दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने राष्ट्रपति को लिखी चिट्ठी , कंगना रनौत से पद्मश्री वापस लेने की मांग , विवादित बयान के बाद निशाने पर एक्ट्रेस

Whatsaap Strip

नई दिल्ली : भारत को ‘भीख में मिली आजादी’ वाला बयान देकर विवादों में घिरीं बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत से पद्मश्री वापस लेने की मांग जोर पकड़ती जा रही है। इसी कड़ी में अब दिल्ली महिला आयोग (डीसीडब्ल्यू) की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को एक चिट्ठी लिखी है। स्वाति मालीवाल ने मांग की है कि अभिनेत्री कंगना रनौत को दिया गया पद्मश्री पुरस्कार वापस लिया जाना चाहिए।

इसे भी पढ़े:मंत्री प्रेमसाय सिंह कल 3 दिवसीय जनजातीय क्राफ्ट मेला का करेंगे शुभारंभ

दरअसल कंगना ने पद्मश्री मिलने के बाद यह कहकर विवाद पैदा कर दिया था कि भारत को “असली आजादी” 2014 में मिली और 1947 में देश को “भीख” मिली थी। बता दें कि साल 2014 में नरेंद्र मोदी देश के प्रधानमंत्री बने थे। मालीवाल ने अपने पत्र में लिखा कि अभिनेत्री ने “देश के स्वतंत्रता सेनानियों का अपमान करते हुए बयान दिया।” आयोग की अध्यक्ष ने रनौत के विरुद्ध राजद्रोह का मामला दर्ज करने की भी मांग की।

उन्होंने लिखा कि इन बयानों से पता चलता है कि उनके अंदर शहीद भगत सिंह, राजगुरु, सुखदेव और महात्मा गांधी जैसे हमारे अनेक स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के प्रति कितनी घृणा भरी हुई है, जिन्होंने देश के लिए अपनी जान दे दी।

इसे भी पढ़े:रविवि के हॉस्टल जल्द होंगे शुरू : स्टूडेंट्स की शिकायत पर रायपुर कलेक्टर ने दिए हॉस्टल शुरू करने के निर्देश, 2019 से हैं बंद

हम सबको पता है कि हमारे महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के बलिदान के कारण हमें ब्रिटिश राज से आजादी मिली।

Related Articles