Balodabazar : स्पंज आयरन प्लांट के विरोध में ग्रामीणों ने किया चक्काजाम

Balodabazar : जिला मुख्यालय से 8 कि.मी. दूर बलौदाबाजार-बिलासपुर मुख्यमार्ग पर स्थित ग्राम खजुरी में अनिमेष पॉवर प्लांट द्वारा स्पंज आयरन प्लांट लगाए जाने के विरोध में ग्रामीणों ने सोमवार 10 जून को सुबह 9 बजे से शाम 6 बजे तक चक्काजाम कर धरना प्रदर्शन एवं भूख हड़ताल की।

ग्रामीणों का आरोप है कि स्पंज आयरन प्लांट से खजुरी समेत आस-पास के 10 से 12 गांव सीधे तौर पर प्रभावित होंगे, जिससे वायु और जल प्रदूषण के साथ विभिन्न बीमारियां फैल सकती हैं। ग्रामीणों का कहना है कि प्लांट से निकलने वाली धूल और धुएं से पर्यावरण नष्ट हो जाएगा और उनकी कृषि भूमि बंजर हो जाएगी। प्लांट के नजदीक स्थित सोनबरसा जंगल के वन्य जीवों पर भी इसका प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा।

यह भी पढ़े :- छत्तीसगढ़-बलौदा बाजार पहुंचे IG और कमिश्नर, ‘सामाजिक सौहार्द बिगाड़ने वालों पर होगी कार्रवाई’

शिवनाथ नदी, जो प्लांट के पास बहती है, भी प्रदूषित हो जाएगी। ग्रामीणों और संयंत्र प्रबंधन के बीच प्लांट न लगाने को लेकर पिछले 6-7 सालों से कानूनी लड़ाई चल रही है। ग्रामीणों ने प्रशासनिक अधिकारियों पर संयंत्र प्रबंधन से मिलीभगत का आरोप लगाया है। उनका कहना है कि बिना जनसुनवाई और बिना ग्रामीणों की सहमति के अवैध तरीके से प्लांट का निर्माण कार्य जारी है।

ग्रामीणों ने बताया कि उन्होंने लोकसभा 2024 चुनाव का बहिष्कार भी किया था, लेकिन बाद में प्रशासन ने जांच का भरोसा देकर और अवैध निर्माण कार्य पर रोक लगाकर उन्हें मतदान के लिए मना लिया था। लेकिन चुनाव समाप्त होते ही संयंत्र प्रबंधन ने फिर से निर्माण कार्य शुरू कर दिया।

इससे नाराज ग्रामीणों ने 5 जून को जिलाधीश को आवेदन देकर चेतावनी दी थी कि अगर कोई कार्रवाई नहीं हुई, तो वे 10 जून से चक्काजाम, धरना प्रदर्शन और भूख हड़ताल करेंगे। सोमवार को खजुरी समेत आस-पास के गांवों के सैकड़ों लोग, जिसमें महिलाएं और बच्चे भी शामिल थे, तपती धूप में मुख्य मार्ग पर बैठकर विरोध प्रदर्शन किया। (Balodabazar )

शाम को प्रशासन ने बलवा हो जाने का हवाला देकर ग्रामीणों को धरना स्थल से बिना किसी आश्वासन के हटा दिया। लेकिन ग्रामीणों का कहना है कि उनका प्रदर्शन तब तक जारी रहेगा जब तक उन्हें न्याय नहीं मिल जाता। उन्होंने चेतावनी दी है कि अब वे बिना प्रशासन को सूचना दिए चक्काजाम करेंगे और सड़कों पर बैठने को मजबूर होंगे। ग्रामीणों ने स्पष्ट किया है कि वे किसी भी कीमत पर अपने जल, जंगल, जमीन और जीवन के साथ खिलवाड़ नहीं होने देंगे। स्पंज आयरन प्लांट यहां नहीं लगेगा। (Balodabazar )

Related Articles

Back to top button