Trending

राशिफल मंगलवार 12 अक्टूबर 2021 : सुखी जीवन के लिए करें यह उपाय, क्या कहती हैं आपकी राशि, जानें अपना राशिफल

Whatsaap Strip

राशिफल मंगलवार 12 अक्टूबर 2021 एवं सुखी जीवन के उपाय : 12 अक्टूबर 2021, दिन-मंगलवार। तिथि-सप्तमी तिथि। नक्षत्र –मूलचन्द्र। राशी – धनुराशी। व्रत -पर्जन्य सप्तमी, सरस्वती पूजा। कार्य सिद्ध सफल योग – 11:23 तक। मूल-11:23 तक।

राशिफल मंगलवार 12 अक्टूबर 2021

मेष राशि   – चू,चे,चो, ला, ली, लू, ले, लो, अ. 

परिवार के बड़ों, पिता के लिए दिन उत्तम नहीं है। संतान की प्रगति होगी, एवं उससे सुख शांति प्रतिष्ठा प्राप्त होगी। कार्य विशेष प्रयास के उपरांत ही सफल होंगे। अंतिम रूप से प्रयासों के परिणाम आपके पक्ष में होंगे। इसलिए यदि ऐसी कोई योजना हैजिसका तत्काल फल नहीं चाहिए तो प्रारंभ करने के लिए अति उत्तम दिन है।  आर्थिक दृष्टि से सामान्य दिन है। विशेष रूप से पारिवारिक सुख एवं रोजगार में सामान्य रूप से अच्छी स्थिति रहेगी।

वृष राशि  –  , ,, , वा,वी, वू,वे, वो. 

आज का दिन किसी भी महत्वपूर्ण कार्य के लिए उपयोगी सिद्ध होना कठिन है। शारीरिक कष्ट की संभावना अधिक है। अधिक सक्रियता या भागदौड़ करना  उचित नहीं होगा। मानसिक रूप से भी अपेक्षा के अनुकूल फल प्राप्त नहीं होने से कष्ट हो सकता है। आर्थिक दृष्टि से कमजोर दिन हैं। राजनीतिक एवं जनप्रतिनिधियों के लिए सफलता संदिग्ध है। कार्य की अधिकता रहेगी एवं विवाद की स्थिति भी बन सकती है।

यह भी पढ़ें : अंधविश्वास की हद पार! मरे हुए इंसान को जिंदा करने घरवालों ने 16 घंटों तक किया ये काम

मिथुन राशि   – का, की, कू,,,,के, को, ह. 

प्रेम संबंधों में स्थायित्व  आएगा। दांपत्य साथी  के द्वारा आपके  सुखों का सृजन किया जाएगा। रोजगार में अनुकूल स्थितियां रहेंगी। आज का काम कल पर छोड़ना उचित सिद्ध नहीं होगा। यश प्रतिष्ठा एवं स्वास्थ्य उत्तम रहेंगे। आर्थिक दृष्टि से उपयोगी दिन सिद्ध हो सकता है। नए कार्यों के लिए भी अच्छा दिन है।

कर्क राशि  – ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू,डे,डो. 

जनप्रतिनिधियों के लिए उत्तम दिन है। कोई कार्रवाई अपने विरोधियों के  विरुद्ध करना सफलता प्रद सिद्ध हो सकता है। मनोबल अच्छा रहेगा। उदर कष्ट संभव है। मामा पक्ष से लाभ होगा। रिश्तेदार सहयोग करेंगे। रोजगार एवं व्यापार में अनुकूल स्थितियां रहेंगी। खर्च की योजना बन सकती है। दिन प्रसन्नता पूर्ण रहेगा। “यात्रा, व्यय, विवाद, जोखिम के कार्य एवं मीटिंग, परामर्श लंबित/स्थगित रखिए या अतिरिक्त सूझबूझ से समय निकालिए।

सिंह राशि  – मा, मी,मू,मे,मो,टा,टी, टू, टे. 

विद्या पठन-पाठन एवं चिंतन में दिन व्यस्त हो सकता है। बच्चों की ओर से कोई जिम्मेदारी उत्तरदायित्व प्राप्त हो सकता है। प्रतियोगिता में सफलता मिलेगी। नए निर्णय लाभदायक सिद्ध होंगे। किसी से महत्वपूर्ण सहयोग मिलने की कोई संभावना नहीं है। इसलिए कोई आवेदन या महत्वपूर्ण कार्य अगर स्थगित किया जा सकता है तो करना चाहिए। व्यापार में लाभ होगा। रोजगार में कार्य की अधिकता रहेगी।

कन्या राशिटो,,पी, पू,,,,पे, पो. 

