राशिफल 01 अक्टूबर 2021 : मकर राशि वालों को होगा आर्थिक लाभ, क्या कहती हैं आपकी राशि, जानें अपना राशिफल

Whatsaap Strip

आज 01 अक्टूबर 2021 का राशिफल : 01 अक्टूबर 2021, दिन-शुक्रवार। तिथि-दशमी। श्राद्ध दशमी तिथि। नक्षत्र –पुष्य। चन्द्र राशी –कर्क। अश्व वाहन वर्षा योग – पर्वतीय क्षेत्र में, मध्य एवं दक्षिण क्षेत्र में प्रबल योग। मूल-रात्रि02:55 से । राशिफल – सर्व सफलता पूर्ण दिन –तुला,कन्या राशि। सुख बाधक दिन –सिंह,, धनु,, मेष।

बुध तुला में –अक्टूबर तक राशियों पर शुभ अशुभ प्रभाव –

बुध अशुभ कार्य बाधक राशियों हेतु – मेष, मिथुन, सिंह, तुला, कुम्भ, वृश्चिक राशी के लिए विघ्न,बाधा में कमी करेगा| जिनकी बुध दशा चल रही होगी उनको अधिक ऋणात्मक प्रभाव होगा। ग्रह का उपाय/मन्त्र बुधवार के दिन करना उपयोगी होगा।

बुध ग्रहशुभ-सफलता, लंबित कार्य पूर्ण, विद्या, विवेक प्रतियोगिता में सफलता प्रद निम्न राशियों हेतु

वृष, कर्क, कन्या, धनु, मकर, मीन राशी के लिए सिद्ध होगा।

यह भी पढ़ें : शुक्रवार 1 अक्टूबर के कार्य मुहूर्त : जानें राशि के अनुसार क्या हैं आज का शुभ मुहूर्त

आज का राशिफल (01अक्टूबर2021)

मेष राशि (Aries) – चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, अ.

कुछ मिले जुले परिणाम का दिन है । व्यापारमे लाभप्रद लेन-देन सम्पन्न करने में कुछ कठिनाइयाँ आ सकती हैं । वित्तीय दृष्टि से भी अपके लिए ये कठिन समय है । आपको हानि हो सकती है, अत: धन व्यय करने पर नियंत्रण रखें ।  स्वास्थ्य का अधिक ध्यान देने की आवश्यकता है ।  अपने कार्य इच्छानुसार पूरे न कर पाने के कारण आप मानसिक रुप से अशांत खिन्न रहेंगे ।

वृष राशि (Taurus) – ई, उ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो.

प्रयासों में सफलता व लक्ष्यों की प्राप्ति व के योग  है । यह समय धन की दृष्टि से सौभाग्यपूर्ण है । घर परिवार के लिए समय सुख से परिपूर्ण है । रुचि पूर्ण  भोजन, वस्त्र सुख योग है । आज आप हर परिस्थिति निराकृत करने मे सफल हो सकते हैं |आज  सम्पन्न किया गया हर कार्य आपको संतुष्टि देगा । मन में पूर्ण संतोष का साम्राज्य रहेगा । मित्र एवं परचितों  के साथ अच्छा समय व्यतीत होगा । विजय पथ के पथिक होंगे आप |

मिथुन राशि (Gemini) – का, की, कू, घ, ड, छ, के, को, ह.

स्वास्थ्य से सम्बन्धित कुछ नकारात्मक परिणामों का सूचक है । परिवार का सदस्य अथवा परचित सुख बाधा का कारण बन सकता है ।  मानसिक रुप से आप अशांत व आस-पास के व्यक्तियों के प्रति सशंकित रह सकते हैं । आर्थिक दृष्टि से यह कठिन समय है|खर्चे बढ़ सकते हैं | यह एक ऐसा समय है जब आपको अपने आत्मीयजनों से मधुर सम्बन्ध बनाए रखने में सतर्कता बरतनी है । क्रोध पर अंकुश रखें ।

कर्क राशि (Cancer) – ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो.

नए कार्य में सफलता मिलेगी। महत्वपूर्ण सूचनाएं मिलेंगी ।

राजनीतिक एवं सामाजिक वर्ग के लिए या जनप्रतिनिधि अथवा कंपनी प्रतिनिधि  के लिए विशेष  दिन है। लंबी यात्रा स्थगित रखना उचित होगा। आर्थिक पक्ष उत्तम रहेगा। पारिवारिक सुख यथेष्ट है।

 सिंह राशि (Leo) – मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे.

अपने व्यय पर विशेष ध्यान देने रखें। आप लोगों से व्यवहार के प्रति विशेष सतर्क रहें। व्यर्थ में झगड़े की संभावना है। आप किसी भी प्रकार के सुझाव ,परामर्श,बीच वचाव या विवाद में न पड़ें। कार्यालय में बाधाएं आ सकती हैं |शारीरिक रुप से आप स्वास्थ्य में गिरावट महसूस करेंगे। मानसिक रुप से असंतोष अनुभव करेंगे। आर्थिक स्थिति कमजोर एवं लाभ मे कमी होगी ।

कन्या राशि (Virgo) – टो, प, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो.

आपको शारीरिक एवं मानसिक सुख-साधन, उत्तम वस्त्र व सुगंध तथा अन्य इच्छित सांसारिक वस्तुएं मिलेंगी। प्रिय मित्र व परिचित मिलेंगे। आर्थिक रुप से भी यह एक अच्छा समय है । पारिवारिकजीवन में भी आम दिनों की तुलना में अधिक आनन्द होगा । सौभाग्य, सुख व सम्मान इस अवधि की विशेषता है |मन पसन्द इच्छित भोजन का आनन्द मिलने का योग है ।  आपके व आपके परिवार के लिए रोगों से मुक्त रहने सुयोग  है । जीवन में सुख शान्ति का मनोभाव आपको संतोषप्रदरहेगा|

तुला राशि (Libra) – रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते.

