Trending

बुधवार 10 नवम्बर 2021 : सुखी जीवन के लिए करें यह उपाय, क्या कहती हैं आपकी राशि, जानें अपना राशिफल

Whatsaap Strip

राशिफल बुधवार 10 नवम्बर 2021 एवं सुखी जीवन के लिए उपाय : दान, मन्त्र, वर्जित भोजन (उपाय, मन्त्र  हिन्दू एवं जैन धर्म) राशिफल 10 नवम्बर  2021, कार्तिक शुक्ल पक्ष, वैदिक मास-उर्जा, हेमंत ऋतु, दक्षिणायन सूर्य। दिन- बुधवार। तिथि- षष्ठी। चन्द्र राशी – मकर। व्रत/ पर्व- सूर्य षष्ठी। कार्य सिद्ध सफल योग – 15:41 तक। पंचक-नहीं। प्राकृतिक प्रकोप योग – मंगल एवं शुक्र, गुरु की स्थिति के कारण विगत 05 वर्षों की तुलना में आगामी मार्च तक शीत /ठण्ड (अधिकता) प्रकोप(रोग),एवं जनधन की हानि के योग बनेगे।

मंगल ग्रह प्रभाव -31 अक्टूबर को मंगल ग्रह स्वाति  नक्षत्र में प्रवेश करेगा। अग्नि, विस्फोटक, प्रयोग एवं दुर्घटना  में वृद्धि प्रभाव  होंगे। तेल एवं ज्वलनशील, केमिकल तथा पेट्रोल की कीमत मार्च अंत तक वृद्धि योग नहीं वरन कम ही होंगी।

यह भी पढ़ें : जनचौपाल में शिकायतों और समस्याओं को लेकर उमड़ी भीड़, कलेक्टर-एसपी ने की ग्रामीणों से मुलाकात

राशिफल बुधवार 10 नवम्बर 2021

मेष राशि (Aries) – चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, अ.

सामान्य रूप से आशा के अनुरूप प्रगति वाला नहीं रहेगा। प्रत्येक क्षेत्र में कुछ बाधाएं उपस्थित होंगी। किसी भी प्रकार का जोखिम लेना हानि प्रद सिद्ध हो सकता है। व्यापार में लाभ कीसंभावना कम है। यात्रा में कष्ट अतः वाहन चालन आदि में सावधानी लाभदायक सिद्ध होगी। जनप्रतिनिधियों के लिए उत्तम दिन नहीं है। विशेष रूप से पारिवारिक सुख एवं रोजगार में सामान्य रूप से अच्छी स्थिति रहेगी।

वृष राशि (Taurus) – ई, उ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो.

कार्यों की प्रगति से संतुष्टी नहीं मिलेगी। कनिष्ठ वर्ग का अपेक्षित सहयोग कठिन है। वे आपके इच्छा के अनुकूल कार्य परिणाम नहीं दे सकेंगे। परिवार के सदस्यों के कारण जनता एवं सुख बाधा की स्थिति बन सकती है। संतान पक्ष से भी परेशानी उत्पन्न हो सकती है। सामान्य रूप से दैनिक कार्यों में रोजगार एवं व्यापार में सफलता मिलेगी। कोई महत्वपूर्ण कार्य सफलता कठिन है।दिन सामान्य रहेगा उपयोगी सिद्ध होना नहीं कहा जा सकेगा।

मिथुन राशि (Gemini) – का, की, कू, घ, ड, छ, के, को, ह.

आशा के अनुरूप कार्य पूर्ण होते दृष्टिगोचर होंगे।सामाजिक आर्थिक स्थिति उत्तम रहेगी। जनप्रतिनिधियों के लिए सफलता का दिन है। स्वास्थ्य उत्तम रहेगा परंतु पेट से संबंधित कष्टकी संभावना बनी रहेगी। यात्रा का उद्देश्य पूर्ण होगा । विरोधियों के विरुद्ध कार्रवाई का उचित दिन है ।कनिष्ठ वर्ग एवं प्रतिकूल स्थिति के विरुद्ध आप करवाई  कर सकते हैं। मनोबल ऊंचा रहेगा।

कर्क राशि (Cancer) – ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो.

