भारतीय वायुसेना का ऑपरेशन एयरलिफ्ट-2, अफगानिस्तान में फसें 290 इंडियंस को लाएंगे वापस

Whatsaap Strip

न्यूज़ डेस्क

अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे के बाद वहां के हालत लगातार बिगड़ते जा रहे हैं। जिससे वहां फंसे भारतियों को सही सलामत बाहर निकलने के लिए भारत सरकार की कोशिश लगातार जारी है। अफगानिस्तान से भारतीय वायुसेना का एक और काबुल से आ रहा C-17 विमान आज 20 अगस्त को गाजियाबाद के हिंडन एयरबेस लैंड कर सकता है।

290 लोग लाये जा सकेंगे वापस

बताया जा रहा है कि इस बार C-17 विमान से अफगानिस्तान में फंसे 290 लोगों को भारत लाया जा सकता है। इन 290 लोगों में 220 भारतीय और 70 अफगानिस्तान के नागरिक शामिल हैं। मिली जानकारी के अनुसार भारत लाये जाने वाले नागरिकों में कुछ सिख भी शामिल हैं। अफगानिस्तान के वो सिख हैं, जिन्होंने भारत सरकार से वहां से बाहर निकालने की अपील की थी।

अफगानिस्तान के सांसद भी आ सकते हैं भारत

सूत्रों से खबर है कि ऑपरेशन एयरलिफ्ट टू में इस बार कुछ अफगानिस्तान के सांसद भी भारत आ सकते हैं। ये विमान हिंडन एयरबेस पर कब उतरेगा, अभी इसको लेकर कोई ठोस जानकारी नहीं मिली है।

अफगानिस्तान में फंसे भारतीयों की वतन वापसी को लेकर विदेश मंत्रालय एक्शन में आ चुका है। इसके लिए अफगानिस्तान में रहने वाले सभी भारतीयों का डाटा तैयार किया जा रहा है और हेल्पलाइन नंबर से लगातार 24 घंटे ब्योरा तैयार किया जा रहा है। विदेश मंत्रालय का अफगान सेल 24 घंटे सक्रिय है और फोन व ईमेल के जरिए संपर्क किया जा सकता है।

करीब 500 भारतियों के अफगानिस्तान में फसें होने का अनुमान

अफगान सेल 16 अगस्त से काम कर रहा है और वीजा के लिए ऑनलाइन आवेदन स्वीकार किए जा रहे हैं। काबुल स्थित भारतीय दूतावास से सभी भारतीय कर्मचारी वापस आ चुके हैं और दूतावास में अभी 35-40 स्थानीय लोगों का स्टाफ ही मौजूद है। हालांकि अफगानिस्तान में कुल कितने भारतीय हैं, इसका आंकड़ा अभी मौजूद नहीं है लेकिन 400 से 500 भारतीयों के होने का अनुमान है।