Trending

राशिफल बुधवार 27 अक्टूबर 2021 : सुखी जीवन के लिए करें यह उपाय, क्या कहती हैं आपकी राशि, जानें अपना राशिफल

Whatsaap Strip

राशिफल बुधवार 27 अक्टूबर 2021 एवं सुखी जीवन के उपाय : दान, मन्त्र, भोजन (उपाय मन्त्र  हिन्दू एवं जैन धर्म ) राशिफल 28 अक्टूबर 2021, कार्तिक कृष्ण पक्ष, वैदिक मास-उर्जा, शरद ऋतु, दक्षिणायन सूर्य, दिन- बुधवार। तिथि- सप्तमी। चन्द्र राशी –कर्क। व्रत- कार्तिक स्नान। कार्य सिद्ध सफल योग –09:42 तक। पंचक-नहीं, भद्रा –नहीं। प्राकृतिक प्रकोप योग -31 अक्टूबर से 30 नवम्बर तक तापमान में विगत 03 वर्षों की तुलना में माह में न्यूनता या गिरावट रहेगी।

“भविष्य-—11सितम्बर से मध्यनवम्बर तक  –“क’ “अ” “ग” “स” “र” “ल” अक्षर से प्रारंभ व्यक्ति, वस्तु, स्थान, संस्थान, प्रदेश, देश के लिए उत्तरोत्तर असुविधा, व्यय, कष्ट, आकस्मिक विपदा पूर्ण रहेगा। राशी एवं लग्न कोई हो प्रचलित नाम के प्रभाव होगे”

मंगल ग्रह प्रभाव -31अक्टूबरको मंगल ग्रह स्वाति  नक्षत्र में प्रवेश करेगा , इसके अनावृष्टि के प्रभाव,अग्नि दर्घटना  में वृद्धि प्रभाव  दृष्टिगोचर होंगे। 31 अक्टूबर तक- संगीत, नृत्य, अभिनय, शिल्प, कला, व्यवसाय से जुड़े वर्ग के लिए एवं ब्राह्मण  के लिए अशुभ  समय होगा।

यह भी पढ़ें : छत्तीसगढ़ : प्रदेश में जमकर होगी ठिठुरन, अल नीनो के चलते इस बार ज्यादा सताएगी ठंड

राशिफल बुधवार 27 अक्टूबर 2021

मेष राशि (Aries) – चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, अ.

सामान्य रूप से आज के दिन विशेष उपयोगी सिद्ध नहीं होगा। आर्थिक पक्ष कमजोर रहेगा। व्यस्तता एवं परेशानियां उत्पन्न होगी। आशा के अनुरूप कार्य सफलता नहीं मिलेगी। व्यापार एवं राजनीतिक क्षेत्र में स्थिति प्रतिकूल रहेगी। चिंता की स्थिति उत्पन्न हो सकती है।राजनेता, सुरक्षा, प्लानिंग, वर्ग हेतु, यात्रा, नए कार्य का शुभारंभ, महत्वपूर्ण दस्तावेज पर हस्ताक्षर, बैठक, विचार-विमर्श, या विवादास्पद मामलों मे सुझाव, उद्घोषणा आदि स्थगित रखना उचित होगा। विशेष-यात्रा, निदेश उपयोगी नहीं रहेंगे।

वृष राशि (Taurus) – ई, उ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो.

व्यापार में सफलता के उत्तम योग हैं। मनोबल अच्छा रहेगा। रुके हुए कार्यों की प्रगति से संतुष्ट होंगे। नए कार्य एवं निर्णय के लिए उत्तम दिन है। महत्वपूर्ण क्षेत्र में सफलता मिलेगी। व्यापार में लाभ की स्थिति रहेगी। विवाद एवं मुकदमें में विजय होगी। प्रयासों के परिणाम सुखद रहेंगे। विशेष-आज दिन मे बाधा कष्ट,असफलता का समय-07:35-10:00, 18:20-20:40 : बजे तक।

मिथुन राशि (Gemini) – का, की, कू, घ, ड, छ, के, को, ह.

नए समाचार या प्रिय आत्मीय से मिलन तथा सुखद स्थितियाँ आनंदित करेंगी। आर्थिक पक्ष कमजोर रहेगा। परिवारिक चिंता एवं कष्ट रहेगा रहेंगे। आशा के अनुरूप कार्य सरलता से पूर्ण नहीं होंगे। व्यापार में सफलता मिलेगी। रोजगार में स्थिति सामान्य रहेगी। अति उत्साह से कोई भी कार्य करना आज के दिन उचित नहीं रहेगा। विशेष- विशेष-यात्रा,निदेश उपयोगी नहीं रहेंगे।

कर्क राशि (Cancer) – ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो.

