रक्षाबंधन से पहले उत्तर प्रदेश सरकार ने बहनों को दिया ये खास तोहफा, 24 घंटे तक बसों में नहीं लगेगा किराया

Whatsaap Strip

न्यूज़ डेस्क

भाई-बहन के प्यार का त्योहार रक्षाबंधन इस बार 22 अगस्त को है। इस मौके पर उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम (यूपी रोडवेज) ने महिलाओं को सभी श्रेणी की बसों में मुफ्त यात्रा का तोहफा दिया है। महिलाएं 21 अगस्त रात 12 बजे से 22 अगस्त की रात 12 बजे तक रोडवेज बसों में फ्री में सफर कर सकेंगी। सीएम ने निर्देश देते हुए कहा है कि राज्य सड़क परिवहन निगम की बसों में निःशुल्क यात्रा सुविधा प्रदान की जाए।

24 घंटे तक रहेगी फ्री बस सेवा

यूपी रोडवेज के एमडी धीरज साहू के निर्देश पर राखी पर महिलाओं के फ्री यात्रा के लिए प्रदेश के सभी रीजनल मैनेजर्स, सर्विस मैनेजर्स, असिस्टेंट रीजनल मैनेजर्स को निर्देश भेज दिया है। परिवहन निगम की सभी कैटेगरी की बसों में रक्षाबंधन के पर्व पर 21 अगस्त रात 12 बजे से 22 अगस्त की राज 12 बजे तक महिलाएं मुफ्त यात्रा कर सकेंगी।

वापस होगा एडवांस टिकट का पैसा

इस दौरान कोविड-19 की गाइडलाइंस का भी पूरा ध्यान रखा जाएगा। बस में सीट कैपेसिटी के अनुसार ही पैसेंजर्स को बैठाया जाएगा। ज्यादा यात्री होने पर अतिरिक्त बसों का संचालन किया जाएगा। रक्षाबंधन के दिन बस में सामान्य यात्री और महिला यात्री दोनों सफर करेंगे। इलेक्ट्रॉनिक टिकट मशीन (ETM) की पर्याप्त व्यवस्था नहीं है, इसलिए फ्री यात्रा के लिए सभी बसों में मैनुअल टिकट बनाए जाएंगे। वहीं जिन महिलाओं ने रक्षाबंधन के दिन ऑनलाइन टिकट की एडवांस बुकिंग कराई है उनके टिकट का पैसा 72 घंटे के अंदर रिटर्न किया जाएगा।

उत्तराखंड के सीएम ने भी किया ऐलान

उत्तराखंड के CM पुष्कर सिंह धामी ने भी राखी के पर्व पर राज्य की महिलाओं के लिए ऐलान किया है। सीएम ने कहा कि रक्षाबंधन के दिन राज्य की सरकारी बसों में महिलाओं के लिए यात्रा मुफ्त रहेगी। इसके अलावा आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, आशा बहनें और आजीविका मिशन से जुड़ी हुई 3 लाख से भी ज्यादा महिलाओं को 119 करोड़ रुपये की सहायता राशि का प्रावधान किया गया है।

कब है रक्षाबंधन

आपको बता दें कि राखी का त्योहार हर साल सावन मास की पूर्णिमा के दिन मनाया जाता है। यह त्योहार भाई-बहन के प्रेम को समर्पित है. हिंदू धर्म में रक्षाबंधन का खास महत्व है। इस साल रक्षाबंधन 22 अगस्त, रविवार को मनाया जाएगा। इस दिन बहन अपने भाई की लंबी आयु की कामना करती है। इसके साथ ही उन्हें रक्षा सूत्र बांधती हैं, जिसे राखी कहा जाता है।

Related Articles