रोजगार में अनुकूल स्थितियां उत्पन्न होंगी। प्रेम या दांपत्य सुख में वृद्धि होगी ।विवाह से संबंधित कार्य की प्रगति संतोषप्रद रहेगी। रोजगार ,व्यापार में लाभ अपेक्षित होगा। राजनेताओं के लिए उत्तम दिन है। यात्रा का उद्देश्य पूर्ण होना कठिन है। नए कार्य में प्रगति होगी। आर्थिक स्थिति उत्तम रहेगी।

सिंह राशि (Leo) – मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे.

स्थाई संपत्ति से संबंधित भवन वाहन आदि की कोई समस्या अथवा उस पर व्यय होगा। परिवार की बड़ी स्त्रियों के लिए दिन उत्तम नहीं है। मां के स्वास्थ में बाधा उत्पन्न हो सकती है। रोजगार में अनपेक्षित स्थितियां परेशान करेंगी। व्यापार में लाभ की संभावना कम है। राजनीतिज्ञ, बिल्डर, भूमि व्यवसायी, कंपनी प्रतिनिधि, समाजसेवी एवं जनप्रतिनिधियों के लिए दिन उपयोगी सिद्ध नहीं होगा।

कन्या राशि (Virgo) – टो, प, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो.

सामान्य रूप से कल की तुलना में दिन उत्तम व्यतीत होगा, परंतु महत्वपूर्ण दिन नहीं कहा जा सकेगा। प्रयासों के परिणाम विलंब से ही सही परंतु आपके पक्ष में आएंगे। आर्थिक संकट या खर्च के योग प्रबल बन सकते हैं। वाद विवाद को टालना उचित होगा। नए कार्य हाथ में नहीं लें। वरिष्ठ एवं कनिष्ठ वर्ग से अपेक्षित सहयोग की संभावना कम है। जनप्रतिनिधियों के लिए दिन प्रतिकूल शारीरिक मानसिक दृष्टि से रहेगा। यात्रा, निर्णय, नए कार्य का शुभारंभ, महत्वपूर्ण हस्ताक्षर, बैठक, सम्बोधन, जन संपर्क या सुझाव, उद्घोषणा आदि के परिणाम संतोषप्रद नहीं होंगे।

तुला राशि (Libra) – रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते.

सामान्य रूप से कल की तुलना में दिन उत्तम व्यतीत होगा, परंतु महत्वपूर्ण दिन नहीं कहा जा सकेगा। प्रयासों के परिणाम विलंब से ही सही परंतु आपके पक्ष में आएंगे। आर्थिक संकट या खर्च के योग प्रबल बन सकते हैं। वाद विवाद को टालना उचित होगा। नए कार्य हाथ में नहीं लें। वरिष्ठ एवं कनिष्ठ वर्ग से अपेक्षित सहयोग की संभावना कम है। जनप्रतिनिधियों के लिए दिन प्रतिकूल शारीरिक मानसिक दृष्टि से रहेगा। यात्रा, निर्णय, नए कार्य का शुभारंभ, महत्वपूर्ण हस्ताक्षर, बैठक, सम्बोधन, जन संपर्क या सुझाव, उद्घोषणा आदि के परिणाम संतोषप्रद नहीं होंगे।

वृश्चिक राशि (Scorpio) – तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू.

