Trending

राशिफल गुरुवार 7 अक्टूबर 2021 : क्या कहती हैं आपकी राशि, कैसा रहेगा आपका नवरात्री का पहला दिन, जानें अपना राशिफल

Whatsaap Strip

आज का राशिफल एवं सुखी जीवन के उपाय : 7 अक्टूबर 2021, दिन-गुरूवार। तिथि-प्रतिपदा। तिथि। नक्षत्र –चित्रा चन्द्र राशी –कन्या,10:22 से तुला राशी। व्रत – नवदुर्गा व्रत, आज प्रथम अध्याय का पाठ, घट स्थापन के पश्चात्। वर्षा योग 3 दिन नहीं। मूल – नहीं। वैधृति – 01:43 तक अशुभ योग। बुध तुला में अक्टूबर तक।

यह भी पढ़ें : छत्तीसगढ़ की नवदुर्गा : बेसहारा की मां बन निभाया ममता का रिश्ता, कई भटकी महिलाओं को घर की राह भी दिखाई

आज का राशिफल ( 7 अक्टूबर 2021) 

मेष राशि   – (Aries)चू,चे,चो, ला, ली, लू, ले, लो, अ. 

सकारात्मक परिवर्तन होंगे । यह समय सुख व कार्यों में सफलता का द्योतक है ।  आर्थिक दृष्टि से भी यह समय आपके लिए शुभ है । अटका हुआ पैसा पुन: प्राप्त हो सकता है । यदि आप कोई वाहन खरीदने की सोच रहे हैं तो यही उचित समय है । आपको शत्रुओं पर विजय प्राप्त करने में भी सहायक होगी । प्रेम या  नए मित्र, मित्र बनाने हेतु यह समय अनुकूल है । दाम्पत्य जीवन में सुख समन्वय रहेगा | आपको आमोद-प्रमोद के अवसर भी मिलेंगे । संतान आपके जीवन के सुख में और अधिक वृद्धि करेगी । स्वास्थ्य अच्छा रहेगा । मन की शान्ति होगी । आप स्वयं अपने आप में व परिवार के साथ शान्ति सुख एवं प्रसन्न्ता अनुभव करेंगे । दिन कुल मिलाकर सुख से परिपूर्ण कहा जा सकता है ।

वृष राशि  – (Taurus) , ,, , वा,वी, वू,वे, वो.

प्राथमिकता के आधार पर कार्य करिए क्योंकि सफलता की संभावना प्रबल हैं । यह समय आपके लिए आपके हिस्से की प्रतिष्ठा व पहचान पाने का हो सकता है । आप शत्रुओं पर विजय पाएँगे |नए मित्र भी बनाएँगे| मित्रों से सहयोग मिलेगा | प्रेम संबंध सुख पूर्ण रहेंगे ।  स्वास्थ्य अच्छा रहेगा |आप नीरोग काया का आनन्द उठाएँगे । कुल मिलाकर इस अवधि में आप सफल एवं प्रसन्न रहेंगे । विजयश्री आपके साथ होगी |मनोबल  उत्तम रहेगा | राजनीति एवं जनसम्पर्क से लाभ सफलता मिलेगी |

मिथुन राशि   – (Gemini)का, की, कू,,,,के, को, ह.

कुछ मिले जुले परिणाम का दिन है । व्यापार मे लाभप्रद लेन-देन सम्पन्न करने में कुछ कठिनाइयाँ आ सकती हैं । विदेश जाने की योजना बना रहे हैं तो यात्रा हेतु हरी झंडी मिलने से पहले आपको कुछ बाधाएं पार करनी होंगी ।  अपने कार्य इच्छानुसार पूरे न कर पाने के कारण आप मानसिक रुप से अशांत खिन्न रहेंगे । वित्तीय दृष्टि से भी अपके लिए ये कठिन समय है । आपको हानि हो सकती है अत: धन व्यय करने पर नियंत्रण रखें ।  स्वास्थ्य का अधिक ध्यान देने की आवश्यकता है । निराशा जीवन को अकर्मण्य बना सकती है ।  विशेष सावधान रहें |व कुछ ऐसा न करें जिससे आपकी सामाजिक प्रतिष्ठा अथवा कार्यालय में सम्मान कम हो ।

कर्क राशि  -( Cancer)ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू,डे,डो.

