महंगाई के मुद्दे पर कांग्रेसियों ने किया केंद्र की मोदी सरकार को बेनकाब

Whatsaap Strip

रायपुरः कांग्रेस प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि महंगाई बढ़ने के लिए कोई प्राकृतिक कारण (natural causes) नहीं है. इसके लिए केंद्र सरकार की नीतियां जिम्मेदार(Central government policies responsible) हैं. इस मौके पर उनके साथ पीसीसी अध्यक्ष मोहन मरकाम भी मौजूद रहे.

इसी भी पढ़े:कार्तिक पूर्णिमा कल: मां लक्ष्मी को प्रसन्न करना है तो न करें ये गलतियां

कांग्रेस प्रदेश कार्यालय राजीव भवन में आयोजित कार्यक्रम में पीसीसी अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा कि महंगाई को लेकर जनजागरण अभियान (public awareness campaign) पूरे छत्तीसगढ़ में चलाया जा रहा है. केंद्र की मोदी सरकार के 7 वर्षो में महंगाई आसमान छू रही है.

इधर, पीएल पुनिया ने कहा कि 10 रुपये एक्ससाइज ड्यूटी (excise duty) कम करने पर भी कई राज्यों में प्रति लीटर पेट्रोल-डीजल की कीमतें 100 रुपये से ज्यादा हैं. हर चीजों की कीमतें बढ़ रही हैं. यूपीए सरकार (UPA Government) की तुलना में मोदी सरकार के कार्यकाल में महंगाई अधिक बढ़ी.

नोटबंदी से अर्थ व्यवस्था हुआ डांवाडोल

नोटबन्दी से अर्थ व्यवस्था (Economy) डगमगाई, जो अब तक पटरी पर नहीं आ सकी. यूपीए सरकार में एक्ससाइज ड्यूटी पेट्रोल में 9 रुपये 30 पैसे थी, अब 23 रुपये 28 पैसे है. इसी तरह डीजल में यूपीए सरकार के समय एक्ससाइज ड्यूटी 3 रुपये 46 पैसे थी जो अब बढ़कर 28 रुपये 37 पैसे है. उन्होंने कहा कि यूपीए सरकार अपने कार्यकाल में साल भर में 99 हजार करोड़ एक्ससाइज ड्यूटी वसूल करती थी.

इसे भी पढ़े:वनांचल से लेकर शहरों तक सशक्त बन रहीं महिलाएं

जबकि एनडीए सरकार 4 लाख 91 हजार करोड़ रुपये प्रति प्रतिवर्ष वसूल कर रही है. पिछले 7 सालों में केंद्र सरकार ने 25 लाख करोड़ रुपये एक्ससाइज ड्यूटी वसूल किये. केंद्र सरकार (central government) कोरोना काल में भी एक्ससाइज ड्यूटी (excise duty) से पैसे वसूलते रही. कच्चे तेल की कीमतें कम होने पर भी पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ते गए.

खिसकती जमीन बचाने में जुटी भाजपा

इस मौके पर कांग्रेस प्रदेश प्रभारी ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत के छत्तीसगढ़ दौरे पर तंज कसा है. उन्होंने कहा कि आरएसएस को लग रहा है कि भाजपा की जमीन खिसक रही है, इसलिए सक्रिय हुए है.

अपने तीन दिवसीय प्रवास पर छत्तीसगढ़ पहुंचे कांग्रेस प्रभारी पीएल पुनिया ने मदकूद्वीप में होने वाले कार्यक्रम के मद्देनजर सर संघचालक मोहन भागवत के छत्तीसगढ़ दौरे पर कहा कि आरएसएस राजनीतिक दल की तरह से पूरा जोर लगाए हुए है.

 इसे भी पढ़े:सरकार की दूरदर्शी नीतियों की वजह से छत्तीसगढ़ में खेती-किसानी बेहतर स्थिति में : सीएम भूपेश बघेल

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत नवंबर को एकदिवसीय छत्तीसगढ़ दौरे पर आ रहे हैं. भागवत रायपुर से करीब 80 किलोमीटर दूर बिलासपुर के पास मदकूद्वीप में एक कार्यक्रम में शामिल होंगे. कार्यक्रम में 100 से अधिक घोस वर्ग के स्वयंसेवक पूर्ण गणवेश में प्रदर्शन करेंगे.

Related Articles