छत्तीसगढ़ कांग्रेस ने EVM पर फिर उठाए सवाल, साव ने कहा- लोकतंत्र को बदनाम कर रहे विपक्षी दल

Congress Question on EVM: देशभर में 6 चरणों के मतदान संपन्न हो चुके हैं। अंतिम चरण का मतदान 1 जून को होगा। वहीं 4 जून को नतीजे घोषित किए जाएंगे। इससे पहले छत्तीसगढ़ कांग्रेस ने फिर EVM यानी इलेक्ट्रोनिक वोटिंग मशीन पर सवाल खड़े किए हैं। PCC चीफ दीपक बैज ने कहा कि चुनाव आयोग को शक का समाधान करना चाहिए। सुप्रीम कोर्ट के वकील ने जनहित याचिका भी दाखिल की है। छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव के दौरान भी EVM की विश्वसनीयता पर सवाल उठे थे। वहीं अब मतदान के 10 से 12 दिन के बाद वोटिंग परसेंटेज बढ़ा बताया जा रहा है। ये देश की हर राजनीतिक पार्टी के लिए चिंता का विषय है। उन्होंने कहा कि मशीनें जमा होने के 24 घंटे के अंदर ही फाइनल वोटिंग प्रतिशत घोषित किया जाना चाहिए।

यह भी पढ़ें:- हार का ठीकरा खड़गे साहब पर फूटेगा: केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह

वहीं डिप्टी CM अरुण साव ने कांग्रेस के EVM पर सवाल उठाने को लेकर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि चुनाव की प्रक्रिया शुरू होने के साथ कांग्रेस ने हार का बहाना ढूंढ लिया। मतदान के अंतिम चरण के पहुंचने के साथ इंडी गठबंधन का सफाया होता दिख रहा है। EVM पर प्रश्न चिन्ह उठाने का काम कांग्रेस कर रही है। सर्वोच्च न्यायालय यानी सुप्रीम कोर्ट ने EVM को लेकर अपना स्पष्टीकरण दे दिया है। कांग्रेस और विपक्षी दल के लोग देश के लोकतंत्र को बदनाम करने का काम कर रहे हैं। (Congress Question on EVM)

प्रियंका और भूपेश बघेल भी उठा चुके हैं सवाल

इससे पहले कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा था कि या तो इन्होंने कुछ गड़बड़ पहले से कर रखी है कि इनको पता है कि इन्हें 400 पार मिलने वाले हैं. अगर देश में ऐसा चुनाव हो जिसमें EVM में कोई गड़बड़ न हो तो मैं दावे के साथ कह सकती हूं कि ये 180 से ज्यादा सीटें नहीं ले सकते, उससे भी कम सीटें लेंगे। वहीं पूर्व CM भूपेश बघेल ने भी EVM पर सवाल उठाए थे। उन्होंने कहा था कि छल-कपट के बल पर ही भाजपा चुनाव जीतती है। EVM न हो तो 400 पार का नारा देने वाले 40 सीट भी नहीं जीत सकेंगे। (Congress Question on EVM)

Related Articles

Back to top button