नए कार्य में सफलता मिलेगी। महत्वपूर्ण सूचनाएं मिलेंगी। राजनीतिक एवं सामाजिक वर्ग के लिए या जनप्रतिनिधि अथवा कंपनी प्रतिनिधि  के लिए विशेष दिन है। लंबी यात्रा स्थगित रखना उचित होगा। आर्थिक पक्ष उत्तम रहेगा। पारिवारिक सुख यथेष्ट है। नए निर्णय करना उचित रहेगा या नए कार्य हाथ में लिए जा सकते हैं। विशेष-आज दिन मे बाधा कष्ट, असफलता का समय-09:45-13:20 बजे तक।

सिंह राशि (Leo) – मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे.

सामान्य रूप से विजय एवं सफलता मिलेगी परंतु इसके लिए विशेष प्रयास करना होंगे। यात्रा के योग प्रबल है। आकस्मिक खर्च की प्रस्तुति बन सकती है। अनावश्यक विवाद से बचने का प्रयास करें। किसी भी प्रकार का मार्गदर्शन यह सुझाव देने से बचें। शारीरिक कष्ट में वृद्धि होगी या कार्य की अधिकता के कारण, दैनिक दिनचर्या मैं कठिनाई उत्पन्न होगी। विशेष-आज दिन मे बाधा कष्ट, असफलता का समय-13:10-14:40 बजे तक। विशेष- संध्या 19 बजे तक यात्रा, ,नए कार्य का शुभारंभ मनोनुकूल मिलना कठिन।

कन्या राशि (Virgo) – टो, प, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो.

प्रत्येक दृष्टि से सफलता के योग हैं। राजनीति एवं सामाजिक वर्ग के लिए श्रेष्ठ दिन सिद्ध होगा। महत्वपूर्ण विवाद में विजय मिलेगी। व्यापारिक लाभ की स्थिति श्रेष्ठ रहेगी। रुका हुआ धन मिलेगा या उपहार के सुयोग भी बनते हैं। नए निर्णय या नए दायित्व लेने के लिए उत्तम दिन है। रोजगार के क्षेत्र में भी सफलता प्राप्त होगी। विशेष-आज दिन मे बाधा कष्ट,असफलता का समय-13:20-14:50बजे तक।

तुला राशि (Libra) – रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते.

दैनिक गतिविधियों में सफलता मिलेगी। कार्य की प्रगति से प्रसन्नता होगी। उच्च अधिकारी वर्ग पर अच्छा प्रभाव रहेगा। बड़ों की कृपा मिलेगी। पद प्रतिष्ठा एवं अधिकार का भरपूर प्रयोग कर सकते हैं। यश एवं प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। नए कार्य प्रारंभ किये जा सकते हैं। उदर कष्ट संभव है। रोजगार,व्यवसाय मे आशा के अनुरूप सफलता की प्रबल संभावनाएं है। शत्रु वर्ग के विरुद्ध सफलता का उत्तम अवसर है। विवादास्पद मामलों मे प्रयासो के सुपरिणाम अवश्य ही मिलेंगे। विशेष-आज दिन मे बाधा कष्ट,असफलता का समय-13:10-14:40;एवं 16:20-18:25 बजे तक।

वृश्चिक राशि (Scorpio) – तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू.

परिवार के सदस्यों के कारण आकस्मिक वाद विवाद की स्थिति बनेगी। प्रत्येक कार्य में आशा के विपरीत रुकावट है दिखाई देगी। निर्णय करने के लिए विशेष उपयोगी दिन नहीं है। कोशिश करते रहने के परिणाम निश्चित रूप से उपयोगी सिद्ध होंगे। आर्थिक दृष्टि से भी दिन सामान्य है। विशेष-आज दिन मे बाधा कष्ट,असफलता का समय-18:10-20:45 बजे तक।

धनु राशि (Sagittarius) – ये, यो, भ, भी, भू, ध, फ, ढ, भे.

परिवार के सदस्यों के कारण आकस्मिक वाद विवाद की स्थिति बनेगी। प्रत्येक कार्य में आशा के विपरीत रुकावट है दिखाई देगी। निर्णय करने के लिए विशेष उपयोगी दिन नहीं है। कोशिश करते रहने के परिणाम निश्चित रूप से उपयोगी सिद्ध होंगे। आर्थिक दृष्टि से भी दिन सामान्य है। विशेष- संध्या 19 बजे तक यात्रा, नए कार्य का शुभारंभ मनोनुकूल मिलना कठिन। विशेष-आज दिन मे बाधा कष्ट, असफलता का समय-08:20तक;20:30-00:50 बजे तक।

मकर राशि (Capricorn) – भो, जा, जी, खी, खू, खे, खो, ग, गी.