उपयोगी दिन सिद्ध होगा। लाभदायक स्थितियां बनेंगी।व्यापारिक लाभ होगा। आर्थिक दृष्टि से उत्तम दिन है। महत्वपूर्ण लोगों से विचार–विमर्श हो सकता है। राजनीति राजनेताओं के लिए श्रेष्ठ दिन है। नए कार्य प्रारंभ किए जा सकते हैं। महत्वपूर्ण योजना बन सकती है। दिन भरपूर उपयोग करना भविष्य के लिए उपयोगी सिद्ध होगा। मानसिक एवं शारीरिक स्वास्थ्य उत्तम रहेगा। मनोबल अच्छा रहेगा। दिन का भरपूर उपयोग परामर्षद है। रोजगार व्यापार में कार्य कम होगा, सफलता अधिक मिलेगी।दिन कल की तुलनामे सुखद व्यतीत होगा।

धनु राशि (Sagittarius) – ये, यो, भ, भी, भू, ध, फ, ढ, भे.

उपयोगी दिन सिद्ध होगा। लाभदायक स्थितियां बनेंगी। व्यापारिक लाभ होगा। आर्थिक दृष्टि से उत्तम दिन है। महत्वपूर्ण लोगों से विचार–विमर्श हो सकता है। राजनीति राजनेताओं के लिए श्रेष्ठ दिन है। नए कार्य प्रारंभ किए जा सकते हैं। महत्वपूर्ण योजना बन सकती है। दिन भरपूर उपयोग करना भविष्य के लिए उपयोगी सिद्ध होगा। मानसिक एवं शारीरिक स्वास्थ्य उत्तम रहेगा। मनोबल अच्छा रहेगा। दिन का भरपूर उपयोग परामर्षद है। रोजगार व्यापार में कार्य कम होगा, सफलता अधिक मिलेगी।दिन कल की तुलनामे सुखद व्यतीत होगा।

मकर राशि (Capricorn) – भो, जा, जी, खी, खू, खे, खो, ग, गी.

आवश्यक खर्च के योग बने रहेंगे। बचत में कमी होगी। जोखिम के परिणाम उपयोगी सिद्ध नहीं होंगे। भागदौड़ या कार्य की अधिकता केकर्ण सुख आराम मे बाधा हो सकती है। कार्यों के परिणाम, अंतिम रूप से आपके पक्ष में रहेंगे। वाद विवाद से बचने का प्रयास करें।किसी कोकोई सलाह या ज्ञान देने के स्थान पर स्वयं कार्य निष्पादन करना उत्तम रहेगा।

कुंभ राशि (Aquarius)– गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, द.

व्यापारिक दृष्टि से उत्तम दिन है। लंबित कार्य पूर्ण होंगे। अल्प प्रयास से ही कार्य होने के योग हैं। प्रशासनिक वर्ग के लिए विशेष अनुकूल दिन प्रारंभ हो चुके हैं। उच्च अधिकारी वर्ग को अपनी योजना से अवगत कराकर उनकी कृपा प्राप्त की जा सकती है। कनिष्ठ वर्ग पूर्ण सहयोग करेगा। नए निर्णय यात्रा या नए अवसर के लिए विशेष अनुकूल है।

मीन राशि (Pisces) – दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची.

महीने के स्वर्णिम दिन प्रारंभ हो चुके हैं। प्रयास कर, पूर्ण योजना बनाकर, कार्यों को सर्वोच्च प्राथमिकता के आधार पर संपन्न करें। व्यापारिक दृष्टि से उत्तम दिन है। लंबित कार्य पूर्ण होंगे। अल्प प्रयास से ही कार्य होने के योग हैं। प्रशासनिक वर्ग  के लिए विशेष अनुकूल दिन प्रारंभ हो चुके हैं। उच्च अधिकारी वर्ग को अपनी योजना से अवगत कराकर उनकी कृपा प्राप्त की जा सकती है। कनिष्ठ वर्ग पूर्ण सहयोग करेगा। नए निर्णय यात्रा या नए अवसर कि यदि आप को तलाश है तो समय आपके लिए विशेष अनुकूल है। (राशिफल बुधवार 10 नवम्बर 2021)

यह भी पढ़ें : पांडव पंचमी मंगलवार 9 नवम्बर 2021 : पांडव पंचमी की जन्म पर्व कथा, किसने दिया था श्राप, पढ़ें यह लेख