स्थाई संपत्ति से संबंधित  भवन वाहन आदि की कोई समस्या अथवा उस पर व्यय होगा। परिवार की बड़ी स्त्रियों के लिए दिन उत्तम नहीं है। मां के स्वास्थ में बाधा उत्पन्न हो सकती है। रोजगार में अनपेक्षित स्थितियां परेशान करेंगी। व्यापार में लाभ की संभावना कम है। जनप्रतिनिधियों के लिए दिन उपयोगी सिद्ध नहीं होगा।

यह भी पढ़ें : खराब जीवनशैली कम कर सकती है आपकी उम्र ,जानिए इससे बचने के उपाय

तुला राशि  – रा, री, रू,रे, रो, ता,ती, तू, ते. 

आज का दिन भी बहुत महत्वपूर्ण है। आराम के स्थान पर कार्य को महत्व देकर शीघ्र निष्पादन करना आपके लिए लाभदाई रहेगा। किसी भी प्रकार कोई काम कल पर टालना उचित नहीं होगा। आर्थिक स्थिति उत्तम रहेगी। नए निर्णय लाभदायक सिद्ध होंगे। सफलता के योग उत्तम है। प्रसन्नता का वातावरण रहेगा। आमोद प्रमोद पर व्यय हो सकता है।

वृश्चिक राशि  –  तो, ना, नी,नू,ने, नो, या, यी,यू. 

आपके द्वारा पूर्व योजना के अनुरूप कार्य होना कठिन है। नए कार्यों में प्रगति संदिग्ध है। व्यापार में स्थिति अच्छी रहेगी। पारिवारिक सुख में कमी होगी। यात्रा योग या व्यस्तता योग बनते हैं। मार्केटिंग शॉपिंग नहीं करना उचित होगा। आवश्यक कार्यों मेंही अपना ध्यान रखें। अधिक वार्तालाप से बचने का प्रयास करें।

धनु राशि ये, यो, ,भी, भू, ,,,भे. 

स्वास्थ्य उत्तम रहेगा। मनोबल अच्छा रहेगा। ससमाचार एवं यश प्रतिष्ठा पूर्ण दिन है। आर्थिक स्थिति ठीक रहेगी। रोजगार में सफलता मिलेगी। नए कार्य करने के लिए  उपयोगी नहीं है ,परंतु दिन प्रसन्नता पूर्ण व्यतीत होगा। उपयोगी अपेक्षित समाचार मन को प्रसन्न करेंगे। प्रिय व्यक्तियों से मिलना हो सकता है।  दांपत्य एवं प्रेम संबंध की दृष्टि से उत्तम दिन है।

मकर राशि –  भो,जा, जी, खी,खू,खे, खो, ,गी. 

आकस्मिक रूप से अथवा घरेलू कामकाजी के लिए खर्च करना पड़ेगा। यात्रा योग हैं। जनप्रतिनिधियों के लिए व्यस्तता का दिन रहेगाजिसके परिणाम आगे अच्छे मिलेंगे। आज तात्कालिक रूप से  किसी लाभ की कोई संभावना नहीं है। वाद-विवाद या उपदेश देने  से बचना उत्तम होगा। किसी भी प्रकार का कोई नया निर्णय या महत्वपूर्ण हस्ताक्षर या टीप देने से बचना चाहिए। यदि संभव हो तो अधिक से अधिक निष्क्रिय या दिन को टालना उचित होगा।

कुंभ राशि  – गू, गे,गो, सा, सी, सू,से, सो, द.   

महत्वपूर्ण कार्यों के लिए दिन उत्तम नहीं है। प्रत्येक क्षेत्र में परिणाम आपके पक्ष में जाएंगे। नए कार्य को करने या अपनी योजना पर विचार स्थगित रखना उचित होगा। आर्थिक सामाजिक एवं राजनीतिक तीनों स्थितियों में दिन आपके लिए उपयोगी सिद्ध होगा। उपदेश सलाह या मार्गदर्शन देना उपयोगी सिद्ध नहीं होगा। पुराने प्रयासों के अच्छे परिणाम सामने आएंगे।

