World Aids Day : लोगों को जागरूक करने 1 से 15 दिसंबर तक चलेगा एड्स जागरूकता पखवाड़ा

Whatsaap Strip

World Aids Day : राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अंतर्गत 1 से 15 दिसंबर तक विश्व एड्स दिवस (World Aids Day) के उपलक्ष्य में एड्स जागरूकता पखवाड़ा मनाया जाएगा। इस दौरान लोगों को एड्स के प्रति लोगों को जागरूक किया जाएगा। पखबाड़े के दौरान स्वास्थ्य विभाग एचआईवी एड्स को लेकर जागरूकता कार्यक्रम भी आयोजित करेगा। इसके साथ ही एआरटी सेंटर द्वारा भी एचआइवी पॉजिटिव मरीजों का उपचार करने के साथ ही उन्हें समाज की मुख्य धारा से जोड़ने के प्रयास पर जोर दिया जायेगा।

यह भी पढ़ें : India vs New Zealand : न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज में भारत की हार, बारिश की वजह से रद्द हुआ तीसरा मैच

World Aids Day : महिलाओं में जागरूकता बढ़ी

राज्य के एनएफएचएस-5 के आंकड़ों में यह बात सामने आई है, कि राज्य में पहले जहां 20 प्रतिशत महिलाए ही एचआईवी एड्स के बारे में जानती थी। वहीं अब 23 प्रतिशत महिलाओं को एचआईवी एड्स के बारे में पर्याप्त जानकारी है। इसके अतिरिक्त पहले 57 प्रतिशत महिलाएं ही जानतीं थीं कि शारीरिक संबंध के दौरान कंडोम के प्रयोग से एचआईवी एड्स से बचा जा सकता है। वहीं अब लगभग 76 प्रतिशत महिलाओं को इस बारे में पता है।

विश्व एड्स दिवस के बारे में सीएमएचओ डॉ. मिथिलेश चौधरी ने बताया, “रायपुर में एचआईवी पॉजिटिव लोगों को बेहतर उपचार देने के प्रयास किए जा रहे हैं। यह बीमारी और न बढ़े इसके लिए लोगों को जागरूक किया जा रहा है। इसीलिए अधिक से अधिक मरीजों का एचआईवी टेस्ट करके उनका रजिस्ट्रेशन एआरटी सेंटर में कराया जा रहा है, जिससे वह सही उपचार लेकर एक बेहतर जीवन जी सकें।“

क्या है एड्स

HIV यानि एड्स एक ऐसा वायरस है जो हमारी शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता को कम कर देता है। इससे तरह तरह की बीमारियां लोगों को जल्द ही घेर लेती हैं। इसी अवस्था को एड्स कहते हैं।

यह भी पढ़ें : नक्सली हमले में शहीद हुए जवान को दी गई अंतिम सलामी, सुकमा के निर्माणाधीन कैंप पर हुआ था हमला

सिरिंज से नशा भी बन रहा बड़ा कारण

इंजेक्शन से नशा करने वाले आपस में एक दूसरे पर प्रयोग की गई सिरिंज का उपयोग कर लेते हैं। जिससे उन्हें उस समय तो होश नहीं रहता। लेकिन उनकी इस लापरवाही से एचआईवी संक्रमण एक से दूसरे में जरूर पहुंच जाता है। ओएसटी (ओरल सबटीयूएड थेरेपी) सेंटर में ऐसे हजार से ज्यादा मरीजो का उपचार चल रहा है, जो बार बार संक्रमित सुई का उपयोग करते हैं। इनमें कई लोग एचआईवी संक्रमित भी हैं।

World Aids Day : यह है एचआईवी संक्रमण के मुख्य कारण

1. असुरक्षित यौन संबंध।
2. संक्रमित सुई का बार-बार उपयोग।