नरवा योजना ने संवारी कई ग्रामीणों की जिंदगी, जमीन को बनाया उपजाऊ – CMभूपेश बघेल

Whatsaap Strip

रायपुर छत्तीसगढ़ न्यूज : नरवा विकास योजना से वनवासियों के उत्थान के साथ ही वन संवर्धन के कार्यो को काफी मजबूती मिली है। इसके साथ ही वन आश्रितों को आगे बढ़ने का अच्छा मौका मिला है।

छत्तीसगढ़ के वनक्षेत्रों में जल की उपलब्धता की दृष्टि से नरवा विकास योजना वनवासियों के लिए कारगर साबित होगी। इस योजना की राष्ट्रीय स्तर पर सराहना की जा रही है। यह बातें मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर स्थित अपने निवास कार्यालय में वीडियो कान्फ्रेंसिंग के दौरान कही।

भू-जल संरक्षण

मुख्यमंत्री भूपेश सोमवार को कैम्पा मद से नरवा विकास योजना के अंतर्गत वर्ष 2021-22 के लिए 392 करोड़ 26 लाख रुपये की स्वीकृत राशि के 37.99 लाख भू-जल संरक्षण संबंधी संरचनाओं का भूमिपूजन करने के बाद कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि इसके तहत छत्तीसगढ़ वनांचल स्थित एक हजार 962 नालों में भू-जल संरक्षण संबंधी विभिन्न संरचनाओं का निर्माण होगा। इससे क्षेत्र के 8 लाख 17 हजार हेक्टेयर भूमि उपचारित होगी।

यह भी पढ़ें : ऑनलाइन गेम की ऐसी लत लगी, बच्चे ने फैमिली को ही रियल गेम में फंसा डाला, पढ़िए पूरी खबर

छत्तीसगढ़ में नरवा विकास योजना

मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि छत्तीसगढ़ मेंनरवा विकास योजना शुरू होने के बाद से अब तक बड़े पैमाने पर काम हो चुका है। यहां जल संरक्षण की दिशा में जो काम हो रहे हैं, इसकी सराहना राष्ट्रीय स्तर पर हो रही है। नरवा विकास कार्यक्रम के शुरूआती चरण में वर्ष 2020 में बिलासपुर और सूरजपुर जिले को नेशनल वाटर अवार्ड से सम्मानित किया जा चुका है।

यह भी पढ़ें : अंधविश्वास की हद पार! मरे हुए इंसान को जिंदा करने लिए घरवालों ने किया 16 घंटों तक ये काम

इस मौके पर मुख्य सचिव अमिताभ जैन, अपर मुख्य सचिव सुब्रत साहू, प्रमुख सचिव वन मनोज पिंगुआ, प्रधान मुख्य वन संरक्षक राकेश चतुर्वेदी और संजय शुक्ला और कैम्पा समिति से जीएस धनंजय, पंकज बांधव, वशिउल्ला शेख, लक्ष्मी साहू, एम सूरज के अलावा कैम्पा के मुख्य कार्यपालन अधिकारी व्ही श्रीनिवास राव उपस्थित रहे।