Shikshakon Par Karyawahi: छात्र के साथ मारपीट करने पर गणित के शिक्षक बर्खास्त, प्रधान पाठक भी निलंबित

Whatsaap Strip

Shikshakon Par Karyawahi: कवर्धा कलेक्टर जनमेजय महोबे के त्वरित संज्ञान और जांच में आई रिपोर्ट के आधार पर पंडरिया विकासखंड के लडुवा गांव में संचालित मुख्यमंत्री पब्लिक स्कूल में कार्यरत गणित के शिक्षक विष्णु पाटिल को तत्काल बर्खास्त कर दिया है। बता दें कि स्कूल में गणित शिक्षक द्वारा होमवर्क नहीं करने पर वहां की बच्ची को सजा के तौर पर पीटने की शिकायत मिली थी। कलेक्टर महोबे ने घटना की जानकारी मिलते ही जिला शिक्षा अधिकारी राकेश पांडेय को जांच करने के निर्देश दिए थे। जिला जिला अधिकारी द्वारा इस संबंध में संबंधित मुख्यमंत्री पब्लिक स्कूल पहुंच कर पूरे घटनाक्रम की जांच की। जांच सही पाई गई। जांच के बाद स्कूल मैनेजर और डिप्टी रिजनल आफिसर प्रशांत कुमार द्वारा तत्काल प्रभाव से शिक्षक विष्णु पाटिल को बर्खास्त कर दिया गया है। (Shikshakon Par Karyawahi)

बच्चों की पिटाई करने वाला प्रधान पाठक निलंबित

कोरबा में नशे में धुत होकर बच्चों की पिटाई करने वाले प्रधान पाठक को निलंबित कर दिया गया है। कलेक्टर संजीव झा ने प्रधान पाठक के संबंध में प्राप्त शिकायत पर तत्काल संज्ञान लेते हुए मामले की जांच कर कार्रवाई करने के निर्देश दिए थे। कलेक्टर के निर्देश उपरांत पूरे मामले की जांच के बाद प्रधान पाठक के संबंध में प्राप्त शिकायत सही पाए जाने पर प्रधान पाठक छत्रपाल सिंह को निलंबित कर दिया गया है। विकासखंड पाली अंतर्गत प्राथमिक शाला साजाबहरी के प्रधान पाठक छत्रपाल सिंह द्वारा नशे में धुत होकर स्कूल पहुंचने और पढ़ाई करने वाले बच्चों की शरीर पर निशान बनने तक पिटाई करने की शिकायत प्राप्त हुई थी। (Shikshakon Par Karyawahi)

यह भी पढ़ें:- Medical College Par Jurmana: छात्रों से अतिरिक्त शुल्क वसूलने पर कार्रवाई, इस मेडिकल कॉलेज पर 3 लाख का जुर्माना

विकासखंड शिक्षा अधिकारी पाली द्वारा प्राप्त प्रतिवेदन अनुसार ग्राम वासियों के द्वारा बार-बार समझाने के बावजूद भी प्रधान पाठक के व्यवहार में कोई परिवर्तन नही हुआ है। जो कि कर्तव्य के प्रति घोर अनुशासनहीनता को दर्शाता है। प्रधान पाठक को छत्तीसगढ़ सिविल सेवा नियम के तहत निलंबित किया गया है। निलंबन अवधि में उनका मुख्यालय कार्यालय विकासखंड शिक्षा अधिकारी कटघोरा नियत किया गया है। निलंबन अवधि में नियमानुसार उन्हे जीवन निर्वाह भत्ते की पात्रता होगी। (Shikshakon Par Karyawahi)

Related Articles