यह स्वास्थ्य से सम्बन्धित कुछ नकारात्मक परिणामों का सूचक है । स्वयं का व परिवार के स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखना व सावधानी बरतना आवश्यक है । परिवार के किसी सदस्य अथवा सम्बन्धी का स्वास्थ्य चिन्ता का कारण बन सकता है ।  मानसिक रुप से आप अशांत व आस-पास के व्यक्तियों के प्रति सशंकित रह सकते हैं । आप विषाद, व्यर्थ का भय व मानसिक संताप को दूर रखने का भरसक प्रयास करें । अपने आत्मविश्वास पर उस समय विशेष रुप से भरोसा रखें । अपने मानसिक संतुलन को स्थिरता प्रदान करके बनाए रखें ।  आर्थिक दृष्टि से यह कठिन समय है|खर्चे बढ़ सकते हैं | यह एक ऐसा समय है जब आपको अपने आत्मीयजनों से मधुर सम्बन्ध बनाए रखने में सतर्कता बरतनी है क्योंकि उनके द्वारा परस्पर शत्रुता पनप सकती है । अनियंत्रित क्रोध पर अंकुश रखें ।

सिंह राशि  –( Leo) मा, मी,मू,मे,मो,टा,टी, टू, टे.

चन्द्रमा गति लक्ष्यों की प्राप्ति व प्रयासों में सफलता दर्शाती है । आप ख्याति का वृद्धि का समय हैं ।  यह समय धन की दृष्टि से भी सौभाग्यपूर्ण है । बकाया राशि की प्राप्ति, धन की प्राप्ति होसक्ति है ,प्रयास करे | कार्य के फलस्वरुप आर्थिक लाभ की आप आशा कर सकते हैं ।  घर के लिए भी यह समय सुख से परिपूर्ण है । आपको रुचि पूर्ण  उत्तम भोजन, वस्त्र सुख योग है । आपके सामने आने वाली हर परिस्थिति निराकृत होगी |आज  सम्पन्न किया गया हर कार्य आपको प्रसन्नता देगा । मन में पूर्ण संतोष का साम्राज्य रहेगा । मित्र एवं परचितों  के साथ अच्छा समय व्यतीत होगा ।  विजय पथ के पथिक होंगे आप |

कन्या राशि(Virgo) टो,,पी, पू,,,,पे, पो.

विशेष रुप से धन की हानि के योग  है । अपने व्यय पर विशेष ध्यान देने रखें । आप लोगों से व्यवहार के प्रति विशेष सतर्क रहें । इन दिनों आप कोई परामर्श,बीच वचाव या विवाद में भी न पड़ें | व्यर्थ में झगड़े की संभावना है । अपना सम्मान व प्रतिष्ठा बचाए रखें | असावधानी अहम को  ठेस पहुँचा सकती है ।  कार्यालय में बाधाएं आ सकती हैं | आप अविचलित रहें क्योंकि ये शीघ्र ही निकल जाएंगी । विश्वास रखें, परिश्रम का फल अवश्य मिलता है । शारीरिक रुप से आप स्वास्थ्य में गिरावट महसूस करेंगे, । मानसिक रुप से असंतोष अनुभव करेंगे । आपको भोजन भी इतना रुचिकर नहीं लगेगा । दिन  में एक असंतोष सा रहेगा ।

यह भी पढ़ें : 6 साल की बच्ची ने 9 मिनट में दिखाया अनोखा टैलेंट, गिनीज बुक ऑफ रिकॉर्ड में नाम दर्ज

तुला राशि  -( Libra ) रा, री, रू,रे, रो, ता,ती, तू, ते.

मन पसन्द इच्छित भोजन का आनन्द मिलने का योग है । आपको सुस्वादु मनचाहा भोजन, सुविधापूर्वक उपलब्ध होगा । आपको शारीरिक सुख-साधन, उत्तम वस्त्र व सुगंध तथा अन्य इच्छित सांसारिक वस्तुएं मिलेंगी। इस समय सर्वोत्तम मित्र व परिचित मिलेंगे । आपके पारिवारिक जीवन में भी आम दिनों की तुलना में अधिक आनन्द होगा । प्रेम या दाम्पत्य जीवन में आप अपने साथी के प्रेम में वृद्धि की आशा कर सकते हैं ।  सौभाग्य, सुख व उच्चतम सम्मान इस अवधि की विशेषता है ।  आपके व आपके परिवार के लिए रोगों से मुक्त रहने सुयोग  है । जीवन में सुख शान्ति का मनोभाव आपको संतोष प्रदान करेगा ।  भावनाओं के प्रति आवश्यकता से अधिक संवेदनशील न बन जाएं । आर्थिक रुप से भी यह एक अच्छा समय है । पुराने दिए ऋणों, आर्थिक लक्ष्य प्राप्ति होगी |कार्य में उन्नति भी हो सकती है ।

वृश्चिक राशि  – (Scorpio) तो, ना, नी,नू,ने, नो, या, यी,यू.