यह दिन अधिक धन उपार्जन व सम्पत्ति अर्जित करने में सहायक होगा । पुराने मित्रों के साथ पुनर्मिलन के भी सुअवसर हैं । दाम्पत्य सुख की पूर्ण संभावना है ।  स्वास्थ्य उत्तम रहेगा | इस पूरे काल में आप मानसिक रुप से प्रसन्न व शान्तचित्त रहेंगे । व्यापार के लिए लाभदायक विशेष रहेगा |राजनीतिक क्षेत्र से जुड़े वर्ग के लिए उत्तम दिन है |व्यक्तिगत रुप से प्रयासों मे सफलता मिलेगी |आपके प्रयासो के पंछी को को सफलता के पंख  लग रहेहैं  |

वृश्चिक राशि (Scorpio) – तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू.

वित्तीय दृष्टि से भी अपके लिए ये कठिन समय है । आपको हानि हो सकती है |धन व्यय करने मे ,विनियोजन मे  नियंत्रण रखें ।  स्वास्थ्य का अधिक ध्यान देने की आवश्यकता है । निराशा जीवन को अकर्मण्य बना सकती है ।  विशेष सावधान रहें ,व्यावहार संतुलन रखे |आपकी सामाजिक प्रतिष्ठा अथवा दैनिक जीवन या कार्य स्थल में सम्मान को ठेस न पहुंचे  ।

धनु राशि (Sagittarius) – ये, यो, भ, भी, भू, ध, फ, ढ, भे.

असुविधा,असहयोग,समन्वयहीन,अपेक्षा के विपरीत स्थिति का  समय है। किसी शुभ समाचार की आशा मत कीजिए । सूचना भी सत्यता से परे हो सकती हैं |यह रोजमर्रा केजीवन में परेशानियों व बाधाओं का दिन है । आर्थिक दृष्टि से भी यह काल लाभ पूर्ण नहीं है । आपको धन वसूली में कठिनाई आ सकती है। अपने वरिष्ठ व उच्चाधिकारी से कार्यालय में किसी भी प्रकार की असहमति अथवा विवाद से बचें ।

मकर राशि (Capricorn) – भो, जा, जी, खी, खू, खे, खो, ग, गी.

यह दिन  सुख व कार्यों में सफलता का द्योतक है ।  आर्थिक दृष्टि से भी यह समय आपके लिए शुभ है । अटका हुआ पैसा पुन: प्राप्त हो सकता है ।आपको शत्रुओं पर विजय प्राप्त करने में भी सहायक होगी । प्रेम या  नए मित्र, मित्र बनाने हेतु यह समय अनुकूल है । संतान आपके जीवन के सुख में और अधिक वृद्धि करेगी । स्वास्थ्य अच्छा रहेगा । मन की शान्ति प्रसन्नता के सुयोग हैं  ।

कुंभ राशि (Aquarius)– गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, द.

सफलता की संभावना प्रबल हैं । यह समय आपके लिए आपके हिस्से की प्रतिष्ठा व पहचान पाने का हो सकता है ।आप शत्रुओं पर विजय पाएँगे|नए मित्र भी बनाएँगे|मित्रों से सहयोग मिलेगा |प्रेम संबंध सुख पूर्ण रहेंगे ।  स्वास्थ्य अच्छा रहेगा |आप नीरोग काया का आनन्द उठाएँगे । कुल मिलाकर इस अवधि में आप सफल एवं प्रसन्न रहेंगे । विजयश्री आपके साथ होगी |मनोबल  उत्तम रहेगा |राजनीति एवं जनसम्पर्क से लाभ सफलता मिलेगी|

मीन राशि (Pisces) – दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची.

कुछ मिले जुले परिणाम का दिन है । व्यापारमे लाभप्रद लेन-देन सम्पन्न करने में कुछ कठिनाइयाँ आ सकती हैं ।वित्तीय दृष्टि से भी अपके लिए ये कठिन समय है ।आपको हानि हो सकती है अत: धन व्यय करने पर नियंत्रण रखें ।  स्वास्थ्य पर ध्यान देने की आवश्यकता है । अपने कार्य इच्छानुसार पूरे न कर पाने के कारण आप मानसिक रुप से अशांत खिन्न रहेंगे ।

सफलता के लिए – नक्षत्र कृत अरिष्ट नाशक मंत्र

ॐ अदितिद्योरदितिरन्तरिक्षमदिति र्माता: स पिता स पुत्र:

विश्वेदेवा अदिति: पंचजना अदितिजातम अदितिर्रजनित्वम ।

ॐ आदित्याय नम: । आदित्याय नमः। सुरक्षा हेतु।

वेद मंत्रपुष्य

ॐ बृहस्पते अतियदर्यौ अर्हाद दुमद्विभाति क्रतमज्जनेषु ।

यददीदयच्छवस ॠतप्रजात तदस्मासु द्रविण धेहि चित्रम ।

ॐ बृहस्पतये नम:

पौराणिक मंत्र:

वंदे बृहस्पतिं पुष्यदेवता मानुशाकृतिम् l

सर्वाभरण संपन्नं देवमंत्रेण मादरात् ll

नक्षत्र देवता .मंत्र :- ॐ बृहस्पतये नमःl

नक्षत्र . मंत्र:- ॐ पुष्याय नमःl

(आज 01 अक्टूबर 2021 का राशिफल)

Related Articles