सभी राशियों के लिए दिन मंगलप्रद बनाने के उपयोगी सुझाव

  •  वेद मंत्र उत्तराषाढा : ॐ विश्वे अद्य मरुत विश्वSउतो विश्वे भवत्यग्नय: समिद्धा: विश्वेनोदेवा अवसागमन्तु विश्वेमस्तु द्रविणं बाजो अस्मै।
  •  पौराणिक मंत्र : विश्वांदेवान् अहं वंदेषाढनक्षत्रदेवताम्l श्रीपुष्टिकीर्तीधीदात्री सर्वपापानुमुक्तयेl
  •  नक्षत्र देवता मंत्र : ॐ विश्वेभ्यो देवेभ्यो नमःl
  •  नक्षत्र मंत्र : ॐ उत्तराषाढाभ्यां नमःl
  •  बुध ग्रह की प्रसन्नता / कृपा के लिए उपाय : हरा धनिया या कच्चा दूध पीकर निकले। सर्व सिद्धिम,सफलताम च सर्व वान्छाम पूरय पूरय में नम:।
  •  सौभाग्य वृद्धिके लिए : स्नान जल मे नदी या तीर्थ जल, चावल, मोती शहद, जायफल, पिपरामुल, नदी या तीर्थ जल मिलाकर स्नान करे।
  •  बाधा मुक्ति के लिए दान : मूंग, हरा वस्त्र, हरी चूड़ी, पालक, फल कपूर।
  •  दान : कन्या, व्यापारी किन्नर को दे।
  •  घर से प्रस्थान पूर्व खाएं : मूंग, तिल, धनिया, दूध मे से कोई पदार्थ।। जिनका बुध अनुकूल हो वे दही Curd अवश्य ले सकते हैं।
  •  बुध गायत्री मंत्र : ओम सौम्यरूपाय विद्महे बाणेशाय धीमहि तन्नो बुध प्रचोदयात्। आपो ज्योति रस अमृतम। परो रजसे साव दोम।

जैन धर्म मंत्र : श्री विमलनाथ या श्री मल्लिनाथ भगवान का स्मरण करे। ॐ ह्रीं णमो उवज्झायाणं। ॐ ह्रीं बुधग्रह अरिष्ट निवारक-श्री मल्लिनाथ जिनेन्द्राय नम: सर्व शांतिं कुरुकु रु स्वाहा। मम (अपना नाम) दुष्ट ग्रह रोग कष्ट निवारणं सर्वशांतिं कुरू कुरू हूँ फट् स्वाहा।

बुध अशुभ ग्रह से सुरक्षा का मंत्र : उत्पात रूपो जगतां चन्द्रपुत्रो महाद्युति:। सूर्य प्रिय करो विद्वान् पीडां हरतु मे बुध:। जगत् में उत्पात करने वाले महान द्युति से संपन्न सूर्य का प्रिय करने वालेविद्वान तथा चन्द्रमा के पुत्र बुध मेरी पीड़ा का निवारण करें।। (ब्रह्माण्डपुराण)

षष्ठी तिथि उपाय : नीम उत्पाद (साबुन, तेल पत्ती फल या दातुन) प्रयोग वर्जित नीच योनियों की प्राप्ति होती है। तैलाभ्यंग, पितृकर्म, दातुन, आवागमन, काष्ठ-कर्म आदि कार्य वर्जित हैं। स्वर्ण जल भोजन में शामिल करे। ॐ तत्पुरुषाय विद्महे: महा सैन्या धीमहि तन्नो स्कन्दा प्रचोदयात’ देव सेनापते स्कंद कार्तिकेय भवोद्भव। कुमार गुह गांगेय शक्तिहस्त नमोस्तु ते॥’

नक्षत्र उपाय : विश्वेदेवों और भगवान विश्वेश्वर कि पुष्पादि द्वारा पूजा करने से मनुष्य सभी कुछ प्राप्त कर लेता है। ॐ विश्वेदेवाय नम। भोजन दान करना चाहिए।

Related Articles