आर्थिक दृष्टि से यह समय कठिनाइयों से परिपूर्ण है । खर्चे बढ़ेंगे । अपनी धन सम्पदा का ध्यान रखें | अपव्यय से बचें । अपने द्वारा किए जा रहे कार्यों के प्रति विशेष सचेत रहें| संभव है आपको मनवांछित फल न मिले । स्वास्थ्य की ओर ध्यान देने की आवश्यकता है । मानसिक रुप से आप व्यथा व बैचेनी अनुभव कर सकते हैं । अकर्मण्यता अथवा ईर्ष्या की भावना से भी त्रस्त हो सकते हैं । अपने निर्णय लेने में तथा दूसरों से व्यवहार के प्रति विशेष सतर्क रहें तथा आवेश में न आएँ । योजनाओं को क्रियान्वित करने से पूर्व सोच लें  ।  घर पर भी सावधान रहें, सगे-सम्बन्धियों से व्यर्थ की शत्रुता संभव है ।

धनु राशि –( Sagittarius) ये, यो, ,भी, भू, ,,,भे.

यह समय आपको अधिक धन उपार्जन व सम्पत्ति अर्जित करने में सहायक होगा । आपको अटकी हुई धनराशि भी प्राप्त हो सकती है ।  व्यक्तिगत रुप से यह समय आपको प्रसन्नता, सुख व विपरीत लिंग वाले व्यक्तियों के साथ आनन्ददायक है । परिवार के सदस्यों का मेलमिलाप होगा |  पुराने मित्रों के साथ पुनर्मिलन के भी सुअवसर हैं । विवाहित व्यक्तियों के दाम्पत्य सुख की पूर्ण संभावना है । इस समय आपको सुस्वादु भोजन व घर में समस्त सांसारिक सुख मिलने की संभावना है ।  स्वास्थ्य उत्तम रहेगा व इस पूरे काल में आप मानसिक रुप से प्रसन्न व शान्तचित्त रहेंगे । व्यापार के लिए लाभदायक विशेष  रहेगा | राजनीतिक क्षेत्र से जुड़े वर्ग के लिए उत्तम दिन है |

मकर राशि –( Capricorn)  भो,जा, जी, खी,खू,खे, खो, ,गी.

यह माह का अच्छा समय है । यह समय इच्छापूर्त्ति, लक्ष्यप्राप्ति का है |तथा सांसारिक व भौतिक सुख प्राप्त करने का है । यदि आप कुछ नया करने की योजना बना रहे हैं तो यही उपयुक्त समय है क्योंकि इसमें सफलता निश्चित है । इस काल के अनुकूल होने के कारण आप व आपका परिवार सामान्य रुप से सुखी रहेंगे ।  यह समय आपके कार्यस्थल के लिए भी शुभ है । आप सम्मान, पदोन्नति एवम् प्रशंसा की आशा कर सकते हैं । इस समय आप सत्ता में अधिकारी के पद पर आसीन हो सकते हैं तथा निर्धारित लक्ष्य प्राप्त कर सकते हैं । इस विशेष समय में आपकी सामाजिक प्रतिष्ठा भी बढ़ेगी ।  स्वास्थ्य इस अवधि में सामान्यत: अच्छा रहेगा । इस अवधि में आपके अति उत्तम, सुस्वादु भोजन का आनन्द लेने की संभावना है ।

कुंभ राशि  – (Aquarius)गू, गे,गो, सा, सी, सू,से, सो, द.  

आपको अपने व्यापार अथवा कार्यालय में साधारण दिनों से अधिक परिश्रम करना पड़ सकता है । स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान दें । अनिद्रा की बीमारी भी हो सकती है ।  मानसिक रुप से आप थकान महसूस कर सकते हैं व अकर्मण्यता या आलस्य भी आप पर हावी हो सकता है ।  आप किसी धार्मिक अनुष्ठान अथवा दान जैसा पुण्य कार्य सफलतापूर्वक करेंगे । आपको समाज में प्रसिद्धि भी मिलने की संभावना है ।  घर व धन सम्बन्धी कठिनाइयाँ झेलनी पड़ सकती है । धन-व्यय के समय विशेष सचेत रहें । शत्रुओं पर विशेष नजर रखें क्योंकि उन्हीं के कारण हानि होने की संभावना है ।  संतान से विवाद अथवा झगड़ा न करें । व्यर्थ के टकराव में न पड़कर समाज में अपनी प्रतिष्ठा व सम्मान बचाए रखें । मानसिक रुप से आप चिन्ता व अत्यधिक कार्यभार के कारण पीडि़त हो सकते हैं ।