मीन राशि  – दी, दू,,,,दे, दो, चा,ची 

माह के सर्वश्रेष्ठ दिनों में से एक सिद्ध हो सकता है। कार्यों को सर्वोच्च प्राथमिकता के आधार पर संपन्न करने का प्रयास करें। पद प्रतिष्ठा व्यापार की दृष्टि से दिन उत्तम है। आपके उत्तरदायित्व या अधिकार शक्ति बढ़ेगी। अपने अधिकारों का अधिक से अधिक प्रयोग करना लाभदायक सिद्ध होगा। कोई योजना या मीटिंग आदि के लिए दिन विशेष उपयोगी नहीं है।

यह भी पढ़ें : फोन से आपकी जेब को हैक कर रहे हैकर, सावधानी ही बचाव का एकमात्र उपाय

सफलता के लिए तिथि मंत्र :-

ताड़ का फल खाने से रोग होते हैं एवं आवला, कटहल व्यंजन उत्पाद का प्रयोग नहीं करे। पूआ भोजन में शामिल करे। कार्य के पूर्व – चित्रभानु नामवाले भगवान सूर्यनारायण का पूजन करना चाहिएये सबके स्वामी एवं रक्षक हैं। ॐ चित्रभानवे नम। “ऊँ घृणि सूर्याय नम:।” ऊँ आदित्याय विदमहे दिवाकराय धीमहि तन्नो सूर्यः प्रचोदयत।। मिथुन, कर्क राशी वाले बाधा नाश के लिए उपाय अवश्य करे।

दिन उपाय :

अङ्गारक, भौम, मङ्गल, कुज ॐ वीरध्वजाय विद्महे विघ्नहस्ताय धीमहि तन्नो भौमः प्रचोदयात्॥ आपो ज्योति रसोंमृतम ,परो रजसे सावदोम।

केतु :

ॐ अश्वध्वजाय विद्महे शूलहस्ताय धीमहि तन्नः केतुः प्रचोदयात्॥ ॐ चित्रवर्णाय विद्महे सर्परूपाय धीमहि तन्नः केतुः प्रचोदयात्॥ ॐ गदाहस्ताय विद्महे अमृतेशाय धीमहि तन्नः केतुः प्रचोदयात्॥ ॐ क्रां क्रीं क्रौं सः भौमाय नमः।

जैन धर्म मंत्र :

ॐ ह्रीं णमो सिद्धाणं। ॐ ह्रीं मंगल ग्रहारिष्ट निवारक श्री वासु पूज्यजिनेन्द्राय नम। सर्व शांतिं कुरु कुरु स्वाहा। मम (..अपना नाम ) दुष्ट ग्रह रोग कष्ट निवारणं सर्व शांतिं कुरू कुरू हूँ फट् स्वाहा।

मंगल शीघ्र फलदायी :

भूमिपुत्रो महातेजा जगतां भयकृत् सदा।वृष्टि कृद् वृष्टि हर्ता च पीडां हरतु में कुज:।। भूमि के पुत्रमहान् तेजस्वीजगत् को भय प्रदान करने वालेवृष्टि करने वाले तथा वृष्टि का हरण करने वाले मंगल (ग्रहजन्य) मेरी पीड़ा का हरण करें ।। ब्रह्माण्डपुराण

वेद मन्त्र भौम :

ॐ अग्निमूर्धा दिव: ककुत्पति: पृथिव्या अयम्।

अपां रेतां सि जिन्वति।। (यजु. 312)

शाबर मन्त्र

ओम गुरूजी मंगलवार मन कर बन्दा,जन्ममरण का कट जावे फन्दा। जन्म मरण का भागेकार,तो गुरू पावूं मंगलवार। मंगलवार।

भारद्वाज गोत्र, रक्त वर्ण दस हजार जाप अवन्तिदेश।दक्षिण स्थान त्रिकोण मंडल तीन अंगुल, वृश्चिक मेष राशि के गुरूको नमस्कार। सत फिरे तो वाचा फिरे। पान फूल वासना सिंहासन धरै। तो इतरो काममंगलवार जी महाराज करे। ओम फट् स्वाहाll

सफलता के लिए – नक्षत्र कृत अरिष्ट नाशक मंत्र

सभी देवताओं और पितरों की भक्तिपूर्वक पूजा करने से मानव स्वर्ग में अचलरूप से निवास करता है और पूर्वोक्त फलों को प्राप्त करता है। ॐ पितृगणाय विद्महे जगत धारिणी धीमहि तन्नो पितृो प्रचोदयात्. ॐ देवताभ्य: पितृभ्यश्च महायोगिभ्य एव च। नम: स्वाहायै स्वधायै नित्यमेव नमो नम:।

(राशिफल मंगलवार 12 अक्टूबर 2021)

Related Articles