Early Retirement: सरकार ने इन 9 कर्मचारियों को समय से पहले किया रिटायर, जानिए क्या है वजह

Whatsaap Strip

Early Retirement: जम्मू-कश्मीर में सरकार ने 9 कर्मचारियों को समय से पहले ही रिटायरमेंट दे दिया है। दरअसल, जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने ‘जनहित’ का हवाला देते हुए 5 अधिकारियों समेत 9 सरकारी कर्मचारियों की समय से पहले सेवानिवृत्ति का आदेश दिया है। बर्खास्त किए गए सभी कर्मचारी आवास और शहरी विकास विभाग के हैं, जिन पर भ्रष्टाचार के आरोप लगे हैं और जांच चल रही है। कर्मचारियों को जम्मू और कश्मीर सिविल सेवा के तहत बर्खास्त कर दिया गया है। जो प्रशासन को 22 साल की सेवा पूरी करने या 48 साल की आयु प्राप्त करने के बाद किसी भी समय सरकारी कर्मचारियों को सेवानिवृत्त करने की अनुमति देता है।

यह भी पढ़ें:- Doctors Notice: जिला अस्पताल के सभी 79 डॉक्टरों को नोटिस जारी, अनुपस्थित रहने पर कार्रवाई

सिविल सेवा अनुच्छेद के मुताबिक अनिवार्य रूप से सरकारी सेवाओं से काम नहीं करने वाले कर्मचारियों को हटाने के लिए लागू किया जाता है जिसके तहत कर्मचारियों को तीन महीने का नोटिस या नोटिस के बदले तीन महीने का वेतन और भत्ता दिए जाने के बाद सेवानिवृत्त किया जा सकता है। हालांकि बर्खास्त कर्मचारियों को सभी पेंशन लाभ बरकरार रहेंगे। आवास एवं शहरी विकास विभाग के अन्य तीन कर्मचारी भ्रष्टाचार के आरोप में हटाए गए गौहर आल तुगू, सचिव, शहरी स्थानीय निकाय निदेशालय, कश्मीर, शगुफ्ता फाजिल, सचिव, शहरी स्थानीय निकाय निदेशालय, कश्मीर और ठाकुर दास इलेक्ट्रीशियन, नगर समिति रियासी। (Early Retirement)

कर्मचारियों को समय से पहले रिटायरमेंट

आवास और शहरी विकास विभाग के जिन नौ कर्मचारियों को समय से पहले सेवानिवृत्ति का सामना करना पड़ा है। उनकी पहचान श्रीनगर नगर निगम में वरिष्ठ भवन अधिकारी मेहराज-उद-दीन बूजा, नगर परिषद अनंतनाग के गुलाम मोहि-उद-दीन मलिक, सहायक स्वच्छता अधिकारी शब्बीर अहमद वानी के रूप में की गई है। नगर निगम के शोपियां, जाकिर ऑल, स्वच्छता पर्यवेक्षक, नगर निगम डोडा, अब्दुल लतीफ, प्रधान सहायक, नगर निगम बनिहाल और सुकेश कुमार, वरिष्ठ सहायक, नगर निगम डोडा। विभागीय समितियों द्वारा अधिकारियों के खिलाफ आरोपों की पुष्टि की गई। वहीं नियमित समीक्षा समिति द्वारा सही ठहराया गया, जिसमें अभिलेखों के मिथ्याकरण और वित्तीय अनियमितताओं, अवैध निर्माणों की अनुमति देने और उनके कार्यकाल के दौरान विभिन्न शहरी और स्थानीय निकाय में अवैध नियुक्तियों की अनुमति देना शामिल है, जिसके बाद सभी 9 लोगों को बर्खास्त कर दिया गया। (Early Retirement)

Related Articles