अफगानिस्तान : फायरिंग के बाद काबुल एयरपोर्ट में मची भगदड़, अमेरिका ने टेक ओवर किया एयर ट्रैफिक कंट्रोल

Whatsaap Strip

न्यूज़ डेस्क।

अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे के बीच काबुल एयरपोर्ट पर हजारों लोगों की भीड़ बनी हुई है। अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे के बाद काबुल में हालात लगातार बिगड़ते जा रहे हैं। अफगानिस्तान से निकलने का सिर्फ एक रास्ता काबुल एयरपोर्ट ही बचा है, लेकिन यहां भी सोमवार को फायरिंग के बाद स्थिति और बिगड़ गई। हालांकि इस फायरिंग के बाद अमरीका ने काबुल के एयर ट्रैफिक कंट्रोल के टेक ओवर करने की घोषणा कर दी।

जम्मू-कश्मीर में पकड़े गए जैश के 4 आतंकी, अयोध्या सहित इन जगहों पर थी हमले की तैयारी

हालांकि, अभी तक गोलीबारी में किसी के जान जाने की जानकारी नहीं है। लेकिन, एयरपोर्ट पर हर तरफ भगदड़ के वीडियो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं। दूसरी ओर, अफगानिस्तान में बिगड़ते हालात को देखते हुए आज संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बैठक बुलाई गई है, जिसकी अध्यक्षता भारत करेगा। ये बैठक एस्टोनिया और नॉर्वे के अनुरोध पर बुलाई गई है।

कैरेबियाई देश हैती में आया भयानक भूकंप, 300 की मौत 1800 से ज्यादा घायल

फायरिंग से मची भगदड़

तालिबान के कब्जे के बाद लोग जल्दी से जल्दी अफगानिस्तान छोड़ना चाहते हैं। एयरपोर्ट के जरिए ही वे देश छोड़ सकते हैं। यही वजह है कि बड़ी संख्या में लोग काबुल एयरपोर्ट पहुंच रहे हैं। इस बीच फायरिंग के चलते हालात काफी बिगड़ गए। फायरिंग के बाद लोग बदहवास इधर उधर भागने लगे।

लग्जरी कार और आलू से भरे ट्रक में की जा रही थी तस्करी, 2 करोड़ का गांजा बरामद

राष्ट्रपति अशरफ गनी ने कही ये बात

इधर राष्ट्रपति अशरफ गनी ने सोशल मीडिया पर अपनी प्रतिक्रिया जाहिर की है। अशरफ गनी ने सोशल मीडिया पर एक बयान में कहा- आज मेरे सामने एक कठिन चुनाव आया कि मुझे हथियारों से लैस तालिबान का सामना करना चाहिए, जो महल में घुसना चाहता था या मुझे अपने प्यारे देश अफगानिस्तान को छोड़ना था। मैंने पिछले बीस वर्षों में अफगानिस्तान की रक्षा के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया।

उन्होंने कहा कि खून की नदियां बहने से बचाने के लिए मैंने सोचा कि देश से बाहर जाना ही ठीक है। तालिबान ने तलवार और बंदूकों के दम पर जीत हासिल की है और अब वे देशवासियों के सम्मान, धन और आत्मसम्मान की रक्षा के लिए जिम्मेदार होंगे। इतिहास ने ऐसी शक्तियों को कभी नहीं अपनाया है।

भारत रत्न अटल बिहारी बाजपेयी की पुण्यतिथि आज, पीएम मोदी ने अटल स्मृति स्थल पहुंचकर दी श्रद्धांजलि

गनी ने आगे बयान में कहा कि तालिबान के लिए आवश्यक है कि वह अफगानिस्तान के सभी लोगों, राष्ट्रों, विभिन्न क्षेत्रों, बहनों और महिलाओं को वैधता और लोगों का दिल जीतने का आश्वासन दे। और वह जनता के साथ मिलकर एक स्पष्ट योजना बनाए। मैं हमेशा अपने देश की सेवा करता रहूंगा।

Related Articles