हिमाचल प्रदेश में कल होगा मतदान, सभी दलों ने झोंकी पूरी ताकत

Whatsaap Strip

Himachal Pradesh Election: हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए प्रचार 10 नवंबर को थम गया है। हिमाचल की 68 सदस्यीय विधानसभा के लिए 12 नवंबर को यानी कल मतदान होगा और इसके बाद सबकी नजरें 8 दिसंबर पर टिकी होंगी, जिस दिन नतीजे आएंगे। 12 नवंबर को करीब 56 लाख लोग मतदान करेंगे। वोटरों की संख्या बढ़कर 55 लाख 92 हजार 882 हो गई है। ढाई महीने के भीतर प्रदेश में 2 लाख 04 हजार 473 वोटर बढ़े हैं। 16 अगस्त को जारी की गई पहली वोटर लिस्ट में प्रदेश में मतदाताओं की संख्या 53 लाख 88 हजार 409 थी। वहीं 10 अक्टूबर को जारी की गई दूसरी वोटर लिस्ट में मतदाताओं की संख्या 55 लाख 07 हजार 261 थी।

यह भी पढ़ें:- अब भारतीयों को आसानी से मिलेगा अमेरिका का वीजा, US सरकार देगी ये छूट

इधर, 26 अक्टूबर को जारी की गई फाइनल वोटर लिस्ट में मतदाताओं की संख्या बढ़कर 55 लाख 92 हजार 828 हो गई है। इनमें 67 हजार 559 सर्विस वोटर, 22 NRI वोटर, 38 थर्ड जेंडर मतदाता शामिल हैं। प्रदेश में 10 अक्टूबर से लेकर 25 अक्टूबर तक 23 हजार 034 नए मतदाता सूची में शामिल किए गए हैं। लोकतंत्र के महापर्व में 18 से 19 साल के 1 लाख 93 हजार नए मतदाता अपने वोट का इस्तेमाल करेंगे। ढाई महीने के भीतर प्रदेश में युवा मतदाताओं की संख्या 1 लाख 23 हजार 219 बढ़ी है। (Himachal Pradesh Election)

10 अक्टूबर को जारी की गई सूची में 18-19 आयु वर्ग के नए मतदाता की संख्या 69,781 थी। दिव्यांग मतदाताओं की संख्या में 500 की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। 10 अक्टूबर को इनकी संख्या 56,001 थी, जो बढ़कर 56,501 हो गई है। हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव में इस बार भाजपा-कांग्रेस के बीच चुनावी जंग से अलग रैली युद्ध भी देखने को मिला। 2017 के विधानसभा चुनाव में पूर्व CM वीरभद्र सिंह ने 84 साल की उम्र में अकेले 85 जनसभाएं की थी, लेकिन इस बार प्रदेश कांग्रेस के सभी स्टार-कैंपेनर भी इतनी जनसभाएं नहीं कर पाएं। कांग्रेस के ज्यादातर राष्ट्रीय नेता और स्टार प्रचारक प्रेंस कॉफेंस तक सीमित रहे या इक्का-दुक्का जनसभाएं करके वापस लौट गए। (Himachal Pradesh Election)

वहीं सत्तारूढ़ भाजपा ने आक्रामक प्रचार करते हुए कांग्रेस की तुलना में लगभग दोगुना जनसभाएं की हैं, लेकिन ये रैलियां वोटर्स को कितना अपने पक्ष में कर पाती हैं, ये तो 8 दिसंबर को पता चलेगा। ताकत के लिहाज से सभी दलों ने प्रचार में पूरी जान फूंकी है। कांग्रेस के राज्य और राष्ट्रीय नेताओं ने लगभग 83 रैलियां की हैं। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय नेताओं ने ही प्रदेश में 68 से ज्यादा जनसभाएं कर डालीं। राज्य के BJP नेताओं को मिलाकर पार्टी ने लगभग 145 छोटी-बड़ी जनसभाएं की। (Himachal Pradesh Election)

भाजपा के राष्ट्रीय स्तर के स्टार प्रचारकों ने लगभग 68 बड़ी जनसभाएं कीं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 4, गृह मंत्री अमित शाह ने 11, स्मृति ईरानी ने 9, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने 5, नितिन गडकरी ने 3, जेपी नड्डा ने 20, UP के CM योगी आदित्यनाथ ने 16, केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने भी 12 से ज्यादा जनसभाएं की हैं। राज्य के BJP नेताओं में संख्या के हिसाब से देखें तो जयराम ठाकुर ने सबसे अधिक 34 जनसभाएं कीं। हिमाचल में प्रचार में इतनी जान पहली बार किसी PM ने झोंकी है। PM मोदी के अलावा BJP के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, जयराम ठाकुर, कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष प्रतिभा सिंह, मुकेश अग्निहोत्री और सुखविंद्र सिंह सुक्खू की साख सबसे ज्यादा दांव पर है, लेकिन इसका असली रिजल्ट 8 दिसंबर को सामने आएगा। (Himachal Pradesh Election)