कांग्रेस ने की शराबबंदी की मांग, डिप्टी CM साव ने कहा- कांग्रेस ने छत्तीसगढ़ को शराब का घर बनाया

CG Congress on Prohibition: छत्तीसगढ़ के शराब दुकानों में आहता के टेंडर को लेकर सियासत गरमा गई है। इस बीच कांग्रेस ने शराबबंदी की मांग की है। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष दीपक बैज ने कहा कि अब डबल इंजन की सरकार है। रेवेन्यू के कितने साधन है। हमारे समय में रेवेन्यू का साधन नहीं था। हमारा तो जीएसटी का पैसा भी रोक लिए थे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी मंच से चीख-चीखकर कहा था कि शराबबंदी क्यों नहीं की। अब तो उनकी सरकार है तो वो शराबबंदी कर दें। बता दें कि पिछली सरकार में कांग्रेस लगातार शराबबंदी के मुद्दे पर घिरी थी।

यह भी पढ़ें:- कांग्रेस पार्टी में ना दूल्हा है ना बाराती: डिप्टी CM अरुण साव

इससे पहले PCC चीफ ने भाजपा सरकार पर आहता टेंडर में अनियमितता का आरोप लगाया था। बैज ने कहा था कि बीजेपी वाले 5 साल तक शराबबंदी की बात करते थे, लेकिन आज शराब के नाम पर घोटाला कर रहे हैं। शराब दुकानों के आहता के लिए एक ही ईमेल ID से 69 टेंडर भरे गए। प्रधानमंत्री मोदी से लेकर कार्यकर्ता तक सभी ने शराब को लेकर सवाल उठाए थे, लेकिन शराबबंदी करने के बजाय चुनाव से पहले सिर्फ आरोप-प्रत्यारोप किया। एक तरफ शराब का रेट बढ़ाना और दूसरी तरफ अहाता की शुरुआत करना। भाजपा खुली साजिश के साथ आहता खोल रही है। भाजपा शराब के बदले जनता की गाढ़ी कमाई खाना चाहती है। (CG Congress on Prohibition)

सरकार ने शराबबंदी को लेकर सिर्फ बयानबाजी की: शुक्ला

कांग्रेस संचार प्रमुख सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने शराबबंदी को लेकर सिर्फ बयानबाजी की है। शराबबंदी को लेकर कोई विचार-विमर्श नहीं किया। अब भ्रष्टाचार करने के उद्देश्य से बड़े पैमाने पर घोटाले किए जा रहे हैं। एक ही ईमेल ID से दर्जनों टेंडर डाले गए हैं, जो स्वीकृत भी हो गए हैं। इस पूरे मामले की जांच की जानी चाहिए। इस पर डिप्टी CM अरुण साव ने पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि घर-घर शराब पहुंचाने का काम कांग्रेस पार्टी ने किया। छत्तीसगढ़ को शराब का घर बनाया। अब उन्हें इस तरीके का प्रश्न उठाने का अधिकार नहीं है। (CG Congress on Prohibition)

उनके बिछाए जाल में हम फंसने वाले नहीं: नेताम

वहीं कैबिनेट मंत्री रामविचार नेताम ने कहा कि कांग्रेस चाहती है कि हम उनके बिछाए जाल में हम फंस जाए, लेकिन हम फंसने वाले नहीं है। शराब के टेंडर का एक तय समय सीमा है। कांग्रेस वाले तो यही चाहते हैं कि नियम विरुद्ध कार्य हो और वे कोर्ट से स्टे ले आएं, लेकिन हमारी सराकर नियम से ही काम करेगी। भाजपा प्रवक्ता अमित साहू ने भी PCC चीफ दीपक बैज के शराबबंदी की मांग वाले बयान पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि शराबबंदी का वादा कांग्रेस की सरकार ने किया था, लेकिन शराबबंदी नहीं की। भाजपा ने जो वादे किए हैं। साय सरकार उसे पूरा कर रही है। (CG Congress on Prohibition)

Related Articles

Back to top button