कवर्धा में खूनी संघर्ष के बाद धारा 144 लागू, झंडे को लेकर शुरू हुआ विवाद हिंसा में बदला

Whatsaap Strip

छत्तीसगढ़ न्यूज : छत्तीसगढ़ के कबीरधाम जिले के कवर्धा में रविवार को दो पक्षों के बीच हुए बवाल के (Kawardha) बाद आज भी तनावपूर्ण माहौल बना हुआ है। पूरा शहर छावनी में तब्दील हो गया है। जिले में धारा 144 लागू कर दी गई है। चप्पे-चप्पे पर पुलिस बल तैनात किया गया है। इसके साथ एक दिन के लिए शहर में स्कूल, कॉलेज,आंगनबाड़ी बंद कराने के साथ ही इंटरनेट भी बंद (Internet Ban) कर दिया गया है।

कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा ने शहर में धारा 144 लागू (Sec 144 Imposed) कर दी है।कवर्धा शहर की सभी दुकानें बंद रविवार देर शाम से ही बंद करा दी गई है।शहर के आदर्श नगर, दर्री पारा, नवाब मोहल्ला, रेवाबांध मोहल्ले में बैरियर लगाकर बाहरी लोगों के आवागमन पर प्रतिबंध रखा गया है। दरअसल पूरा मामला कवर्धा सिटी कोतवाली अंतर्गत लोहारा नाका का है।

यह भी पढ़ें: फांसी के फंदे पर झूला रेलवे कर्मचारी, सुसाइड से पहले पत्नी से फोन पर की थी बात

जहां त्यौहारी सीजन के चलते दो अलग-अलग समुदाय के लोग चौक- चौराहे को सजा रहे है। इसी दौरान शहर के लोहारा नाका चौक के डिवाइडर में अपना-अपना हक जताने और झंडा लगाने की बात को लेकर दो पक्षों के बीच बहस शुरू हो गई।

दोनों पक्षों की ओर से जमकर बरसाए गए लाठी-डंडे

देखते ही देखते यह बहस मारपीट में बदल गई।जिसके बाद युवक बड़ी संख्या में सड़कों पर लाठी-डंडे लेकर उतर आए।एक-दूसरे को जमकर पीटा।इसके अलावा युवकों ने एक-दूसरे पर पत्थर भी बरसाए।इसके बाद मामले को बिगड़ता देख दुर्ग IG कवर्धा पहुंचे। चार जिलों से पुलिस बल बुलाकर माहौल शांत कराया गया।

मारपीट में करीब 8 लोग हुए घायल

इस मारपीट में 8 लोग घायल हो गए। इनका इलाज कवर्धा के अस्पताल में कराया जा रहा है। वहीं शहर में अब भी तनाव का माहौल है, जिसको देखते हुए शहर भर में पुलिस गस्त कर रही है।वहीं अभी शहर में धारा 144 लागू की गई है, जिसे आने वाले दिनों में बढ़ाया जा सकता है।

सोशल मीडिया पर भड़काऊ पोस्ट करने वाले पर होगी कार्रवाई

इस बैठक में जिले के कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा, एसपी और एडीजी विवेकानंद सहित जिले के प्रमुख अधिकारी और नगर के सभी समाज प्रमुख के लोग उपस्थित थे। जिला प्रशासन ने वर्तमान में सोशल मीडिया में किसी धर्म विशेष के प्रति फेक न्यूज और भड़काऊ पोस्ट करने वालों पर कार्रवाई की भी बात कही है।

यह भी पढ़ें: अगर आप भी खुद का घर खरीदना चाहते हैं तो ये है सुनहरा मौका, जानिए कैसे ले सकते हैं लाभ

कैसे शुरू हुआ था विवाद

दरअसल रविवार की दोपहर कुछ लोगों ने शहर के वार्ड नंबर 27 के लोहारा नाका चौक पर अपना झंडा लगा दिया था। इस बात से अन्य समुदाय को आपत्ति थी।जिसे लेकर दोनों गुटों के लोगों ने सड़क पर लाठी-डंडे लेकर उत्पात मचाया था।दोनों ही गुटों में दमकर मारपीट और यहां तक की पत्थरबाजी भी हुई। इस मारपीट में 8 लोगों को गंभीर चोटें आई हैं।

Related Articles