हवाई सफर करने वाले यात्रियों को बड़ा झटका, कोरोना के बाद चौथी बार बढ़ा किराया

Whatsaap Strip

न्यूज़ डेस्क।

हवाई जहाज में सफर करने वाले यात्रियों को मंत्रालय ने एक बड़ा झटका दे दिया है। नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने हवाई किराये की निचली और ऊपरी सीमा में 9.83 से 12.82 प्रतिशत तक की वृद्धि की है। इन किरायों में बढ़ोतरी न्यूनतम और अधिकतम दोनों स्तरों में की गई है। टिकटों की बढ़ी हुई कीमतें शुक्रवार 13 अगस्त से लागू हो गई हैं।

जारी हुआ स्कूलों का वार्षिक कैलेंडर, इन महीनों में ली जाएंगी तिमाही और छमाही परीक्षाएं

किराए में बढोतरी के साथ ही केंद्र सरकार ने एयरलाइंस को 7.5 फीसदी अधिक घरेलू उड़ानें संचालित करने की अनुमति भी दी है। एयरलाइन कंपनियों की उड़ान क्षमता अब 65 फीसदी से बढ़कर 72.5 फीसदी हो गई है। कोविड की दूसरी लहर के दौरान देश के भीतर उड़ानों को पूर्व-कोविड स्तर के 80 फीसदी से घटाकर 50 फीसदी पर कर दिया गया था। अब ये 72.5 फीसदी हो गई है।

बलौदाबाजार जिले में प्लेसमेन्ट कैम्प का आयोजन 17 अगस्त को, 10 पदों के लिए होगी भर्ती

दिल्ली से मुंबई जाने के लिए पहले मिनिमम 4,700 रुपए किराया था। इस बढ़ोतरी के बाद यात्री को मिनिमम 5,287 रुपए देने होंगे। अगर मैक्सिमम किराए की बात करें तो पहले दिल्ली से मुंबई के लिए 13,000 रुपए देने होते थे जो अब ये बढ़कर 14,625 रुपए हो गए हैं।

देश को प्लास्टिक मुक्त करने 30 सितम्बर को लागू होंगे नियम, इन चीजों पर लगेगा बैन

कोरोना महामारी के बाद चौथी बार बढ़ा है किराया

कोरोना महामारी के दौरान नागरिक उड्डयन मंत्रालय लगातार हवाई किराये और हवाई श्रमता को रेग्युलेट करता आ रहा है। देश में कोरोना महामारी शुरू होने यानी मार्च 2020 के बाद ये अब तक हवाई यात्रा के लिए टिकटों की कीमतें चार बार बढ़ चुकी हैं। दो महीने पहले ही 21 जून को केंद्र सरकार ने घरेलू उड़ानों के किराए में 15 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी की थी।

पीएम मोदी की बहुप्रतीक्षित योजना वाहन स्क्रेपेज पॉलिसी लांच, जानें कैसे मिलेगा इससे लाभ

बढे हुए किराये पर सरकार ने कहा कि, लॉकडाउन के बाद विमानन कंपनियों को भरी नुकसान हुआ है। 25 मई 2020 को जब उड़ानें दोबारा शुरू की गई तो किराए की सीमा तय कर दी गई थी। अब इसमें बढ़ोतरी की गई है, क्योकि अब हवाई सफर नार्मल हो गया है।

Related Articles