरान विधानसभा अध्यक्ष ने प्रदेश के मेडिकल कॉलेजों में विशेषज्ञ चिकित्सकों की कमी को लेकर चिंता जाहिर की। साथ ही उनके मानदेय को बढ़ाने और उन्हें नियमित करने को लेकर जरूरी निर्देश दिए। स्वास्थ्य मंत्री श्याम बिहारी जायसवाल ने विधानसभा अध्यक्ष डॉ. रमन सिंह के सुझाव पर स्वास्थ्य विभाग को एक कमेटी बनाने के निर्देश दिए हैं।

यह भी पढ़ें:- सड़क और पुल-पुलिया निर्माण की नई तकनीकों के ज्ञान से अभियंताओं की बढ़ेगी दक्षता: डिप्टी CM साव

इस कमेटी में स्वास्थ्य विभाग के विशेष सचिव नोडल अधिकारी होंगे। कमेटी में वित्त और स्वास्थ्य विभाग के उच्च अधिकारी के साथ ही किसी मेडिकल कॉलेज के डीन और सीनियर प्रोफेसर भी शामिल होंगे। ये कमेटी एक महीने में विशेषज्ञ चिकित्सकों के मानदेय और उनके नियमितिकरण करने के प्रावधान के बारे में पड़ोसी राज्य मध्य प्रदेश के प्रावधानों और नियमों का अध्ययन कर अपनी रिपोर्ट पेश करेगी। विधानसभा अध्यक्ष डॉ. रमन सिंह ने बैठक में राजनांदगांव और कवर्धा समेत प्रदेश के सभी मेडिकल कॉलेजों की सुविधाओं और स्थापना को लेकर विस्तारपूर्वक चर्चा की। (Committee For Specialist Doctors)

निर्माणाधीन मेडिकल कॉलेजों के बारे में ली जानकारी

उन्होंने कहा कि राज्य की जनता को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए विभाग को लधु और दीर्घ लक्ष्य बनाकर काम करना चाहिए, ताकि समयबद्ध तरीके से काम हो सके और ज्यादा से ज्यादा लोगों को समय पर स्वास्थ्य सुविधाओं का लाभ मिलना सुनिश्चित हो सके। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग को असिस्टेंट प्रोफेसर्स के रिक्त पदों को जल्द पीएससी के माध्यम से शीघ्र भर्ती करने की बात स्वास्थ्य मंत्री से कही। स्वास्थ्य मंत्री श्याम बिहारी जायसवाल ने बैठक में प्रदेश के निर्माणाधीन मेडिकल कॉलेजों के बारे में जानकारी लेते हुए उनकी जल्द स्थापना के लिए आवश्यक कार्यों को पूर्ण करने के निर्देश दिए। (Committee For Specialist Doctors)

खाली पदों को भरने के लिए दिए निर्देश

मंत्री जायसवाल ने राज्य के मेडिकल कॉलेजों और जिला अस्पतालों में सुविधाओं के विस्तार और खाली पदों को भरने को लेकर भी विभाग के उच्च अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए, ताकि राज्य की जनता को स्वास्थ्य सुविधाओं का ज्यादा से ज्यादा लाभ मिल सके। समीक्षा बैठक में विधानसभा के सचिव दिनेश शर्मा, स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव मनोज पिंगुआ, वित्त विभाग के सचिव मुकेश कुमार बंसल, स्वास्थ्य विभाग के विशेष सचिव चंदन कुमार, सीजीएमएससी की एमडी पद्मिनी भोई साहू, चिकित्सा शिक्षा के संचालक डॉ यू.एस. पैंकरा समेत विभाग के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे। (Committee For Specialist Doctors)

Back to top button