त्रिपुरा में कांग्रेस के अंदरूनी कलह दूर करने की जिम्मेदारी अब टी. एस. सिंहदेव को, छाया हुआ है दलबदल का संकट

Whatsaap Strip

रायपुर। छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव आज शाम त्रिपुरा और पश्चिम बंगाल की दो दिन की यात्रा के लिए रवाना हो गए हैं। बता दें कि त्रिपुरा में कांग्रेस पर दलबदल का संकट छाया हुआ है। ऐसे में एआईसीसी ने इस संकट के मोचन के लिए सिंहदेव को वहां जाने को कहा है। मिली जानकारी के अनुसार सिंहदेव को त्रिपुरा कांग्रेस का प्रभार दिया गया है।

गौरतलब है कि 2023 में त्रिपुरा विधानसभा में भी चुनाव होने जा रहा है। त्रिपुरा जो दशकों तक वाम राजनीति का गढ़ था, अब भाजपा शासित राज्य बन गया है। त्रिपुरा में अभी ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस सक्रिय हुई है। कहा जा रहा है, कि मुकुल राय को त्रिपुरा अभियान का प्रभारी बनाया जाएगा।

स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने मीडिया को बताया कि “पता चला है कि भाजपा और तृणमूल कांग्रेस के लोग कांग्रेस के लोगों को प्रभावित करने की कोशिश कर रहे हैं। एआईसीसी की ओर से उन्हें वहां की यथास्थिति की जानकारी लेने और पार्टी नेताओं को जरूरी सहयोग देने को कहा गया है।’ आगे सिंहदेव ने कहा, “अविनाश पाण्डेय वहां जा रहे हैं, उनके साथ मुझे भी जाने को कहा गया है।’ स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव आज शाम की नियमित उड़ान से कोलकाता रवाना हो गए हैं। रात को वे कोलकाता में ही रुकने वाले हैं। वे स्थानीय नेताओं से मुलाकात और चर्चा करने वाले हैं।

कल सुबह वे अगरतला पहुंचेंगे तत्पश्चात वहां उनकी प्रदेश कांग्रेस नेताओं के साथ बैठक होगी। वे वरिष्ठ नेताओं और कार्यकर्ताओं से अलग-अलग चर्चा करने वाले हैं। रात में वे अगरतला में ही रुकने वाले हैं फिर मंगलवार की सुबह वे दिल्ली पहुंचेंगे। वहां दिल्ली में भी उनकी पार्टी नेताओं से मुलाकात का कार्यक्रम रखा गया है।

Related Articles