मीन राशि  -( Pisces) दी, दू,,,,दे, दो, चा,ची

असुविधा,असहयोग,समन्वयहीन,अपेक्षा के विपरीत स्थिति का  समय है | किसी शुभ समाचार की आशा मत कीजिए । सूचना भी सत्यता से परे हो सकती हैं |यह रोजमर्रा के जीवन में परेशानियों व बाधाओं का दिन है । आर्थिक दृष्टि से भी यह काल लाभ पूर्ण नहीं है । आपको धन वसूली में कठिनाई आ सकती है। अपने वरिष्ठ व उच्चाधिकारी से कार्यालय में किसी भी प्रकार की असहमति अथवा विवाद से बचें ।  स्वास्थ्य के प्रति सतर्क रहें क्योंकि पाचन तंत्र व श्वसन तंत्र में समस्या हो सकती है । व्यर्थ की चिन्ता न करे।

यह भी पढ़ें : दुःखद समाचार : रामानंद सागर की रामायण के ‘रावण’ अरविंद त्रिवेदी का निधन, लंबे समय से थे बीमार

तिथि के अनिष्ट प्रभाव हटाने के  उपाय : 

आवला एवं इसके तेल.शेम्पू  व्यंजन उत्पाद का प्रयोग नहीं करे। कूष्मांड (कुम्हड़ा पेठा) न खायें क्योंकि यह धन की हानी  करने वाला है।-पूर्णिमा को रात्रि में खीर खुले आकाश में रखे एवं प्रातः ग्रहण करे।

कार्य के पूर्व–   अग्निदेव की पूजा करके घृत का हवन करे ।

मन्त्र-ॐअग्निर्देवाय नम:|| ॐ महाज्वालाय विद्महे अग्निदेवाय धीमहि। तन्नो अग्नि: प्रचोदयात् ।।

मेष ,वृश्चिक राशी वाले बाधा नाश के लिए उपाय अवश्य करे |

सफलता के लिए नक्षत्र कृत अरिष्ट नाशक मंत्र

भगवान त्वष्टा का स्मरण करे। शत्रुरहित राज्य प्रदान करते हैं।

ॐ त्वष्टाये नम:।  दूध दान करना चाहिए। दिन के अशुभ प्रभाव हटाये। 

गुरूवार दिन के उपाय –

  1. सौभाग्य सफलता वृद्धिके लिए ग्रह गुरु के दोष शांति के लिए-स्नान जल मे मिला नदी या तीर्थ जल,-चमेली पुष्प ,सफेद के अभाव मे पीली सरसों, गूलर, मुलेठी, मिला कर स्नान करे।

2. बाधा मुक्ति के लिए दान-पीला अनाज ,चना,शकरपीले पुष्प .हल्दी,केसर। पीला वस्त्र पीला फल पपीता केला आदि दान करे|

3. दान किसको दे -गुरु,ज्ञानी पुरुष,ब्राह्मण या ज्ञान,शिक्षा कर्म करने वाले को या शिक्षण संस्था,शिक्षक,विष्णु,कृष्ण,राम मंदिर मेदानकरना चाहिए।

ओम अंगिरसाय विद्महे दिव्यदेवताय धीमहि तन्नो जीवः प्रचोदयात। आपो ज्योति रस अमृतम। परो रजसे साव दोम। ॐ ह्रीं णमो आयरियाणं। 

जैन धर्म मंत्र : 

ॐ ह्रीं गुरु ग्रहारिष्ट निवारकश्री महावीर जिनेन्द्राय नम सर्वशांतिं कुरु कुरु स्वाहा।मम (.अपना नाम ) दुष्टग्रहरोग कष्टनिवारणं सर्वशांतिं कुरू कुरू हूँ फट् स्वाहा।

देवमन्त्री विशालाक्ष: सदा लोकहिते रत:। अनेक शिष्य सम्पूर्ण: पीडां हरतु मे गुरु:।। (ब्रह्माण्ड पुराण)

सर्वदा लोक कल्याण में निरत रहने वाले देवताओं के मंत्री विशाल नेत्रों वाले तथा अनेक शिष्यों से युक्त बृहस्पति मेरी पीड़ा को दूर करें। ब्रह्माण्डपुराण

(राशिफल गुरुवार 7 अक्टूबर 2021) 

Related Articles