तालिबान के खिलाफ बड़ी कार्रवाई, फेसबुक ने बैन किये अकाउंट ट्विटर भी ले सकता है कड़ा एक्शन

Whatsaap Strip

न्यूज़ डेस्क।

सोशल मीडिया प्लेटफार्म फेसबुक ने तालिबान के खिलाफ एक बड़ा कदम उठाया है। अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे के बाद से लगातार हालात खराब होते जा रहे हैं और पल-पल विचलित करने वाली तस्वीरें व वीडियो सामने आ रहे हैं। ऐसे में दुनियाभर से तालिबान के समर्थन और विरोध की आवाजें सोशल मीडिया समेत तमाम तरह के मीडिया प्लेटफॉर्म पर सुनाई दे रही है।

8वीं पास के लिए भारतीय सेना में भर्ती होने का सुनहरा मौका, इन पदों पर होगी भर्ती यहां करें आवेदन

ऐसे में दुनिया की सबसे बड़ी सोशल मीडिया कंपनी फेसबुक ने तालिबान के खिलाफ बड़ा एक्शन लिया है। फेसबुक ने कहा है कि अमेरिकी कानून के तहत तालिबान एक आतंकवादी संगठन है। ऐसे में उसे फेसबुक की सेवाओं से वंचित करने का फैसला लिया गया है। इसके अलावा तालिबान के सभी अकाउंट डिलीट किए जाएंगे। साथ ही तालिबान के समर्थन में पोस्ट करने वाले सभी अकाउंट पर बैन लगाया जाएगा।

कश्मीर वैली में एक बार फिर आतंकी हमला, भाजपा नेता की गोली मारकर हत्या

शुरू हो चुकी है कार्रवाई

इस बीच सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म की दिग्गज कंपनी फेसबुक ने तालिबान को लेकर कार्रवाई करनी शुरू कर दी है। फेसबुक ने तालिबान के समर्थन में पोस्ट करने वाले सभी अकाउंट को बैन करना शुरू कर दिया है। इसका मतलब है कि हम तालिबान द्वारा या उसकी ओर से बनाए गए अकॉउंट्स को हटा देते हैं और उनकी प्रशंसा, समर्थन और प्रतिनिधित्व को प्रतिबंधित करते हैं। फेसबुक ने यह भी कहा है कि उसके पास विद्रोही समूह से जुड़े कंटेंट की निगरानी और उसे हटाने के लिए अफगान विशेषज्ञों की एक टीम है, जो देशी दारी और पश्तो बोलने वाले हैं और स्थानीय संदर्भ का ज्ञान रखते हैं।

अफगानिस्तान : काबुल से 120 भारतियों को लेकर भारत पहुंचा वायुसेना का विमान

ट्विटर भी कर सकता है कार्रवाई

आपको बता दें कि फेसबुक बाद ट्विटर भी तालिबान पर कार्रवाई कर सकता है। ट्विटर ने कहा है कि वह ऐसे किसी भी कंटेंट को अपने प्लेटफॉर्म पर जगह नहीं देगा जो हमारी पॉलिसी का उल्लंघन करता है। कंपनी के एक प्रवक्ता ने कहा कि अफगानिस्तान में स्थिति तेजी से बदल रही है। हम देश (अफगानिस्तान) में लोगों को मदद और सहायता लेने के लिए ट्विटर का उपयोग करते हुए भी देख रहे हैं। लोगों को सुरक्षित रखना ट्विटर की सर्वोच्च प्राथमिकता है और हम सतर्क भी हैं।

Related Articles