Trending

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी MMS मामले में गिरफ्तारी, ब्लैकमेलिंग से जुड़े कई खुलासे, पढ़ें पूरी ख़बर

Whatsaap Strip

MMS Case Latest Update: पंजाब के चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी में हुए MMS कांड में पुलिस ने सेना के एक जवान को गिरफ्तार किया है। आरोपी की पहचान संजीव सिंह के रूप में हुई है। इस केस में ये चौथी गिरफ्तारी है। शक है कि आर्मी का ये जवान ही CU के हॉस्टल में रहने वाली छात्रा को ब्लैकमेल कर उससे अन्य लड़कियों के नहाते हुए वीडियो बनवा रहा था। CU वीडियो केस की इन्वेस्टिगेशन के लिए बनाई गई पंजाब पुलिस की SIT ने आर्मी के वांटेड जवान संजीव सिंह को अरुणाचल प्रदेश से गिरफ्तार किया।

यह भी पढ़ें:- चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी MMS मामले में बड़ा खुलासा, ब्लैकमेलर के बारे में मिली जानकारी, पढ़ें पूरी ख़बर

पंजाब के DGP गौरव यादव ने बताया कि इस केस की जांच के दौरान मिले फॉरेंसिक और डिजिटल सबूतों के दौरान सेना के जवान संजीव सिंह का नाम सामने आया। संजीव सिंह की पोस्टिंग अरुणाचल प्रदेश में थी इसलिए मोहाली से पुलिस की एक टीम वहां भेजी गई। पंजाब पुलिस की टीम ने संजीव सिंह को अरुणाचल प्रदेश पुलिस, असम पुलिस और सेना के अधिकारियों के सहयोग से पकड़ा। उसे अरुणाचल प्रदेश के सेला पास से गिरफ्तार किया गया। इसके बाद उसे अरुणाचल प्रदेश के बोमडिला की अदालत में सीजेएम कोर्ट में पेश कर 2 दिन के ट्रांजिट रिमांड पर लिया गया। (MMS Case Latest Update)

आरोपी से पूछताछ करेगी SIT 

जानकारी के मुताबिक वीडियो केस की जांच के लिए गठित पंजाब पुलिस की SIT आरोपी संजीव सिंह से पूछताछ कर यह पता लगाने की कोशिश करेगी कि वह चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी में पढ़ रही आरोपी छात्रा के संपर्क में कैसे आया। साथ ही किस वजह से और कब से छात्रा को ब्लैकमेल कर रहा था। वह लड़कियों के वीडियो का क्या करता था। पुलिस पुलिस संजीव सिंह के आरोपी छात्रा और उसके दोस्तों सन्नी मेहता और रंकज वर्मा के साथ संबंधों का भी पता लगाएगी। (MMS Case Latest Update)

इन बिन्दुओं पर जांच करेगी टीम

आरोपी जवान ने लड़कियों के वीडियो आगे किस-किस को भेजे हैं। क्या वह किसी नेटवर्क से जुड़ा है। इन सभी बातों के बारे में पता लगाया जाएगा। चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी में लड़कियों के नहाते हुए वीडियो बनाने की आरोपी छात्रा ने पकड़े जाने के बाद वार्डन और अन्य स्टूडेंट्स की पूछताछ के दौरान अपने मोबाइल में रंकज वर्मा की फोटो दिखाकर कहा था कि यह युवक उसे ब्लैकमेल कर वीडियो बनाने के लिए मजबूर कर रहा था। हालांकि बाद में पता चला कि छात्रा जिस व्हाट्सएप नंबर पर लड़कियों के वीडियो भेजती थी, उसकी डिस्प्ले पिक्चर पर रंकज वर्मा की फोटो तो लगी थी, लेकिन वह नंबर कोई और इस्तेमाल कर रहा था। (MMS Case Latest Update)

मामले में पहले ही हो चुकी है 3 गिरफ्तारी

जानकारी के लिए बता दें कि चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी वीडियो केस में गिरफ्तार होने वाला संजीव सिंह चौथा शख्स है। इससे पहले पंजाब पुलिस वीडियो बनाने वाली आरोपी छात्रा के अलावा उसके बॉयफ्रेंड सन्नी मेहता और उसके दोस्त रंकज वर्मा को गिरफ्तार कर चुकी है। सन्नी मेहता हिमाचल प्रदेश में शिमला जिले के रोहड़ू कस्बे का रहने वाला है। जबकि रंकज वर्मा शिमला का रहने वाला है। आरोपी छात्रा और बाकी दोनों युवक पहले से पुलिस रिमांड पर हैं। इस केस में पंजाब पुलिस के फॉरेंसिक एक्सपर्ट आरोपी छात्रा और उसके दो दोस्तों के मोबाइल फोन, लैपटॉप और बाकी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस की जांच कर रहे हैं। (MMS Case Latest Update)

इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस जब्त कर फॉरेंसिक लैब भेजा

पंजाब पुलिस ये सारे डिवाइस जब्त कर फॉरेंसिक लैब भेज चुकी है। इनकी रिपोर्ट आना फिलहाल बाकी है। पंजाब पुलिस चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी के हॉस्टल में लड़कियों के वीडियो बनाने की आरोपी छात्रा को कोर्ट में पेश कर 7 दिन के रिमांड पर ले चुकी है। सूत्रों के मुताबिक इस केस में आरोपी छात्रा और उसके दोनों दोस्तों के मोबाइल से दिल्ली, गुजरात और मुंबई में कई कॉल्स हुईं। चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी के हॉस्टल में एक छात्रा द्वारा अन्य लड़कियों के नहाते हुए वीडियो बनाने का मामला 18 सितंबर को सामने आया था। उसके बाद पंजाब पुलिस ने इस केस की जांच के लिए स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम बना दी। (MMS Case Latest Update)

लगातार हो रहे नए खुलासे

SIT में तीनों महिला अफसर है। SIT का नेतृत्व लुधियाना की SP (काउंटर इंटेलिजेंस) रुपिंदर कौर भट्टी कर रही हैं। उनके अलावा इसमें DSP खरड़-1 रूपिंदर कौर और DSP एजीटीएफ दीपिका सिंह शामिल हैं। इस मामले में 18 सितंबर को ही खरड़ थाने में IPC और IT एक्ट की अलग-अलग धाराओं के तहत केस दर्ज किया गया था। बता दें कि पंजाब के चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी वीडियो लीक मामले में आरोपी छात्रा के मोबाइल से 12 और वीडियो मिले हैं। ये वीडियो उसके ही निकले। इन्हीं वीडियो के आधार पर उसे ब्लैकमेल किया जा रहा था। फिलहाल बवाल कम होने का नाम नहीं ले रहा है। वहीं मामले में रोज-रोज नए खुलासे हो रहे हैं।

Related Articles