दंतेवाड़ा में 10 नक्सली ने किया सरेंडर, अब तक 815 नक्सलियों ने डाले हथियार

Naxalite Surrender in Dantewada: छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले में लोन वर्राटू (घर वापस आइये) अभियान से प्रभावित होकर 4 नाबालिग समेत 10 नक्सलियों ने सरेंडर किया है। जिले में पुलिस की अपील का व्यापक असर देखने को मिल रहा है। सभी नक्सली इंद्रावती एरिया कमेटी में सक्रिय थे, जो नक्सली बंद के दौरान रोड खोदने, पेड़ काटने और बैनर-पोस्टर लगाने जैसी घटनाओं में शामिल थे। लोन वर्राटू अभियान के तहत अब तक 180 इनामी समेत 815 नक्सली समाज के मुख्यधारा में लौट चुके हैं। 

यह भी पढ़ें:-  यात्रियों से भरी बस खाई में गिरी, हादसे में 28 लोगों की मौत, 22 यात्री घायल

सरेंडर करने वाले सभी नक्सली नारायणपुर जिले के रेखावाया गांव के रहने वाले हैं। बता दें कि दंतेवाड़ा पुलिस ने जून 2020 में लोन वर्राटू अभियान की शुरुआत की थी, जिसका असर लगातार देखने को मिल रहा है। दंतेवाड़ा SP गौरव राय ने बताया कि सभी नक्सली दक्षिण बस्तर क्षेत्र में काम करते थे। पुलिस के मुताबिक घर वापसी करने वाले नक्सलियों में ज्यादातर जनता सरकार मिलिशिया के सदस्य थे। SP ने बताया कि आत्मसमर्पण करने पर सभी नक्सलियों को 25-25 हजार रुपए की सहायता राशि दी गई है। साथ ही सरकार की नीति के मुताबिक उनका पुनर्वास किया जाएगा। (Naxalite Surrender in Dantewada)

33 नक्सलियों ने किया था सरेंडर

इससे पहले बीजापुर में इनामी समेत 33 नक्सलियों ने एक साथ सरेंडर किया था, जिसमें से 3 नक्सलियों पर 5 लाख का इनाम घोषित था। सरेंडर नक्सलियों में PLGA बटालियन नंबर-1, कंपनी नंबर- 1 और जनताना अध्यक्ष शामिल हैं, जो कई बड़ी नक्सल वारदातों में शामिल रहे हैं। सरेंडर करने वालों ने हार्डकोर नक्सलियों पर दबाव और प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है।बता दें कि सभी को 25-25 हजार की प्रोत्साहन राशि दी गई है।  इन सभी नक्सलियों ने छत्तीसगढ़ सरकार की पुनर्वास और आत्मसर्पण नीति से प्रभावित होकर सरेंडर किया है। (Naxalite Surrender in Dantewada)

बीजापुर में 109 नक्सलियों ने किया सरेंडर

सभी आत्मसमर्पित नक्सली संगठन में कार्यों की उपेक्षा, भेदभाव पूर्ण व्यवहार, प्रताड़ना, खोखली विचारधारा और आदिवासियों पर किए जा रहे अत्याचार से त्रस्त थे। इसलिए प्रदेश सरकार की आत्मसमर्पण नीतियों से वे प्रभावित हुए और भारत के संविधान पर विश्वास रखते हुए पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया। बता दें कि जिले में इस साल 189 नक्सलियों को गिरफ्तार किया गया है। जबकि 109 नक्सलियों ने सरेंडर किया है। गृहमंत्री विजय शर्मा ने नक्सलियों से अपील की है कि वे मुख्यधारा में लौट आएं। (Naxalite Surrender in Dantewada)

Related Articles

Back to top button