आर्थिक रूप से दिन उत्तम व्यतीत होगा। आपकी यश प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। नए लोगों से मिलना होगा। दांपत्य सुख उत्तम रहेगा। मित्रों मित्रों से सहयोग मिलेगा। प्रेम संबंध बढ़ेंगे। नए कार्य आदि के लिए उत्तम दिन है। यश प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। सामाजिक या जनहित के कार्यों से जुड़े वर्ग के लिए विशेष उपयोगी दिन है। मीटिंग आदि के लिए भी अच्छे अवसर एवं सफलता की संभावनाएं हैं।विशेष-आज दिन मे बाधा कष्ट, असफलता का समय-07:50,22:50-00:50बजे तक।

कुंभ राशि (Aquarius)– गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, द.

विरोधियों पर विजय प्राप्त होगी। प्रतिकूल स्थितियों पर नियंत्रण स्थापित होगा। आशा के अनुरूपसफलताएं मिलेंगी। अच्छा समय का भरपूर उपयोग किया जाना उचित होगा। उदर कष्ट संभव है। मनोबल ऊंचा रहेगा। कार्य में सफलता मिलेगी। आर्थिक दृष्टि से उत्तम दिन है। विशेष- संध्या 19 बजे तक यात्रा, नए कार्य का शुभारंभ मनोनुकूल मिलना कठिन। विशेष- विशेष-यात्रा,निदेश उपयोगी नहीं रहेंगे।

मीन राशि (Pisces) – दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची.

परिवार के छोटो से अनावश्यक मतभेद की स्थिति बन सकती है।विवाद एवं विरोध की स्थिति से बचने का प्रयास करें। संतान पक्ष की ओर से चिंता होगी। व्यय आदि की संभावनाएं भी प्रबल है। प्रतियोगिता के क्षेत्र में सफलता मिलेगी। विद्या के लिए या ज्ञान के लिए दिन उत्तम है। आर्थिक रूप से कमजोर स्थितियां रहेंगी। नए कार्यों को हाथ में लेने से बचना उचित होगा एवं यात्रा को स्थगित रखना उपयोगी सिद्ध होगा।

यह भी पढ़ें : राजधानी में फिर हादसे के बाद कार में लगी आग, एक की मौत

नक्षत्र उपाय

अदिति की पूजा करनी चाहिए। पूजा से संतृप्त होकर वे माता के सदृश रक्षा करती हैं।

  1.  वि-वस्वानाय नम:। (सूर्य)
  2.  अर्यमाये नम:।
  3.  पूराये नम:।
  4.  त्वष्टाये ( विश्वकर्मा)।
  5.  सविताये नम:।
  6.  भगाये नम:।
  7.  धाताये नम:।
  8.  विधाताये नम:।
  9.  वरुनेभ्य नम:।
  10.  मित्राय नम:।
  11.  इन्द्राय नम:।
  12.  त्रिविक्रमाय ( वामन) नम:। पीतल दान करना चाहिए।

अदितीः पीतवर्णाश्च स्त्रुवाक्षकमण्डलून।
दधाना शुभदा मे स्यात पुनर्वसु कृतारव्या।।
नक्षत्र देवता मंत्र :-
अ) ॐ अदित्यै नमः।
आ)ॐ आदितिये नमः।
वेद मंत्र :
ॐ अदितिद्योर अदिति अन्तरिक्षम अदितिर्माता: स पिता स पुत्र:
विश्वेदेवा अदिति: पंचजना अदितिजातम अदितिर्रजनित्वम।
ॐ आदित्याय नम:। सुरक्षा हेतु।

तिथि-

नीम उत्पाद, (साबुन,तेलपत्तीफल या दातुन) प्रयोग वर्जित नीच योनियों की प्राप्ति होती है। तैलाभ्यंग, पितृकर्म, दातुन, आवागमन, काष्ठ-कर्म आदि कार्य वर्जित हैं। स्वर्ण जल भोजन में शामिल करे ।

ॐ तत्पुरुषाय विद्महे: महा सैन्या धीमहि तन्नो स्कन्दा प्रचोदयात’.

देव सेनापते स्कंद कार्तिकेय भवोद्भव। कुमार गुह गांगेय शक्तिहस्त नमोस्तु ते॥’

मंत्र-बुध ग्रह का गायत्री मंत्र-ओम सौम्यरूपाय विद्महे बाणेशाय धीमहि तन्नो बुध प्रचोदयात्। आपो ज्योति रस अमृतम। परो रजसे साव दोम।

जैन धर्म मंत्र- श्री विमलनाथ या श्री मल्लिनाथ भगवान का स्मरण करे-ॐ ह्रीं णमो उवज्झायाणं। ॐ ह्रीं बुधग्रह अरिष्टनिवारक-श्री मल्लिनाथ जिनेन्द्राय नम: सर्वशांतिं कुरुकुरु स्वाहा। मम (अपना नाम) दुष्ट ग्रह रोग कष्ट निवारणं सर्वशांतिं कुरू कुरू हूँ फट् स्वाहा।

Related Articles