Tiranga Abhiyan: हमर तिरंगा अभियान सफलतापूर्वक पूरा, मुख्यमंत्री ने प्रदेशवासियों से की ये अपील

Whatsaap Strip

Tiranga Abhiyan: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ के नागरिकों से अपील की है कि हमर तिरंगा अभियान के सफलतापूर्वक समापन के बाद वे अब अपने-अपने घरों, दुकानों, संस्थानों में फहराए गए राष्ट्रीय ध्वज को सम्मान से उतारकर और समेटकर जतनपूर्वक रख लें, ताकि उचित अवसर पर ध्वज को फिर फहराया जा सके। CM बघेल ने कहा है कि स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ पर 11 से 17 अगस्त तक प्रदेश में स्वतंत्रता सप्ताह का आयोजन किया गया था।

यह भी पढ़ें:- Acharya Chanakya Ki Niti: इन कामों को करने के बाद कभी न भूलें नहाना, आचार्य चाणक्य के मुताबिक मिल सकते हैं बुरे परिणाम

इस सप्ताह के दौरान प्रदेशवासियों ने हमर तिरंगा अभियान में उत्साह के साथ भाग लिया और अपने-अपने घरों, दुकानों, संस्थानों में राष्ट्रीय ध्वज फहराकर राष्ट्रीय एकजुटता का परिचय दिया। उन्होंने इस अभियान की सफलता के लिए प्रदेशवासियों को बधाई दी है। CM बघेल ने कहा है कि हमर तिरंगा अभियान अब पूरा हो चुका है। मेरी सभी से अपील है कि अब वे राष्ट्रीय ध्वज को सम्मान उतार कर और समेट कर जतन से रख लें, ताकि उचित अवसर पर इसका फिर से उपयोग किया जा सके। जो झंडे किसी कारणवश फट गए हों, उनका सम्मान निस्तारण किया जाना आवश्यक है।

स्वतंत्रता दिवस की 75वीं वर्षगांठ में खादी की रही अहम भूमिका

छत्तीसगढ़ में स्वतंत्रता दिवस की 75वीं वर्षगांठ पर खादी की अहम भूमिका रही है। स्वतंत्रता दिवस के 75वें वर्षगाठ के उपलक्ष्य में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी खादी और चरखे के स्वतंत्रता संग्राम में योगदान को संज्ञान में लेकर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत सहित मंत्रीमंडल के सदस्यों ने खादी वस्त्र धारणकर ध्वजारोहण किया। गौरतलब है कि स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त 2022 के लिए विशेष तौर पर स्थानीय कत्तिनों और बुनकरों द्वारा हाथ से खादी वस्त्र तैयार किया गया। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की मंशा के अनुरूप ‘खादी एक वस्त्र नहीं अपितु विचारधारा है’ इसी संकल्पना को आगे ले जाते हुए खादी के महत्व को जन-जन तक पहुंचाने, खादी वस्त्रों के प्रचार-प्रसार और खादी के प्रति लोगों को जागरूक करने का उद्देश्य एक सराहनीय पहल है। (Tiranga Abhiyan)

Acharya Chanakya Ki Niti: इन कामों को करने के बाद कभी न भूलें नहाना, आचार्य चाणक्य के मुताबिक मिल सकते हैं बुरे परिणाम

बता दें कि ग्रामोद्योग मंत्री गुरू रूद्रकुमार के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ खादी और ग्रामोद्योग बोर्ड के अध्यक्ष राजेन्द्र तिवारी के मार्गदर्शन एवं विशेष प्रयासों से खादी बोर्ड द्वारा खादी वस्त्रों से लगभग 40 हजार राष्ट्रध्वज तैयार किया गया। प्रबंध संचालक छत्तीसगढ़ खादी और ग्रामोद्योग बोर्ड रेखा शुक्ला ने बताया कि स्थानीय स्तर पर विभिन्न स्व-सहायता समूहों और खादी, ग्रामोद्योग बोर्ड द्वारा वित्तपोषित इकाईयों के माध्यम से राष्ट्रध्वज तैयार कर सम्पूर्ण प्रदेश में भेजा गया। उन्होंने बताया कि निश्चित रूप से ऐसे प्रयासों से देश-विदेश में खादी को बढ़ावा मिलेगा। इससे अधिक से अधिक लोगों को खादी वस्त्र अपनाने के लिये भी प्रेरित करेगा, जिससे स्थानीय लोगों को अतिरिक्त रोजगार प्राप्त होगा। (Tiranga Abhiyan)

Related Articles