छत्तीसगढ़ में 3 दिनों तक हिट वेव की चेतावनी, राजस्थान में लू के चलते 4 दिन के अंदर 33 लोगों की मौत

Heatwave Alert in Chhattisgarh: छत्तीसगढ़ में भीषण गर्मी के चलते लोगों का हाल-बेहाल है। इस बीच मौसम विभाग ने 28 से 30 मई तक 3 तीनों के लिए येलो अलर्ट जारी किया है। साथ ही 28 मई को रायपुर, बिलासपुर, दुर्ग, पेंड्रा, मुंगेली, राजनांदगांव, मोहला मानपुर, खैरागढ़, बालोद, बेमेतरा और कबीरधाम में हिट वेव की चेतावनी दी है। वहीं 29 और 30 मई को रायपुर, बिलासपुर और दुर्ग संभाग के सभी जिलों में हिट वेव को लेकर अलर्ट जारी किया गया है। 

यह भी पढ़ें:- छत्तीसगढ़ में बेमेतरा हादसे को लेकर राजनीति, डिप्टी CM साव ने कांग्रेस पर लगाया आरोप

बता दें कि भारत में गर्मी जानलेवा साबित हो रही है। दरअसल, उत्तर भारत भीषण गर्मी की चपेट में है। इस बीच हीटवेव के चलते राजस्थान में 4 दिनों के अंदर 33 लोगों की मौत हो गई है। देश में 25 मई से नौतपा की शुरुआत हुई है, जो 2 जून तक रहेगा। इस दौरान देश के कई हिस्सों में तापमान 49 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच सकता है। वहीं राजस्थान, हरियाणा, पंजाब, दिल्ली, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में तीन दिन बाद हीटवेव से राहत मिलने की संभावना है। मौसम विभाग के मुताबिक पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, राजस्थान में बिजली गरजने की संभावना है। जबकि जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में बारिश की संभावना जताई गई है। (Heatwave Alert in Chhattisgarh)

लू से इस तरह करें बचाव

लू से बचाव के लिए मुख्य लक्षण जैसे सिर में भारीपन और दर्द का अनुभव होने पर जरूर इलाज कराएं। तेज बुखार के साथ मुंह का सूखना, चक्कर और उल्टी आना, कमजोरी के साथ शरीर में दर्द होना, शरीर का तापमान ज्यादा होने के बावजूद पसीने का ना आना, ज्यादा प्यास लगना और पेशाब कम आना, भूख कम लगना, बेहोश होना लू लगने का प्रमुख कारण है, जिनके लक्षण दिखाई देने पर अपने नजदीकी स्वास्थ्य केंद्रों में इसका इलाज अवश्य कराएं। तेज धूप और गर्मी में ज्यादा देर तक रहने के कारण शरीर में पानी और खनिज मुख्यतः नमक की कमी होता है। लू से बचाव के लिए निम्न बातों को ध्यान में रखना चाहिए। अनिवार्य न हो तो घर से बाहर ना जावे, धूप में निकलने से पहले सर और कानों को कपड़े से अच्छी तरह से बांध लें। (Heatwave Alert in Chhattisgarh)

Related Articles

Back to top button