अब किसपर करें भरोसा! आइसक्रीम में अंगुली के बाद चिप्स के पैकेट में मिला मरा हुआ मेंढक

Rotten Frog in Potato Chips : गुजरात के जामनगर में सेहत से खिलवाड़ का बड़ा मामला सामने आया है. बालाजी वेफर्स के चिप्स के पैकेट में मरा हुआ मेंढक मिला है. युवक का दावा है कि बेटी दुकान से पर बालाजी वेफर्स का पैकेट लेकर आई थी. वह घर में खा रही थी, तभी चिप्प के बीच में मरा हुआ मेंढ़क दिखा. इस मामले में ताजुब्ब की बात यह है कि वेफर के साथ साथ मेंढक को भी फ्राई किया गया था. वेफर्स बनाने वाली कंपनी ने अभी तक इस संबंध में कोई आधिकारिक प्रतिक्रिया नहीं दी है. पीड़ित का आरोप है कि वेफर्स बनाने वाली कंपनी अपनी गलती मानने को तैयार नहीं है.

यह भी पढ़े :- IIT बॉम्बे के छात्रों का कारनामा! नाटक में राम-सीता का उड़ाया मजाक, अब हुई ये कार्रवाई

आपको पता ही होगी कि हाल ही में मुंबई में एक आइसक्रीम के पैकेट में इंसान की कटी अंगुली मिली थी. अब एक बार फिर इसी कड़ी में गुजरात में एक चिप्स के पैकेट में कथित तौर पर मरा हुआ मेंढक मिला है. बीते बुधवार को इस मामले में जामनगर नगर निगम ने जांच के आदेश दे दिए हैं. बताया जा रहा है कि, मुंबई के एक निवासी द्वारा ऑनलाइन ऑर्डर की गई आइसक्रीम में मानव उंगली का टुकड़ा मिलने के दावे के कुछ दिनों बाद यह शिकायत सामने आई है. जामनगर नगर निगम के एक अधिकारी के मुताबिक, जांच के तहत आलू के चिप्स के पैकेट के उत्पादन बैच के नमूने एकत्र किए जाएंगे.

जामनगर के निवासी यास्मीन पटेल ने बताया कि घर में 9 महीने की बेटी है. वह खाने के लिए बालाजी वेफर का क्रंचेज वेफर का पैकेट लेकर आई थी. आधा पैकेट खाने के बाद पता चला कि इसमें मरा हुआ मेंढक (Rotten Frog in Potato Chips) है. पहले तो किसी को इस बार पर विश्वास नहीं हुआ, लेकिन गौर से देखा तो पता चला है कि मेंढ़क को भी साथ में फ्राई कर दिया गया है. पटेल के अनुसार पहले स्थानीय दुकानदार और फिर एजेंसी मालिक को इस बारे में सूचना दी. उन्होंने जब सही रिस्पांस नहीं दिया तो फिर बालाजी वेफर के कस्टमर केयर पर कॉल किया. उन्हें इस घटना के बारे में बताया. पीड़ित का आरोप है कि गलती स्वीकारने की बजाए उन्होंने कहा जो कार्यवाही करनी है कर लीजिए. बालाजी वेफर्स ने इस मुद्दे पर कोई प्रतिक्रया अभी तक साझा नहीं की है.

वेफर्स में मेंढक (Rotten Frog in Potato Chips) निकलने का यह वीडियो सोशल मीडिया पर भी तेजी से वायरल हो रहा है. बालाजी वेफर्स काफी सारे नमकीन उत्पाद बनाती है. यह भी संयोग है कि बालाजी वेफर्स कंपनी के मालिक चंदूभाई विरानी भी जामनगर के ही रहने वाले हैं. इस कंपनी में 5,000 से अधिक कर्मचारी हैं. कंपनी का राजस्व 5 हजार करोड़ रुपये का है. कंपनी 50 साल पुरानी है. कंपनी की स्थापना 1974 में हुई थी.

Back to top button