तीसरी लहर का सामना करने नई रणनीति, इन जगहों में कोरोना जांच के बिना नहीं मिलेगी एंट्री

Whatsaap Strip

रायपुर। छत्तीसगढ़

देशभर में लगातार कोरोना के तीसरे लहर का खतरा बना हुआ है। जिसे देखते हुए छत्तीसगढ़ में भी कोरोना जांच के दायरे को बढ़ा दिया गया है। रायपुर के बूढ़ा गार्डन के गेट पर कोरोना टेस्ट को अनिवार्य कर दिया गया है। गेट में कोरोना जांच करवाने के बाद ही लोगों को अंदर जाने दिया जा रहा है।

इसके साथ ही रायपुर के और प्रमुख स्थानों जैसे जंगल सफारी, गढ़कलेवा, अनुपम गार्डन, गाँधी गार्डन और तेलीबांधा तालाब में भी एंट्री से पहले कोरोना टेस्ट की तैयारी की जा रही है। इस सुविधा के बाद टेस्ट में जिनकी कोरोना जांच की रिपोर्ट नेगेटिव होगी केवल उन्हें ही इन जगहों पर एंट्री दी जाएगी।

छत्तीसगढ़ सरकार के आदेश के अनुसार जल्द ही निजी और सरकारी अस्पतालों में भी मरीजों के आने पर उनका अनिवार्य रूप से कोरोना जांच किया जायेगा। छत्तीसगढ़ के सार्वजनिक स्थानों जैसे आक्सीजोन और सांस्कृतिक भवन में भी कोरोना जांच का नया सिस्टम लागू करने की तैयारी चल रही है। शहर में इन नियमों को लागू करके कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने का प्रयास किया जायेगा। इन नए नियमों के जरिये हर रोज़ 4500 से अधिक कोरोना जांच के टारगेट की उम्मीद की जा रही है।