बलौदाबाजार जिला अस्पताल के कोविड प्रभारी डॉ. शैलेन्द्र साहू का हुआ निधन, पूरे शहर में शोक की लहर फैली

Whatsaap Strip

बलौदाबाजार । छत्तीसगढ़

जिला अस्पताल में पदस्थ कोविड प्रभारी डॉ. शैलेन्द्र साहू का आज निधन हो गया हैं। मिली सूचना के अनुसार कल शाम उनकी अचानक तबियत खराब हो गई। उनका कोविड जांच भी किया गया। जिसमें पॉजिटिव होने की पुष्टि हुई थी। आज सुबह 11 बजे के आसपास उनकी मौत की दुःखद सूचना आई हैं।

डॉक्टर शैलेन्द्र साहू की प्रारंभिक शिक्षा गरियाबंद में हुई।वे शुरू से ही शांतप्रिय व मेघावी छात्र थे। एक वर्ष उन्होंने वेटनरी डॉक्टर के तौर पर भी सेवाएं दी। उसके बाद आगे एमबीबीएस की पढ़ाई मेडिकल कॉलेज बिलासपुर में पूरी की। विगत पांच वर्षों से वे बलौदाबाजार जिले में अपनी सेवायें देते आ रहे थे। डॉक्टर साहू के निधन की ख़बर से गरियाबंद, बलौदाबाजार रायपुर सहित पूरे प्रदेश में शोक की लहर दौड़ गई हैं। उनके निधन से सभी स्तब्ध हैं।

डॉक्टर साहू का निधन अपूरणीय क्षति

जिला प्रशासन की ओर से डॉक्टर शैलेन्द्र साहू के निधन पर शोक प्रकट किया। डॉक्टर साहू का निधन अपूरणीय क्षति हैं। कोरोना महामारी में उन्होंने अपनी जिम्मेदारी को पूरी निष्ठा व ईमानदारी के साथ निभाया हैं। इस दुःखद घड़ी में पूरा प्रशासन परिवार के साथ हैं।

डॉ. साहू का निधन अत्यंत दुःखद : गौरीशंकर अग्रवाल

छत्तीसगढ़ विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष गौरीशंकर अग्रवाल ने डॉ. शैलेन्द्र साहू का निधन अत्यंत दुःखद कहा। उन्होंने कहा, डाक्टर साहू बलौदाबाज़ार हॉस्पिटल में भगवान के रूप में अपनी निरंतर सेवाएँ देते हुए हज़ारों लोगों को काल के मुँह से बाहर निकालने वाले सफल चिकित्सक थे। उनके निधन का समाचार सुनकर स्तब्ध हूँ। ईश्वर से प्रार्थना अपनी बनायी हुई अनुपम, अनमोल धरोहर को अपने श्रीचरणो में स्थान दें। परिवार सहित हम सभी स्नेहिजनो,शुभचिंतको को इस वज्राघात को सहने की शक्ति प्रदान करें।

हमारे जिले ने एक अमनोल हीरे को खो दिया : हितेन्द्र ठाकुर

बलौदाबाजार जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष हितेन्द्र ठाकुर ने डॉक्टर शैलेन्द्र साहू ने निधन पर दुःख प्रकट किए। उन्होंने कहा, न जाने कितनों लोगों को कोरोना बीमारी से बचाने वाले बलौदाबाजार जिला कोविड अस्पताल के प्रभारी डॉ. शैलेंद्र साहू जी का आकस्मिक निधन स्तब्ध करने वाला है। विगत दो साल से कोविड हॉस्पिटल में रात दिन कोरोना मरीजों की सेवा करने वाले युवा डॉक्टर का मरीजो के प्रति सेवा करने का जुनून और लगन उन्हें औरों से अलग स्थान देता था, तभी तो उनसे इलाज कराने वाले और ठीक होकर आए मरीज उन्हें किसी फरिश्ते से कम नहीं मानते थे। जिस समय अस्पतालों में बिस्तर की मारामारी थी, लोग भय और दहशत में थे। उस समय मरीजो की भर्ती के लिए फोन, मरीजो के परिजनों का लगातार फोन, अनजान लोगों से लगातार किसी भी समय फोन में बात कर सहजता से बिना झुंझलाये जवाब देना व उनका सरल व्यवहार कोरोना पीड़ितों व उनके परिजनों के लिए किसी संजीवनी से कम नहीं थे। आज उनके आकस्मिक निधन पर हमने हमारे जिले ने एक अमनोल हीरे को खो दिया है, जिसने कम उम्र में ही अपनी कर्तव्यपरायणता व सेवाभाव से “डॉक्टर को भगवान का दर्जा” जैसे शब्द को परिभाषित और सार्थक किया है। डॉ. शैलेन्द्र आप उन सभी कोरोना मरीजो के रूप में हमेशा जीवित रहोगे जिनको आपने स्वस्थ किया है।

डॉक्टर साहू ने सैकड़ो मरीजों को नवजीवन दिया : राकेश वर्मा

बलौदाबाजार जिले के कोविड प्रभारी डॉक्टर शैलेन्द्र साहू के निधन जिला पंचायत अध्यक्ष राकेश वर्मा ने दुःख जाहिर किये। उन्होंने कहा, जिला डेडिकेटेड कोविड सेंटर के चिकित्सक डॉ शैलेन्द्र साहू, जिन्होंने छोटी सी उम्र में रायपुर के AllMS से ट्रेनिंग कर बलौदाबाज़ार के शासकीय हॉस्पिटल में कोविड की दोनो लहर में सैकड़ो कोविड मरीजों को नव जीवन प्रदान किया। आज ऐसे भले सख्स को कोविड ने हमसे छीन लिया। संवेदना व्यक्त करने शब्द नही, आहत मन से सादर नमन, ईश्वर उनके परिजनों और शुभ चिंतकों को इस दुःख को सहने की क्षमता प्रदान करें।

अनमोल न्यूज24 परिवार की ओर से डॉक्टर शैलेन्द्र साहू को विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं। भगवान से प्रार्थना करते हैं  डॉक्टर साहू के पूरे परिवार को इस दुःखद घड़ी को सहने की शक्ति प्रदान करें। भगवान इस पुण्य आत्मा को अपने चरणों में स्थान प्रदान करें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.