Hajj Pilgrims Death : मक्का में गर्मी का कहर, 600 से ज्यादा हाजियों की मौत, 68 भारतीय भी शामिल

Hajj Pilgrims Death : दुनिया के कई देशों में भयंकर गर्मी से हाहाकर मचा है। सऊदी अरब में गर्मी का बड़ा कहर बरपा। सऊदी में हज अदा करने गए 600 से अधिक हाजियों की मौत हो गई है। मृतक हाजियों में करीब 68 हाजी भारतीय बताए जा रहे हैं।

मक्का में इतनी बड़ी संख्या में गर्मी के कारण हुईं मौतों (Hajj Pilgrims Death) से हड़कंप मचा है। वहीं, जिन परिवार के हाजियों की मौत हुई है। उन्हें अपनों को खोने का गम ज़रूर है, लेकिन वह इस बात पर सब्र कर रहे हैं कि उनके घर के सदस्यों को मक्का में मौत नसीब हुई है।

यह भी पढ़े :- अब किसपर करें भरोसा! आइसक्रीम में अंगुली के बाद चिप्स के पैकेट में मिला मरा हुआ मेंढक

हज इस्लाम के पांच फर्ज यानी कर्तव्यों में से एक है। हर साल दुनियाभर से लाखों मुस्लिम हज पर जाते हैं। इस साल 2024 में करीब 20 लाख लोग हज यात्रा पर सऊदी पहुंचे हैं। लेकिन इस बार रिकॉर्ड तोड़ गर्मी पड़ी है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक मक्का में औसत तामपान 52 डिग्री सेल्सियस तक दर्ज किया गया है। 20 लाख की भीड़ और उस पर 52 डिग्री टेम्परेचर ने हाजियों की ज़िंदगी दुश्वार कर दी। हालांकि हाजियों को गर्मी से बचाने के लिए भारी इंतजाम किए गए थे। जगह-जगह वॉलिंटियर्स खड़े थे, जो हाजियों पर पानी की फुहारे मार रहे थे। लेकिन हीट वेव पर इन पानी की बौछारें भी बेअसर रहीं और लगातार डेथ टोल बढ़ता रहा।

सबसे ज्यादा मिस्रवासियों की मौत
अरब राजनयिकों ने कहा कि भीषण गर्मी (Hajj Pilgrims Death) से मरने वालों में 323 मिस्रवासी और 60 जॉर्डनवासी शामिल हैं. लगभग सभी मिस्रवासियों की मौत गर्मी के कारण हुई. इसके अलावा मरने वालों में इंडोनेशिया, ईरान, सेनेगल, ट्यूनीशिया और इराक के स्वायत्त कुर्दिस्तान इलाके के लोग भी शामिल हैं. हालांकि मौतों के कई मामलों में अधिकारियों ने कारण नहीं बताया है. न्यूज एजेंसी एएफपी की रिपोर्ट के मुताबिक अब तक कुल 645 लोगों की मौत की सूचना दी गई है. पिछले साल 200 से अधिक हज तीर्थयात्रियों की मौत की सूचना मिली थी, जिनमें से अधिकांश इंडोनेशिया से थे।

Back to top button