झोपड़ी पर पलटा बालू भरा ट्रक, एक ही परिवार के आठ लोगों की मौत

हरदोई जिले में मल्लावां कोतवाली क्षेत्र में उन्नाव मार्ग पर बालू भरा ट्रक अनियंत्रित होकर सड़क किनारे झोपड़ी पर पलट गया। घटना में झोपड़ी में सो रहे चार मासूम बच्चों समेत आठ लोगों की मौत हो गई। मृतकों में दंपती, उनके चार बच्चे और एक दामाद शामिल हैं। एक बच्ची घायल भी है। मल्लावां कस्बे में उन्नाव मार्ग पर चुंगी नंबर दो के पास सड़क किनारे नट बिरादरी के लोग सड़क किनारे झोपड़ी बनाकर रहते हैं। मंगलवार आधी रात के बाद कानपुर से हरदोई जा रहा बालू भरा ट्रक अनियंत्रित होकर सड़क किनारे अवधेश उर्फ बल्ला की झोपड़ी पर पलट गया। इसकी जानकारी पर पहुंची पुलिस ने स्थानीय लोगों और जेसीबी की मदद से ट्रक सीधा करने के बाद बालू हटवाई, लेकिन तब तक अवधेश उर्फ बल्ला (45), उसकी पत्नी सुधा उर्फ मुंडी (42), पुत्री सुनैना (11) , लल्ला(5) , बुद्धू (4), हीरो (22) उसका पति बिलग्राम कोतवाली क्षेत्र के कासुपेट निवासी करन (25) उसकी पुत्री कोमल उर्फ बिहारी (5) की मौत हो चुकी थी।

 

 

चालक और हेल्पर हिरासत में
अवधेश की एक पुत्री बिट्टू घटना में घायल हुई है। उसे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मल्लावां में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने ट्रक चालक बिलग्राम कोतवाली क्षेत्र के छिबरामऊ निवासी अवधेश और हेल्पर शहर कोतवाली क्षेत्र के अनंग बेहटा  निवासी रोहित को हिरासत में ले लिया है।

 

तीन घंटे तक लगा लंबा जाम
हादसे में हुई मौत की खबर जैसे ही लोगों को हुई, तो हर कोई घटनास्थल की ओर दौड़े जा रहा था। जैसे-जैसे बालू में दबे लोग बाहर निकल रहे थे। मौके पर मौजूद एम्बुलेंस उन लोगों को सीएचसी पहुंचा रही थी। घटनास्थल पर भारी भीड़ होने और मशीनों से रेस्क्यु किए जाने के दौरान करीब तीन घंटे तक हाइवे पर जाम लगा रहा। उन्नाव की ओर से आने वाले वाहनों को बड़े चौराहे पर बैरिकेट कर संडीला मेंहदीघाट की ओर डायवर्ट किया गया था। हरदोई की ओर से आने वाले वाहनों को घटनास्थल से एक किलोमीटर पहले रोक दिया गया था। ट्रक हटने के करीब तीन घंटे बाद यातायात सामान्य हो सका। 

Back to top button