Indo China Border Dispute : भारत-चीन के बीच 12 वें दौर की हुई बैठक, दोनों ने जारी किया संयुक्त बयान

Whatsaap Strip

न्यूज डेस्क

भारत-चीन कोर कमांडर-स्तरीय बैठक का 12वां दौर सोमवार को आयोजित हुआ। भारत के चुशुल-मोल्डो सीमा पर संयुक्त बैठक हुई और दोनों देशों ने बयान जारी कर कहा कि भारत और चीन व्यापक संघर्ष को लेकर चिंताओं के बीच अपनी विवादित सीमा पर तनाव कम करने के उद्देश्य से बातचीत जारी रखेंगे। बैठक के बाद सेना की तरफ से बयान जारी कर कहा गया कि दोनों पक्ष इस बात पर भी सहमत हैं कि वे पश्चिमी क्षेत्र में एलएसी पर स्थिरता सुनिश्चित करने और संयुक्त रूप से शांति बनाए रखने के लिए प्रयास जारी रखेंगे।

भारत और चीन ने कहा कि बातचीत की गति को बनाए रखते हुए यह प्रक्रिया पूरी की जाएगी। बता दें कि ये बैठक करीब 9 घंटे चली। 12वें दौर की बातचीत करीब साढ़े 3 महीने के बाद हुई है। इससे पहले 11वें दौर की बातचीत अप्रैल महीने में हुई थी। जो करीब 13 घंटे तक चली थी। उस वक्त दोनों सेनाओं ने पीछे हटने का फैसला किया था।

आगे जानकारी दी कि सैनिकों की वापसी से जुड़े बाकी मुद्दों को सुलझाने के लिए खुलकर बातचीत हुई है। दोनों पक्षों ने माना कि वार्ता रचनात्मक थी। जिसमें आपसी समझ को और बढ़ाया गया। दोनों पक्ष स्थिरता सुनिश्चित करने और संयुक्त रूप से एलएसी पर शांति बनाए रखने के लिए सहमत हुए हैं।

भारत-चीन ने जारी किया संयुक्त बयान भारत और चीन कोर कमांडर स्तरीय बैठक के बाद दोनों देशों ने संयुक्त बयान में कहा कि दोनों पक्षों के बीच वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर विवादित मुद्दों को लेकर गहनता से चर्चा हुई। बयान में आगे कहा गया है कि 12वें दौर की वार्ता रचनात्मक थी। दोनों ही देश द्विपक्षीय समझौतों और प्रोटोकॉल के अनुसार, हल करने के लिए सहमत हुए हैं।