रूस और ऑस्ट्रिया के दौरे के बाद भारत लौटे PM मोदी, वियना में कहा- हिंदुस्तान ने ‘युद्ध’ नहीं ‘बुद्ध’ दिए

PM Modi Returned India: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रूस और ऑस्ट्रिया की यात्रा संपन्न करने के बाद वापस भारत लौट आए हैं। इससे पहले उन्होंने ऑस्ट्रिया के  वियना में आयोजित सामुदायिक कार्यक्रम में शामिल हुए। साथ ही भारतीय समुदाय को संबोधित किया।  इस दौरान उन्होंने कहा कि ऑस्ट्रिया का ये मेरा पहला दौरा है, जो उत्साह, उमंग मैं यहां देख रहा हूं वो अद्भूत है। 41 साल बाद भारत के किसी पीएम का यहां आना हुआ है। ये इंतजार एक ऐतिहासिक अवसर पर खत्म हुआ है। भारत और ऑस्ट्रिया अपनी दोस्ती के 75 साल मना रहा है।

यह भी पढ़ें:- जीका वायरस का बढ़ा खतरा, ICMR ने जारी की नई गाइडलाइन, जाने किनको है अधिक खतरा

PM मोदी ने कहा कि भौगोलिक दृष्टि से भारत और ऑस्ट्रिया दो अलग-अलग छोर पर हैं, लेकिन हम दोनों के बीच कई समानताएं हैं। लोकतंत्र हम दोनों देशों को जोड़ता है। स्वतंत्रता, समानता, बहुलवाद और कानून शासन का आदर हमारी साझा मूल्य हैं। हम दोनों समाज बहु संवर्धित और बहुभाषी हैं। ऑस्ट्रिया में कुछ महीनों के बाद चुनाव होने वाले हैं। जबकि भारत में हमने अभी-अभी लोकतंत्र का पर्व आन बान शान के साथ मनाया है। भारत में दुनिया का सबसे बड़ा चुनाव संपन्न हुआ है। उस चुनाव में 650 मिलियन से ज्यादा लोगों ने वोट डाले हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि 60 साल बाद एक सरकार को लगातार तीसरी बार सेवा करने का अवसर भारत में मिला है। हजारों सालों से हम दुनिया के साथ ज्ञान और विशेषज्ञता साझा करते रहे हैं। हमने युद्ध नहीं दिए। हम सीना तानकर दुनिया को कह सकते हैं कि हिंदुस्तान ने ‘युद्ध’ नहीं ‘बुद्ध’ दिए हैं। जब मैं बुद्ध की बात करता हूं तो इसका मतलब है कि भारत ने हमेशा शांति और समृद्धि ही दी है। इसीलिए 21वीं सदी की दुनिया में भी भारत अपनी इस भूमिका को सशक्त करने वाला है। (PM Modi Returned India)

PM मोदी ने कहा कि मेरा हमेशा से मत रहा है कि दो देशों के बीच के रिश्ते सिर्फ सरकारों से नहीं बनते, रिश्तों को मजबूती देने में जन-भागीदारी बहुत जरूरी है। इसलिए मैं इन रिश्तों के लिए आप सभी के रोल को अहम मानता हूं। भारत ने हमेशा शांति और समृद्धि दी है, इसलिए भारत 21वीं सदी में अपनी भूमिका को और मजबूत करने जा रहा है। आज भारत 8% की दर से बढ़ रहा है। आज हम 5वें स्थान पर हैं और जल्द ही हम शीर्ष 3 में होंगे। मैंने अपने देश के लोगों से वादा किया था कि मैं भारत को दुनिया की शीर्ष तीन अर्थव्यवस्थाओं में से एक बनाऊंगा। हम सिर्फ शीर्ष स्थान पर पहुंचने के लिए काम नहीं कर रहे हैं, हमारा मिशन 2047 है। (PM Modi Returned India)

उन्होंने कहा कि आज भारत कम कागज, कम नकदी लेकिन निर्बाध अर्थव्यवस्था की ओर बढ़ रहा है। आज भारत, सर्वश्रेष्ठ, सबसे उज्ज्वल, सबसे बड़े और उच्चतम मील के पत्थरों के लिए काम कर रहा है। इस दौरान उन्होंने ‘मोदी, मोदी’ के नारे लगाए। भारतीय समुदाय की एक सदस्य ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी का भाषण बहुत अच्छा था। हम सौभाग्यशाली हैं कि हमें उन्हें सुनने का मौका मिला। एक अन्य सदस्य ने कहा कि हम सभी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलकर बहुत खुश हैं। (PM Modi Returned India)

Back to top button