नक्सलियों का खातमा जरूरी, नहीं होना चाहिए फर्जी मुठभेड़: पूर्व CM भूपेश बघेल

Bhupesh Baghel on Naxalism: छत्तीसगढ़ में नक्सलवाद को लेकर फिर सियासत तेज हो गई है। इस बीच पूर्व CM भूपेश बघेल ने कहा कि गर्मी के दिनों में नक्सली घटनाएं लगातार बढ़ जाती है। हम भी चाहते हैं कि नक्सलियों का सफाया हो, लेकिन ग्रामीणों की जान की कीमत पर नहीं होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि फर्जी मुठभेड़ नहीं होना चाहिए। पूर्व CM ने कहा कि जवानों ने जो कार्रवाई की है उसकी मैं प्रशंसा करता हूं, लेकिन गांव के लोगों ने जो शिकायत की है उसके आधार पर कांग्रेस ने जांच टीम गठित की है, देखते हैं क्या होता है।

यह भी पढ़ें:- डिप्टी CM विजय शर्मा ने की सरेंडर नक्सलियों से बातचीत, कांग्रेस ने बताया शहीदों का अपमान

बता दें कि कुछ दिन पहले ही केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने छत्तीसगढ़ में नक्सल ऑपरेशन को लेकर साय सरकार की तारीफ की थी। साथ ही मुठभेड़ को फर्जी बताने को लेकर कांग्रेस पर निशाना साधा था। उन्होंने कहा था कि छत्तीसगढ़ में BJP सरकार आने के बाद 5 महीने के अंदर 112 नक्सली मारे गए। 475 से ज्यादा नक्सलियों ने सरेंडर किया। जबकि 153 नक्सलियों को गिरफ्तार किया गया, लेकिन कांग्रेस एनकाउंटर को फेक बताती है। जिसका बुरा समय आता है भगवान सबसे पहले उसकी मति हर लेता है। शायद कांग्रेस के साथ यही हुआ है। अगले दो-तीन सालों में देश नक्सलवाद से मुक्त होगा। (Bhupesh Baghel on Naxalism)

PCC चीफ दीपक बैज ने किया था पलटवार

इस पर छत्तीसगढ़ कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष दीपक बैज ने पलटवार किया था। उन्होंने कहा था कि जहां गलत होगा, वहां कांग्रेस सवाल उठाएगी। सवाल हम नहीं ग्रामीण उठा रहे हैं। फर्जी एनकाउंटर हम नहीं ग्रामीण कह रहे हैं। पीडिया मामले में ग्रामीण कह रहे हैं कि तेंदूपत्ता तोड़ने गए लोगों को मारा गया। शाह पर निशाना साधते हुए कहा कि वो पिछले दस सालों से कह रहे नक्सलवाद खत्म होगा, फिर नक्सलवाद खत्म कब होगा? ये फेक एनकाउंटर करते हैं, जहां गलत होगा वहां कांग्रेस खड़ी होगी। कांग्रेस संचार प्रमुख सुशील आनंद शुक्ला ने नक्सल ऑपरेशन को लेकर कहा कि सरकार दिग्भ्रमित है। वो तय नहीं कर पा रहे कि इनकी नक्सल नीति क्या है। (Bhupesh Baghel on Naxalism)

Related Articles

Back to top button