सरकारी बॉन्ड में निवेश करना हुआ आसान, RBI ने लॉन्च किया मोबाइल ऐप, जाने क्या है इसकी खासियत

Retail Direct mobile app : भारतीय रिजर्व बैंक ने मंगलवार को खुदरा निवेशकों समेत अन्य के लिए चीजों को सुगम बनाने को कई कदम उठाये। इसके तहत एक तरफ जहां गवर्नमेंट सिक्योरिटी (बॉन्ड) मार्केट बाजार में खुदरा निवेशकों की भागदारी के लिए मोबाइल ऐप लॉन्च किया हे। वहीं दूसरी तरफ सरल तरीके से ऑनलाइन आवेदन को लेकर ‘प्रवाह’ पोर्टल शुरू किया गया।

मोबाइल ऐप के जरिये खुदरा निवेशक अब अपने स्मार्टफोन पर मोबाइल ऐप का उपयोग करके सरकारी प्रतिभूतियों की खरीद-बिक्री कर सकते हैं। इसके अलावा, किसी भी व्यक्ति या इकाई के लिए विभिन्न नियामकीय मंजूरियों के लिए सरल तरीके से ऑनलाइन आवेदन करने को लेकर प्रवाह पोर्टल शुरू किया गया है।

यह भी पढ़े :- युवक बना हैवान, सोते हुए परिवार के 8 लोगों को कुल्हाड़ी से काट डाला, पढ़े पूरी खबर

केंद्रीय बैंक ने बयान में कहा कि यह पोर्टल रिजर्व बैंक की तरफ से नियामकीय मंजूरी देने से संबंधित विभिन्न प्रक्रियाओं को सुगम बनाएगा। इसके अलावा आरबीआई ने ‘फिनटेक रिपॉजिटरी’ पहल की है। गवर्नर शक्तिकांत दास द्वारा शुरू की गई इस तीसरी पहल का मकसद नियामकीय दृष्टिकोण से क्षेत्र की बेहतर समझ के लिए भारतीय वित्तीय प्रौद्योगिकी (फिनटेक) कंपनियों के आंकड़ों का भंडारण करना और उचित नीति दृष्टिकोण तैयार करने में सुविधा प्रदान करना है।

‘प्रवाह’ (नियामकीय आवेदनए, सत्यापन और मंजूरी के लिए मंच) पोर्टल सुरक्षित और केंद्रीकृत वेब-आधारित मंच है। यह किसी भी व्यक्ति या इकाई के लिए रिजर्व बैंक से जुड़े मामलों में मंजूरी, लाइसेंस या नियामकीय अनुमोदन प्राप्त करने का मंच है।

प्रवाह पोर्टल
आरबीआई का प्रवाह पोर्टल लॉन्च होने के बाद रिटेल इंवेस्टर अपने मोबाइल फोन के जरिए सिक्योरिटीज की खरीद – बिक्री आसानी से कर सकेंगे. बता दें कि आरबीआई की ओर से प्रवाह पोर्टल की शुरुआत साल 2021 में की गई थी. द्वितीयक बाजार में प्रतिभूतियों को खरीदने और बेचने की सुविधा देता है. बयान के मुताबिक, फिनटेक रिपॉजिटरी का टार्गेट नियामकीय दृष्टिकोण और उपयुक्त नीतिगत रुख बनाने के उद्देश्य से वित्तीय प्रौद्योगिकी इकाइयों, उनकी गतिविधियों, प्रौद्योगिकी इस्तेमाल आदि के बारे में जरूरी जानकारी प्राप्त करना है.

भारतीय रिजर्व बैंक के रिटेल डायरेक्ट मोबाइल ऐप (Retail Direct mobile app) के जरिए निवेशक किसी नियामक की मंजूरी के लिए ऑनलाइन आवेदन घर बैठे आसानी से कर सकेत हैं. इसके अलावा प्रतिभूतियों की स्थिति पर नजर रखने और समय पर निर्णय लेने की सुविधा है. यह मोबाइल ऐप्लीकेशन कई विनियामक में 60 अलग-अलग आवेदन फॉर्म को कवर करता है. बता दें कि आरबीआई का यह मोबाइल एप्लीकेशन (Retail Direct mobile app) एंड्रॉयड और आईओएस दोनों पर उपलब्ध है.

Related Articles

Back to top button