लापरवाही की हद पार! Co-vaccine की जगह लगा दिया रेबीज का टीका

Whatsaap Strip

महाराष्ट्र न्यूज : ठाणे में कालवा के आटकोनेश्वर स्वास्थ्य केंद्र में लापरवाही का एक बहुत बड़ा मामला सामने आया है, जहां एक शख्स कोविशील्ड वैक्सीन लगवाने के लिए आया था लेकिन उस पंक्ति में बैठ गया जहां ARV इंजेक्शन दिया जा रहा था। नर्स ने भी बिना उचित समझे वह बिना जांच किए उसे रेबीज का टीका लगा दिया।

शख्स को कोविड-19 की जगह गलती से रेबीज की वैक्सीन देने का मामला सामने आया है। लापरवाही का ये मामला सामने आने के बाद वैक्सीन की डोज लगाने वाली नर्स को निलंबित कर दिया गया है। नर्स ठाणे म्यूनिसिपल कॉरपोरेशन के लिए काम करती है।
ये घटना सोमवार को कालवा के आटकोनेश्वर स्वास्थ्य केंद्र में हुई।

यह भी पढ़ें : श्राद्ध (पितर) पक्ष : दानवीर कर्ण को मृत्यु के बाद श्राद्ध भोजन दान करना पड़ा, किसने किया था कर्ण का मृत्यु संस्कार, पढ़ें पौराणिक कथा

दरअसल राजकुमार यादव नाम का शख्स कोविशील्ड वैक्सीन लेने के लिए आया था लेकिन जानकारी नहीं होने से वह उस पंक्ति में बैठ गया जहां ARV इंजेक्शन दिया जा रहा था। इसके बाद टीका लगा रही कीर्ति पोपरे ने बिना राजकुमार यादव का केस पेपर देखे उसे रेबीज का वैक्सीन लगा दिया। इस मामले में ठाणे म्यूनिसिपल कॉरपोरेशन की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि वैक्सीन देने वाले की ये जिम्मेदारी थी कि वह टीका लगाने से पहले हर किसी का केस देखे।

यह भी पढ़ें : स्कूल प्रबंधन की शर्मनाक हरकत, हॉस्टल का बाथरूम गंदा होने पर लड़कियों की कपड़े उतरवाकर की जांच

नर्स की लापरवाही के कारण किसी व्यक्ति की जान को खतरा था। म्यूनिसिपल कॉरपोरेशन ने कहा, ‘इसलिए अनुशासनात्मक कार्रवाई के रूप में उसे निलंबित कर दिया गया है और इस कार्यकाल के दौरान उसे नागरिक मुख्यालय में रखा जाएगा।’

पहले भी आते रहे हैं ऐसे लापरवाही के मामले

कोविड वैक्सीन की जगह दूसरी वैक्सीन लगाने जैसे मामले पहले भी देश में आते रहे हैं। इसी साल अप्रैल में यूपी में कोविड वैक्सीन लगवाने आई तीन बुजुर्ग महिलाओं को रेबीज का टीका लगा दिया गया था।मामले का खुलासा तब हुआ जब एक महिला की तबीयत ज्यादा खराब हो गई। इसके बाद परिजनों ने हंगामा किया और बात चीफ मेडिकल अफसर के पास पहुंच गई।

यूपी के कानपुर में भी कोरोना टीकाकरण के दौरान लापरवाही का मामला कानपुर देहात जिले के मंडौरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में एक नर्स ने कथित तौर पर मोबाइल पर बात करते हुए एक महिला को कोविड-19 टीके की दो टीके एक साथ लगा दिए थे।

Related Articles