सुनीति चन्द्राकर का जीवन गायत्री परिवार के विचारों को जन-जन तक पहुंचाने समर्पित रहा : चन्दूलाल साहू

Whatsaap Strip

राजिम । गरियाबंद 

गरियाबंद जिले की आओ गढ़े, संस्कारवान पीढ़ी की जिला संयोजिका सुनीति चन्द्राकर का आकस्मिक निधन 22 अगस्त को गया था। उनके निधन पर आज गायत्री शक्ति पीठ राजिम में श्रद्धांजलि सभा का रखी गई थी। उक्त श्रद्धांजलि सभा में गरियाबंद, धमतरी व महासमुन्द जिले से गायत्री परिवार के लोग पहुंचे थे।

गायत्री परिवार के विचारों को जन-जन तक पहुंचाने में लगाया

श्रद्धांजलि सभा में महासमुन्द लोकसभा के पूर्व सांसद चन्दूलाल साहू ने कहा, जन्म और मृत्यु ईश्वर के हाथ में हैं। हम सभी को इस संसार में अपने कर्म के साथ जाना व पहचाना जाता हैं। सुनीति चन्द्राकर का जीवन बहुत ही सादगी से युक्त था। उन्होंने अपना पूरा जीवन गायत्री परिवार के विचारों को जन-जन तक पहुंचाने में लगा दिए। उनके द्वारा आओ गढ़ें, संस्कारवान पीढ़ी के तहत उल्लेखनीय कार्य किये हैं। आज वे हमारे बीच में नही हैं। यह बहुत ही दुःखद हैं। हमें ऐसा मानकर चलना होगा, उनका जीवन इतना समय तक के लिए था। वे गुरुदेव के शरण में जाकर हमारे बीच सूक्ष्म रूप में सदैव साथ रहेंगे। भगवान उनको मोक्ष प्रदान करें। इस दुःख की घड़ी में पूरे परिवार को सहने की शक्ति प्रदान करें, ऐसी वेदमाता गायत्री से प्रार्थना करता हूँ।

श्रद्धांजलि सभा में मिलेश्वरी साहू पूर्व अध्यक्ष नपा गरियाबंद, महेश यादव, टीकम राम साहू जिला संयोजक गायत्री परिवार, मनहरण साहू उपजोन समन्वयक, जी.आर. लोधी, के.के. निर्मलकर, अनुराधा साहू शांतिकुंज, चंद्रलेखा गुप्ता मुख्य ट्रस्टी राजिम, केशव साहू, भगवती देवांगन, दिलेश्वर देवांगन, डेहर पटेल, के.के. शर्मा, नीलकंठ चन्द्राकर, रविकांत चन्द्राकर, अशोक साहू पत्रकार रायपुर, भगत चन्द्राकर, कुमुदिनी चन्द्राकर, रूखमणी बंछोर, संतोष साहू, पवन गुप्ता, संतराम ध्रुव, बलराम साहू, दौवाराम कुंभकार, केशर निर्मलकर, जगदीश अग्रवाल आदि उपस्थित होकर पुष्पांजलि अर्पित किए।

परम पूज्य गुरुदेव उन्हें अपनो चरणों में स्थान प्रदान करें

सुनीति चन्द्राकर के पति रोमन चन्द्राकर ने श्रद्धांजलि सभा में उपस्थित गायत्री परिवार के सदस्यों के प्रति आभार व्यक्त किये। उन्होंने बताया सुनीति का स्वास्थ्य कुछ समय से ठीक नही था। रक्षा बंधन के दिन अपने भाइयों के कलाइयों में रक्षा सूत्र बांधे, बेटियों को उनकी जिम्मेदारियों को अवगत कराकर वे हम सभी से विदा होकर चले गए। सूक्ष्म रूप में वे सदैव हम सबके साथ रहेंगे। परम पूज्य गुरुदेव उन्हें अपने चरणों में स्थान प्रदान करें। मंच का संचालन जिला समन्वयक युवा प्रकोष्ठ गायत्री परिवार के पुरुषोत्तम यादव ने किया।