स्वतंत्रता दिवस से एक दिन पहले मनाया जायेगा विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस, पीएम ने किया ऐलान

Whatsaap Strip

न्यूज़ डेस्क।

देशभर में स्वतंत्रता दिवस से एक दिन पहले 14 अगस्त को लोगों के संघर्षों एवं बलिदान की याद में विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस के रूप में मनाया जाएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को घोषणा करते हुए कहा कि देश के बंटवारे के दर्द को कभी भी भुलाया नहीं जा सकता।

हवाई सफर करने वाले यात्रियों को बड़ा झटका, कोरोना के बाद चौथी बार बढ़ा किराया

पीएम ने भारत-पाकिस्तान के बंटवारे के वक्त दंगों में मारे गए लोगों को याद किया। उन्होंने कहा- लाखों भाई-बहनों को अपनी जान गंवानी पड़ी थी। चाह कर भी इस दर्द को नहीं भुलाया जा सकता। उन्होंने कहा, भारत 14 अगस्त को विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस के रूप में मनाएगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस, “सामाजिक विभाजन, वैमनस्यता के जहर को दूर करने और एकता, सामाजिक सद्भाव और मानव सशक्तीकरण की भावना को और मजबूत करने की आवश्यकता की याद दिलाए।”

जारी हुआ स्कूलों का वार्षिक कैलेंडर, इन महीनों में ली जाएंगी तिमाही और छमाही परीक्षाएं

पीएम मोदी ने कहा, “देश के बंटवारे के दर्द को कभी भुलाया नहीं जा सकता। नफरत और हिंसा की वजह से हमारे लाखों बहनों और भाइयों को विस्थापित होना पड़ा और अपनी जान तक गंवानी पड़ी। उन लोगों के संघर्ष और बलिदान की याद में 14 अगस्त को ‘विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस’ के तौर पर मनाने का निर्णय लिया गया है। “

पीएम ने आगे कहा, #PartitionHorrorsRemembranceDay का यह दिन हमें भेदभाव, वैमनस्य और दुर्भावना के जहर को खत्म करने के लिए न केवल प्रेरित करेगा, बल्कि इससे एकता, सामाजिक सद्भाव और मानवीय संवेदनाएं भी मजबूत होंगी।” 

पीएम मोदी की बहुप्रतीक्षित योजना वाहन स्क्रेपेज पॉलिसी लांच, जानें कैसे मिलेगा इससे लाभ

बता दें कि 1947 में करीब 200 वर्षों के बाद अंग्रेज भारत छोड़कर गए। लेकिन इससे पहले उन्होंने उपमहाद्वीप को दो हिस्सों में बांट दिया। एक हिस्सा हिंदू बहुल भारत बना जबकि दूसरा मुस्लिम बहुल पाकिस्तान। इस दौरान बड़ी संख्या में लोगों ने अपने घर छोड़ कर बंटवारे के तहत निर्धारित मुल्कों की ओर रुख किया। कुछ भारत से पाकिस्तान गए तो कुछ पाकिस्तान से भारत आए। इस दौरान लाखों लोगों ने भड़के दंगों में अपनी जान गंवाई।

Related Articles